सर्वाधिक पढ़ी गईं

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने Koo पर खोला अकाउंट, जानें क्या है Twitter का यह भारतीय अल्टरनेटिव प्लेटफॉर्म

ट्विटर (Twitter) के भारतीय प्रतिद्वंद्वी प्लेटफॉर्म कू पर अब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी अपना अकाउंट खोल लिया है.

Updated: Mar 03, 2021 6:22 PM
UP CM yogi adityanath joins twitter indian alternative koo app know detail about itट्विटर (Twitter) के भारतीय प्रतिद्वंद्वी प्लेटफॉर्म कू पर अब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी अपना अकाउंट खोल लिया है. (Representational Image)

ट्विटर (Twitter) के भारतीय प्रतिद्वंद्वी प्लेटफॉर्म कू पर अब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी अपना अकाउंट खोल लिया है. उन्होंने इसका एलान अपने ट्विटर हैंडल से ना करते हुए “कू” से ही किया है. उन्होंने कहा कि ये एक स्वदेशी माध्यम है जो डिजिटल इंडिया की सफलता को दिखाता है और आत्मा निर्भर भारत की दिशा में बढ़ाया गया एक कदम है.

इसके साथ आदित्यनाथ ने देशवासियों से भी अनुरोध किया कि अब वे उनसे सीधे कू पर संपर्क कर सकते है और उनको फॉलो भी कर सकते हैं. उन्हें पिछले 24 घंटो में करीब 31,000 यूजर्स ने फॉलो भी किया है.

कई हस्तियों ने खोला अकाउंट

योगी आदित्यनाथ के अलावा Koo को हाल के दिनों में कुछ जाने-माने लोगों ने फॉलो किया है. इनमें केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, पीयूष गोयल और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शामिल हैं. इनके अलावा केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, प्रकाश जावड़ेकर, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, बॉक्सर मेरी कॉम भी पहले कू ऐप से जुड़ चुके हैं. Koo की लोकप्रियता बढ़ने के पीछे कारण है कि ट्विटर वर्तमान में भारत सरकार के साथ टकराव में लगा है. यह किसान आंदोलन से जुड़े अकाउंट्स को ब्लॉक और अनब्लॉक को लेकर है.

केवल मंत्री ही नहीं, विभाग जैसे टेलिकॉम, आईटी, इंडिया पोस्ट, MyGovIndia भी इस प्लेटफॉर्म पर मौजूद हैं. इशा फाउंडेशन के जग्गी वासूदेव, पूर्व क्रिकेटर श्रीनाथ और अनिल कुंबले ने भी इसे ज्वॉइन किया है.

Koo क्या है?

यह ट्विटर की तरह एक माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म है. यह एक वेबसाइट के तौर पर और iOS और गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है. आप यहां सार्वजनिक तौर पर अपने विचारों को पोस्ट कर सकते हैं और दूसरे यूजर्स को फॉलो भी कर सकते हैं. एक फीड में दूसरे यूजर्स की पोस्ट दिखती हैं. यहां कैरेक्टर लिमिट 400 है. व्यक्ति अपने मोबाइल नंबर का इस्तेमाल करके कू के लिए साइन अप कर सकता है. यूजर्स के पास अपने फेसबुक, LinkedIn, यूट्यूब और ट्विटर फीड को भी कू प्रोफाइल से लिंक करने का विकल्प मौजूद रहता है.

व्यक्ति ऑडियो या वीडियो बेस्ड पोस्ट भी कर सकता है. कू ऐप से यूजर्स हैशटैग का इस्तेमाल भी कर सकते हैं. ट्विटर की तरह, यूजर्स @ का इस्तेमाल करके दूसरे व्यक्ति को टैग कर सकते हैं. प्लेटफॉर्म पर पोल पोस्ट, फोटो और वीडियो शेयर करने का विकल्प भी मिलता है.

Samsung Galaxy A32 India Launch: 5000mAh की दमदार बैटरी; Xiaomi Mi 10i, Realme X7 से होगी टक्कर

Koo को किसने बनाया और विकसित किया है?

Koo को Bombinate टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड ने बनाया है, जो बेंगलुरू में आधारित निजी कंपनी है, जिसे 2015 में शुरू किया गया था. डिटेल के मुताबिक, कंपनी अन्य-कंप्यूटर संबंधित काम में शामिल है. उदाहरण के तौर पर, दूसरी कंपनियों की वेबसाइट का रखरखाव और उनके लिए मल्टीमीडिया प्रेजेंटेशन बनाना आदि.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. टेक्नोलॉजी
  3. यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने Koo पर खोला अकाउंट, जानें क्या है Twitter का यह भारतीय अल्टरनेटिव प्लेटफॉर्म

Go to Top