मुख्य समाचार:
  1. Remote Sensing: महज आधे सेकंड में पता लग जाएगा कि कितनी जहरीली है आपकी गाड़ी

Remote Sensing: महज आधे सेकंड में पता लग जाएगा कि कितनी जहरीली है आपकी गाड़ी

सभी गाड़ियों का इंश्योरेंस अनिवार्य है और इसका पॉल्युशन अंडर कंट्रोल सर्टिफिकेट भी. इसे भी सुनिश्चित करने की कोशिश की जाएगी.

January 16, 2019 8:07 PM
Remote Sensing, puc, pollution control, delhi ncr puc, delhi ncr remote sensing, supreme court decision on pollution control, supreme court on remote sensing, epca, epca with insurance companiesEPCA 70 हजार गाड़ियों का परीक्षण कर कोर्ट में रिपोर्ट दाखिल करेगी.

जल्द ही एक ऐसी तकनीक सड़कों पर आने वाली है जो आधे सेकंड में ही पता लगा लेगी कि कोई गाड़ी कितना पॉल्युशन फैला रही है. इसके अलावा इस तकनीक की खासियत यह है कि गाड़ियों को रोके बिना ही इसका पता लगाया जा सकेगा. सुप्रीम कोर्ट ने इस तकनीक के परीक्षण के लिए एनवायरमेंट पॉल्युशन कंट्रोल अथॉरिटी (EPCA) को नियुक्त किया है. EPCA दिल्ली एनसीआर में रिमोट सेंसिंग के जरिए 70 हजार गाड़ियों का परीक्षण करेगी.

पिछले साल 10 मई को कोर्ट ने दिया था निर्देश
सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल 10 मई को सड़कों पर गाड़ियों से होने वाले पॉल्यूशन की दूर से ही पहचान के लिए रिमोट सेंसिंग की तकनीक का परीक्षण करने का निर्देश दिया था. EPCA इसका अध्ययन कर सुप्रीम कोर्ट में अपनी रिपोर्ट जमा करेगी.

क्या है रिमोट सेंसिंग
रिमोट सेंसिंस पॉल्युशन नॉर्म्स का उल्लंघन करने वाली गाड़ियों की पहचान का एक फास्टेट तरीका है. इसके तहत एग्जास्ट से निकले पॉल्युटेंट्स की पहचान स्पेक्ट्रोस्कोपी के जरिए की जाती है. इसे सेट अप करने के लिए सड़क के एक किनारे एक लाइट सोर्स और एक डिटेक्टर कुछ ऊंचाई पर लगाया जाता है. यह ऊंचाई इतनी होती है कि वह गाड़ियों से निकले हुए धुएं को डिटेक्ट कर सके. जैसे ही कोई गाड़ी लाइट पाथ को पार करेगी, सेंसर धुएं में नाइट्रिक ऑक्साइड. कार्बन डाईऑक्साइड, हाइड्रोकार्बन्स और कार्बन मोनोऑक्साइड की महज आधे सेकंड में पहचान कर लेगी. हालांकि EPCA का मानना है कि भीड़ भरी सड़कों पर इस तकनीक का प्रयोग करना मुश्किल होगा.

बीमा कंपनियों के साथ मिलकर करेगी काम
EPCA ने सोमवार को कहा कि इस शोध के लिए वह बीमा कंपनियों के साथ मिलकर काम करेगी. बीमा कंपनियों के साथ मिलकर वह सभी गाड़ियों के पॉल्युशन अंडर कंट्रोल (पीयूसी) सर्टिफिकेट की जांच करेगी. सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार इंश्योरेंस के साथ PUC सर्टिफिकेट की लिंकिंग अनिवार्य है.

दिल्ली सरकार को विज्ञापन देने का निर्देश 
EPCA ने कहा कि वह दिल्ली सरकार को विज्ञापन देने के लिए निर्देश जारी करेगी. इस विज्ञापन में यह बताया जाएगा कि गाड़ियों के बीमा के साथ PUC अनिवार्य है. यह सुनिश्चित करने की कोशिश की जा रही है कि सभी गाड़ियों का इंश्योरेंस हो और साथ ही PUC भी. इसे सबसे पहले दिल्ली एनसीआर में लागू किया जाएगा और फिर पूरे देश में इसकी जांच होगी.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop