मुख्य समाचार:

वॉरेन बफे ने छोड़ा फ्लिप फोन का साथ, अब iPhone 11 पर आजमा रहे हैं हाथ

अरबपति और निवेशक वॉरेन बफे अपने फ्लिप फोन को छोड़कर आईफोन का इस्तेमाल करने लगे हैं.

Published: February 27, 2020 2:36 PM
warren buffett left his flip phone now using apple latest smartphone iphone 11अरबपति और निवेशक वॉरेन बफे अपने फ्लिप फोन को छोड़कर आईफोन का इस्तेमाल करने लगे हैं. (Image: Reuters)

अरबपति और एप्पल में निवेशक वॉरेन बफे (Warren Buffett) अपने 20 डॉलर के फ्लिप फोन को छोड़कर आईफोन (iPhone) का इस्तेमाल करने लगे हैं. बफे ने CNBC को एक इंटरव्यू में बताया कि उनका फ्लिप फोन स्थायी रूप से जा चुका है. बर्कशायर हैथवे के सीईओ और चेयरमैन ने अपना सालाना शेयरहोल्डर लेटर को जारी करने के दो दिन बाद यह बात कही है. उन्होंने बताया है कि उन्हें कई लोगों ने आईफोन दिए हैं जिनमें टिम कुक भी शामिल है. कभी सैमसंग के SCH-U320 के फैन रह चुके बफे अब एप्पल का लेटेस्ट iPhone 11 इस्तेमाल कर रहे हैं.

बर्कशायर हैथवे का एप्पल में बड़ा निवेश

वॉरेन बफे को काफी समय से फ्लिप फोन का इस्तेमाल करते रहे हैं. हालांकि, एप्पल निवेश के लिहाज से बर्कशायर हैथवे का तीसरा सबसे बड़ा कारोबार रहा है. इंश्योरेंस और रेलरोड के बाद उसी का स्थान है. उन्होंने कहा कि उनका फ्लिप फोन अब स्थायी रूप से जा चुका है. उन्होंने कहा कि आईफोन का इस्तेमाल वह मुख्य तौर पर फोन कॉल के लिए करते हैं. बफे ने कहा कि आप एक 89 साल की बात कर रहे हैं, जो इसका इस्तेमाल मुश्किल से सीख रहा है. उन्होंने कहा कि वह अधिकतर लोगों की तरह फोन की सभी सुविधाओं का इस्तेमाल नहीं करते हैं.

उन्होंने कहा कि वह इसका इस्तेमाल फोन की तरह करते हैं. बफे ने बताया कि कि इससे पहले वह रिसर्च करने और स्टॉक की कीमतों को चेक करने के लिए iPad का इस्तेमाल करते थे. कुक ने 2018 में कहा था कि वह Omaha, Nebraska जाएंगे और बफे को नए फोन का इस्तेमाल करना सिखाएंगे.

Airtel ने लॉन्च किए नए इंटरनेशनल रोमिंग पैक, प्री-बुक कराकर बाद में कर सकते हैं इस्तेमाल; जानें अन्य फीचर्स

एप्पल दुनिया का सबसे बेहतरीन कारोबार: बफे

बफे ने का कि एप्पल उनके मुताबिक दुनिया में सबसे बेहतरीन कारोबार है. बफे के मुताबिक बर्कशायर एप्पल में लगभग 5.5 फीसदी का मालिकाना हक रखता है. बर्कशायर के पास एप्पल के 245 मिलियन शेयर से ज्यादा का स्वामित्व है, जो लगभग 72 बिलियन डॉलर है. यह आंकड़े सरकार के साथ 31 दिसंबर की फाइलिंग के मुताबिक है.

एप्पल के शेयर पिछले एक साल में लगभग 80 फीसदी बढ़े हैं लेकिन सोमवार को इनमें करीब 4 फीसदी की गिरावट आई थी. इसकी वजह कोरोनावायरस के प्रकोप की वजह से चीन में ऑपरेशंस पर असर होना था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. टेक्नोलॉजी
  3. वॉरेन बफे ने छोड़ा फ्लिप फोन का साथ, अब iPhone 11 पर आजमा रहे हैं हाथ

Go to Top