मुख्य समाचार:

Jio को क्यों आया ‘गुस्सा’? Airtel, Vodafone Idea पर लगाया ये बड़ा आरोप

Jio ने TRAI को पत्र लिखकर दोनों प्रतिस्पर्धी कंपनियों Airtel और Vodafone idea पर जुर्माना लगाने की मांग की है.

October 17, 2019 5:54 PM
Reliance jio, mukesh ambani, IUC, Bharti Airtel, Vodafone Idea, TRAI, Telecom regulator, indian telecom market, jio 4g servicesJio ने TRAI को पत्र लिखकर दोनों प्रतिस्पर्धी कंपनियों Airtel और Vodafone idea पर जुर्माना लगाने की मांग की है.

4G सर्विस लॉन्च कर देशभर में छा गई रिलायंस जियो (Reliance Jio) अपनी प्रतिस्पर्धी कंपनियों से इस कदर नाराज हुई कि उसने उनके खिलाफ टेलिकॉम रेग्युलेटर का दरवाजा खटखटाया है. रिलायंस जियो ने भारती एयरटेल (Bharti Airtel) और वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea ) के ऊपर लैंडलाइन नंबरों को मोबाइल नंबर बताकर धोखाधड़ी करने का नया आरोप लगाया है. जियो ने भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) को पत्र लिखकर दोनों प्रतिस्पर्धी कंपनियों पर जुर्माना लगाने की मांग की है.

हालांकि, भारती एयरटेल ने पलटवार करते हुए कहा कि एक नेटवर्क से दूसरे नेटवर्क पर जा रहे कॉल को जोड़ने वाले शुल्क (इंटरकनेक्ट यूजेज चार्जेज, IUC) को लेकर परामर्श से पहले जियो ट्राई को बरगलाने की कोशिश कर रही है. वहीं, वोडाफोन आइडिया ने जियो के इस नये आरोप पर फिलहाल प्रतिक्रिया नहीं दी है.

सरकार को चपत लगा रही एयरटेल-वोडा: Jio

जियो ने ट्राई को लिखे पत्र में कहा है कि दोनों प्रतिस्पर्धी कंपनियां ने अपने कॉरपोरेट उपभोक्ताओं को हेल्पलाइन नंबरों के लिये दिए लैंडलाइन नंबरों को मोबाइल नंबर बताकर सरकारी खजाने को चूना लगाया है. इससे उसे भी (जियो को) सैंकड़ो करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. जियो ने कहा कि इसके साथ ही ऐसा करने से दोनों प्रतिस्पर्धी कंपनियों को गलत तरीके से कमाई हुई. कंपनी ने दोनों प्रतिर्स्पिधयों के खिलाफ ट्राई से कार्रवाई करने की मांग की है.

5G पर Reliance Jio- स्पेक्ट्रम की कीमत पर गौर करने की जरूरत

कैसे हो रहा रेवेन्यु का नुकसान?

मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस जियो ने कहा कि इस तरीके से दोनों कंपनियों ने जियो नेटवर्क पर ऐसे नंबर्स की आउटगोइंग कॉल पर प्रति मिनट 0.58 फीसदी का नुकसान हुआ. जियो का कहना है कि इससे न केवल 6 पैसे प्रति मिनट का टर्मिनेशन चार्ज बल्कि 0.52 पैसे प्रति निमट के रेवेन्यू का भी नुकसान हो रहा है. जियो ने संदेह जताया है कि पुराने आपरेटर्स की तरफ से हजारों की संख्या में इस तरह के नंबर बाजार में लगाए गए हैं. जियो ने जांच के लिए इन नंबर्स की ए​क लिस्ट रेग्युलेटर को सौंपी है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Jio को क्यों आया ‘गुस्सा’? Airtel, Vodafone Idea पर लगाया ये बड़ा आरोप

Go to Top