मुख्य समाचार:

खुद तय करें किस WhatsApp ग्रुप से है जुड़ना, कॉन्टैक्ट्स भी नहीं कर पाएंगे शामिल; यह है तरीका

अगर आप किसी ग्रुप में जुड़ने की रिक्वेस्ट को मना कर देते हैं तो ग्रुप एडमिन अगले 24 घंटे तक आपको रिक्वेस्ट नहीं भेज सकता है.

September 18, 2019 7:30 PM
WhatsApp feature tip to stop your contacts from adding you to whatsapp group chatsग्रुप प्राइवेसी को एक्टिवेट करने के लिए व्हाट्सऐप सेटिंग्स में जाएं.

WhatsApp ग्रुप में बिना पूछे शामिल किया जाना कई बार परेशान करता है. सबसे पहले तो यह आपकी प्राइवेसी के लिहाज से गलत है कि कोई आपसे बिना पूछे आपको ऐसे ग्रुप में शामिल करे, जिससे पहले से न जाने कितने अंजान लोग जुड़े हुए है जिनके पास आपकी बिना मर्जी के आपका नंबर पहुंच जाएगा. दूसरा वॉट्सऐप ग्रुप में शामिल होने का मतलब है ढेरों नोटिफिकेशन्स और बहुत से गुड मॉर्निंग, गुड नाइट विश. यहां तक कि कुछ लोग तो बिना फोटो के गुड मॉर्निंग और त्योहारों की बधाई देना अपनी शान के खिलाफ समझते हैं.

लेकिन अब आप वॉट्सऐप प्राइवेसी फीचर से इस चिंता से निजात पा सकते हैं. इस फीचर के तहत आप खुद चुन सकते हैं कि कौन व्यक्ति आपको ग्रुप में एड कर सकता है और कौन नहीं. यह आपके फोन की कॉन्टैक्ट लिस्ट में मौजूद लोगों पर भी लागू होता है यानी वे भी आपको आपकी बिना मर्जी किसी ग्रुप में एड नहीं कर सकते.

WhatsApp स्टेबल वर्जन यूजर्स के लिए फीचर उपलब्ध

व्हॉट्सऐप ने हाल ही में एंड्रॉयड और आईफोन यूजर्स जो व्हॉट्सऐप का स्टेबल वर्जन इस्तेमाल कर रहे हैं उनके लिए ग्रुप प्राइवेसी फीचर लॉन्च किया है. इस फीचर के तहत बिना आपकी मर्जी के आपको कोई भी किसी ग्रुप में शामिल नहीं कर सकता है. अगर आप किसी ग्रुप में पहले से शामिल हैं और आप उस ग्रुप को छोड़ दें इसके वाबजूद दोबारा उस ग्रुप में जोड़ने के लिए ग्रुप एडमिन को आपकी पर्मिशन चाहिए होगी. अगर आप किसी ग्रुप में जुड़ने की रिक्वेस्ट को मना कर देते हैं तो ग्रुप एडमिन अगले 24 घंटे तक आपको रिक्वेस्ट नहीं भेज सकता है. व्हॉट्सऐप प्राइवेसी को आप आसानी से नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करके एक्टिवेट कर सकते हैं.

WhatsApp प्राइवेसी को एक्टिवेट करने का तरीका

  • ग्रुप प्राइवेसी को एक्टिवेट करने के लिए WhatsApp सेटिंग्स में जाएं.
  • अकाउंट ऑप्शन में प्राइवेसी पर क्लिक करें.
  • रीड रिसिप्ट्स के नीचे ग्रुप्स का विकल्प है.
  • जब आप ग्रुप ऑप्शन खोलेंगे तो वहां तीन विकल्प मिलेंगे – एव्रिवन (हर कोई), माय कॉन्टैक्ट्स, नोबडी (कोई नहीं).
  • एव्रिवन चुनने का मतलब है कि कोई अंजान व्यक्ति, जिसका नंबर आपके फोन में सेव नहीं है, वह भी आपको ग्रुप से जोड़ सकता है. माय कॉन्टैक्ट्स चुनने पर सिर्फ आपके WhatsApp कॉन्टेक्ट्स ही आपसे बिना पूछे आपको किसी ग्रुप में शामिल कर सकते हैं. जब आप नोबडी चुनते हैं तो हर व्यक्ति को आपको ग्रुप में जोड़ने से पहले आपको पूछना पड़ेगा.
  • WhatsApp प्राइवेसी एक्टिवेट करने के लिए नोबडी चुनें.

WhatsApp प्राइवेसी एक्टिवेट करने के बाद जो व्यक्ति आपको ग्रुप में एड करना चाहता है, उसे आपको पर्सनली इन्विटेशन भेजना होगा. अगर आप ग्रुप में शामिल होना चाहते हैं तो Allow पर क्लिक करें. अगर आप उस ग्रुप में शामिल नहीं होना चाहते हैं तो डिक्लाइन विकल्प चुनकर मना कर दें.

अब स्टेबल वर्जन यूजर्स के लिए भी उपलब्ध

व्हॉट्सऐप ने हाल ही में ऐप का स्टेबल वर्जन इस्तेमाल करने वाले एंड्रॉयड और आईफोन यूजर्स के लिए ग्रुप प्राइवेसी फीचर लॉन्च किया है. अगर आप किसी ग्रुप में पहले से शामिल हैं और आप उस ग्रुप को छोड़ दें तो प्राइवेसी फीचर ऑन होने के बाद ग्रुप एडमिन को आपको दोबारा उस ग्रुप में जोड़ने के लिए परमिशन चाहिए होगी. अगर आप किसी ग्रुप में जुड़ने की रिक्वेस्ट को मना कर देते हैं तो ग्रुप एडमिन अगले 24 घंटे तक आपको रिक्वेस्ट नहीं भेज सकता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. टेक्नोलॉजी
  3. खुद तय करें किस WhatsApp ग्रुप से है जुड़ना, कॉन्टैक्ट्स भी नहीं कर पाएंगे शामिल; यह है तरीका

Go to Top