सर्वाधिक पढ़ी गईं

लद्दाख को चीन में दिखाने के लिए Twitter ने मांगी लिखित माफी, 30 नवंबर तक सही करेगी गलती

ट्विटर ने लद्दाख को चीन में दिखाने की गलती करने के लिए लिखित तौर पर संसदीय समिति से माफी मांगी है.

Updated: Nov 18, 2020 7:35 PM
These would continue to be administered by Meity as before. It was under this Act that the government some months back blocked a host of Chinese apps.These would continue to be administered by Meity as before. It was under this Act that the government some months back blocked a host of Chinese apps.

सोशल मीडिया कंपनी ट्विटर (Twitter) ने लद्दाख को चीन में दिखाने की गलती करने के लिए लिखित तौर पर संसदीय समिति से माफी मांगी है. इसके साथ उसने महीने के आखिर तक गलती को सही करने का वादा भी किया है. समिति की चेयरपर्सन मीनाक्षी लेखी ने बुधवार को यह जानकारी दी. ट्विटर का यह बयान एफिडेविट के तौर पर आया है, जिस पर ट्विटर इंक के चीफ प्राइवेसी अफसर Damien Karien ने हस्ताक्षर किए हैं. यह माफी भारत के नक्शे की गलत जियो टैगिंग को लेकर मांगी गई है.

समिति ने राजद्रोह के बराबर बताया था

पिछले महीने डेटा प्रोटेक्शन बिल पर संसद की संयुक्त समिति ने ट्विटर को लद्दाख को चीन का भाग दिखाने के लिए बड़ी फटकार लगाई थी और इसे राजद्रोह के बराबर बताया था. समिति ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से सफाई मांगी थी. लेखी की अध्यक्षता वाली समिति के सामने पेश होते हुए ट्विटर के प्रतिनिधियों ने माफी मांगी थी लेकिन उन्हें सदस्यों द्वारा बताया गया था कि ट्विटर की यह भूल अपराध की श्रेणी में आती है जिसने देश की अखंडता पर सवाल उठाए हैं और ट्विटर इंक द्वारा एक एफिडेविट सबमिट किया जाना चाहिए, उसकी मार्केटिंग भाग ट्विटर इंडिया के द्वारा नहीं.

WhatsApp के डिलीट मैसेज पढ़ने की ट्रिक, किसी को भी नहीं हो पाएगी खबर

30 नवंबर तक सही करने का वादा

लेखी ने कहा कि ट्विटर ने अब लद्दाख को चीन में दिखाने के मामले में एफिडेविट के तौर पर लिखित माफी दे दी है. उन्होंने भारतीय भावनाओं को चोट पहुंचाने के लिए माफी मांगी और 30 नवंबर 2020 तक गलती को सही करने का वादा किया है.

बता दें कि केंद्र सरकार ने पिछले महीने ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी को एक कठोर खत भेजा था जिसमें भारतीय नक्शे को गलत तरीके से पेश करने को लेकर कड़े तौर पर अहसमति जताई गई है. इसके साथ यह जोर दिया गया है कि माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म द्वारा देश की संप्रभुता और एकता को निरादर करने की कोई भी कोशिश पूरी तरह नामंजूर है. कड़े तरीके से लिखे गए इस खत में आईटी सचिव अजय साहनी ने प्लेटफॉर्म को चेतावनी दी है कि ऐसी कोशिशें ट्विटर के लिए न केवल अपमान लाती है, बल्कि उसकी निष्पक्षता और सही होने को लेकर सवाल भी खड़ी करती हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. टेक्नोलॉजी
  3. लद्दाख को चीन में दिखाने के लिए Twitter ने मांगी लिखित माफी, 30 नवंबर तक सही करेगी गलती
Tags:Twitter

Go to Top