इंटरनेट बैन के बाद भी WhatsApp से भेज सकेंगे मैसेज, मेटा कंपनी ने प्रॉक्सी सर्वर सपोर्ट का किया एलान | The Financial Express

इंटरनेट बैन के बाद भी WhatsApp से भेज सकेंगे मैसेज, मेटा कंपनी ने प्रॉक्सी सर्वर सपोर्ट का किया एलान

WhatsApp’s New Feature : प्रॉक्सी सर्वर यूजर को दूसरे सर्वर के जरिए ट्रैफ़िक से कनेक्ट करने का रास्ता मुहैया कराता है. ऐसे में सरकार द्वार इंटरनेट बैन किए जाने के बाद भी WhatsApp की सेवाएं जारी रहेगी.

WhatsApp working on report status, kept message feature
WhatsApp working on report status, kept message feature

WhatsApp’s New Feature will Help You Stay Connected even if Government Blocks the App : व्हाट्पऐप (WhatsApp) यूजर्स के लिए अच्छी खबर है. अब वे इंटरनेट शटडॉउन या सेंसरशिप के जरिए ऐप की सेवाएं बंद किए जाने के बाद भी व्हाट्पऐप के जरिए मैसेज भेज सकेंगे. दरअसल कंपनी ने यूजर्स के लिए दुनिया भर में प्रॉक्सी सर्वर सपोर्ट का एलान कर दिया है. इस सपोर्ट सिस्टम के आ जाने के बाद सरकार द्वारा किसी खास एरिया में व्हाट्पऐप की सेवाएं बंद किए जाने के बाद भी यूजर को इस ऐप की सेवाएं मिलती रहेंगी. यानी वे व्हाट्सऐप यूजर्स दूसरे व्हाट्सऐप के यूजर को अपनी मैसेज भेज सकेंगे. मेटा कंपनी अपनी एक ब्लॉग में यह जानकारी दी है.

प्राइवेसी से नहीं होगा समझौता

एक ब्लॉग पोस्ट के जरिए मेटा कंपनी ने बताया है कि वह पूरी दुनिया में व्हाट्सऐप यूजर्स के लिए प्रॉक्सी सर्वर सपोर्ट लॉन्च कर रही है. कंपनी के इस पहल से यूजर को इंटरनेट शटडॉउन की स्थिति में इंटरनेट सेवा बंद होने या सेंसरशिपर के जरिए किसी खास ऐप की सेवाएं रोक दिए जाने के बाद भी व्हाट्सऐप की सेवाएं मिलती रहेगी. मेटा कंपनी ने प्रॉक्सी सर्वर के इस्तेमाल से भेज गए मैसेज की प्राइवेसी कायम रहने की बात कही है. प्रॉक्सी सर्वर के माध्यम से कनेक्शन स्थापित करने पर भी व्हाट्सऐप की ओर से यूजर को हाई लेवल की प्राइवेसी और सिक्योरिटी मिलती है. यानी प्रॉक्सी सर्वर सपोर्ट के इस्तेमाल के दौरान भी व्हाट्सऐप यूजर की पर्सनल चैटिंग एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन फीचर के कारण सिक्योर रहेंगे. पोस्ट के जरिए व्हाट्सऐप ने अपने बयान में कहा है यूजर और दूसरे यूजर के बीच हुई चैटिंग को प्रॉक्सी सर्वर, व्हाट्सऐप या मेटा कोई भी नहीं देख पाएगी.

2016 से अबतक 74 देशों में की जा चुकी है इंटरनेट सेवा ठप

सिटिजन को कंट्रोल करने के लिए इन दिनों सरकार कई तरह के तरीकों का इस्तेमाल कर रही है. इसके लिए सरकार कभी इंटरनेट सेवा को बंद (Internet shutdown) करा देती है. या फिर सेंसरशिप के जरिए पब्लिक के बीच प्रसारित की जाने वाली कंटेंट पर पाबंदी लगा देती है. आकड़े बताते हैं कि 2016 के बाद से अबतक दुनिया भर के कुल 74 देशों ने इंटरनेट की सुविधा बंद (Internet shutdown) किए जाने का एलान कर चुकी हैं. इंटरनेट शटडॉउन से मतलब ये है कि संबंधित इलाके में पूरी तरह इंटरनेट कनेक्शन काट दी जाती है. इसी तरह सेंसरशिप के माध्यम से उस क्षेत्र में किसी खास ऐप या इंटरनेट सेवा को ब्लॉक कर दिया जाता है.

इसके इस्तेमाल से बेअसर होगा सेंसरशिप, बैन ऐप की ले सकेंगे सेवाएं

प्रॉक्सी सर्वर के जरिए कनेक्ट होने का मतलब है कि यूजर दुनिया भर के वालंटियर और ऑर्गेनाइजेशन द्वारा स्थापित सर्वरों के माध्यम से व्हाट्सएप से कनेक्ट हो सकते हैं. प्रॉक्सी सर्वर उन उपायो में से एक है जिसे दुनिया भर के लोग सेंसरशिप से बचने के लिए तलाश रहे हैं. प्रॉक्सी सर्वर मूल रूप से यूजर को दूसरे सर्वर के जरिए ट्रैफ़िक से कनेक्ट करने का रास्ता मुहैया कराता है. दरअसल यह सेंसरशिप को बायपास कर देता है.

इरान की घटना के बाद WhatsApp ने ये कहा

इरान में पुलिस कस्टडी में एक महिला की मृत्यु हो जाने के सरकार के खिलाफ शुरू हुए आंदोलन और उस दौरान इरान सरकार द्वारा व्हाट्सऐप और इंस्टाग्राम सर्विस पर पाबंदी लगाए जाने के बाद व्हाट्सऐप की ओर से प्रॉक्सी सर्वर सपोर्ट का एलान किया गया है. इरान में इस बीच सबसे ज्यादा इंटरनेट बंद किए जाने की बात सामने आई. इरान में हुए इस घटनाओं के जवाब में व्हाट्सऐप ने कहा था कि दुनिया को प्राइवेट तौर पर कनेक्ट करने के लिए WhatsApp की सुविधा उपलब्ध कराई गई है. हम लोगों के प्राइवेट मैसेजिंग के अधिकारों के साथ खड़े हैं. व्हाट्सऐप ने बताया कि ये प्लेटफार्म ईरान के नंबरों को ब्लॉक नहीं कर रही हैं. साथ ही ये भी कहा कि व्हाट्सऐप अपने ईरानी दोस्तों को जोड़े रखने के लिए काम कर रही हैं और अपनी सेवा को जारी रखने के लिए अपनी तकनीकी क्षमता के अनुसार कंपनी लगातार प्रयास में जुटी हुई है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

First published on: 06-01-2023 at 15:24 IST

TRENDING NOW

Business News