सर्वाधिक पढ़ी गईं

प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट पर मचे बवाल के बाद Whatsapp ने दी सफाई, यूजर्स को 8 फरवरी तक देनी है सहमति

पॉलिसी अपेडट को लेकर सोशल मैसेजिंग ऐप वाट्सऐप ने आज कहा है कि इससे यूजर द्वारा भेजे गए मैसेजेज की प्राइवेसी नहीं प्रभावित होगी.

January 12, 2021 4:11 PM
Policy update doesn't affect privacy of messages includes change related to messaging a biz WhatsApp SAID IN A BLOGPOSTदेश भर में 40 करोड़ वाट्सऐप यूजर्स हैं.

हालिया पॉलिसी अपेडट को लेकर सोशल मैसेजिंग ऐप वाट्सऐप (Whatsapp) ने मंगलवार को कहा है कि इससे यूजर द्वारा भेजे गए मैसेजेज की प्राइवेसी नहीं प्रभावित होगी. एक ब्लॉगपोस्ट में वाट्सऐप ने कहा कि वह अपने यूजर्स के कांटैक्ट लिस्ट्स और ग्रुप्स के डेटा विज्ञापन के उद्देश्य से फेसबुक (Facebook) को साझा नहीं करता है. इसके अलावा यूजर्स द्वारा भेजे गए संदेश को न तो वाट्सऐप और न ही फेसबुक पढ़ता है और न ही दोनों सोशल साइट्स कंपनी यूजर्स द्वारा की गई कॉलिंग को सुनते हैं.

पिछले हफ्ते वाट्सऐप ने अपने टर्म्स ऑफ सर्विस और प्राइवेसी पॉलिसी में अपडेट किया. इसके तहत वाट्सऐप ने बताया कि वह यूजर डेटा को किस तरह प्रोसेस करता है और फेसबुक के साथ किस तरह साझेदारी करता है. इसके अलावा वाट्सऐप ने अपने नए टर्म्स और पॉलिसी से सहमत होने के लिए यूजर्स को 8 फरवरी 2021 तक का समय दिया है. अगर यूजर्स वाट्सऐप के नए टर्म्स एंड पॉलिसी से सहमत नहीं होते हैं तो वे 8 फरवरी के बाद वाट्सऐप का प्रयोग नहीं कर पाएंगे.

वाट्सऐप के नए टर्म्स और पॉलिसी ने नई बहस शुरू कर दी है. फेसबुक के साथ यूजर डेटा साझा को लेकर कई यूजर्स अब प्रतिद्वंद्वी सोशल मैसेजिंग ऐप टेलीग्राम और सिग्नल को ज्वाइन कर रहे हैं. इसमें महिंद्रा के आनंद महिंद्रा और पेटीएम के विजय शेखर शर्मा शामिल हैं.

नई पॉलिसी से बढ़ेगी पारदर्शिता- Whatsapp

वाट्सऐप ने ब्लॉगपोस्ट में स्पष्ट तौर पर कहा कि नई पॉलिसी से यूजर्स द्वारा भेजे गए संदेशों की प्राइवेसी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा. नए बदलाव वाट्सऐप पर बिजनेस को मैसेज करने से संबंधित हैं और यह भी ऑप्शनल है. नई पॉलिसी से पारदर्शिता बढ़ेगी कि किस तरह वे डेटा कलेक्ट करते हैं. वाट्सऐप के ब्लॉगपोस्ट के मुताबिक, वह यूजर की मंजूरी मिलने के बाद सिर्फ एड्रेसबुक के फोन नंबर तक अपना एक्सेस रखता है और वह इसे फेसबुक के साथ साझा नहीं करता है.

यह भी पढ़ें- ‘Signal’ की लगी लॉटरी, धड़ाधड़ हो रहे डाउनलोड

मैसेजेज होते हैं एंड-टू-एंड इनक्रिप्टेड

ब्लॉगपोस्ट के मुताबिक, फेसबुक के साथ वाट्सऐप किसी प्रकार की जानकारी साझा नहीं करता है. इसके अलावा यूजर्स के बीच भेजे गए संदेश एंड-टू-एंड इनक्रिप्टेड होते हैं यानी कि इन संदेशों को वाट्सऐप भी नहीं देखता है. इससे पहले इंटरनेट सिक्योरिटी रिसर्चर राजशेखर राजहरिया ने एक रिपोर्ट में क्लेम किया था कि कम से कम 1700 प्राइवेट वाट्सऐप ग्रुप लिंक्स वेब सर्च के जरिए गूगल पर सार्वजनिक थे. वाट्सऐप ने अतिरिक्त प्राइवेसी के लिए यूजर्स को भेजे गए संदेशों को डिसअपीयर होने का विकल्प दिया है. इस विकल्प के तहत भेजा गया संदेश कुछ समय के बाद अपने आप डिलीट हो जाता है.

देश भर में 40 करोड़ वाट्सऐप यूजर्स

वाट्सऐप के देश भर में करीब 40 करोड़ यूजर्स हैं. वाट्सऐप का कहना है कि नई पॉलिसी से फ्रेंड्स या परिवार के सदस्यों के साथ मैसेजिंग की प्राइवेसी नहीं प्रभावित होती है. सोशल मैसेजिंग ऐप के मुताबिक नया अपडेट बिजनेसेज को मैसेजिंग से संबंधित है. ब्लॉग के मुताबिक किसी बिजनेस के साथ फोन, ई-मेल या वाट्सऐप के जरिए कम्युनिकेट करते हैं तो वह बिजनेस यूजर्स से जुड़ी जानकारी को अपने मार्केटिंग के उद्देश्यों के लिए यूज कर सकता है. इसमें फेसबुक पर विज्ञापन भी शामिल है. वाट्सऐप ने अपने ब्लॉगपोस्ट में कहा है कि वह स्पष्ट रूप से बिजनेस अकाउंट के साथ हुए बातचीत पर लेबल लगाएगा जिसे फेसबुक पर होस्ट करने के लिए चुना गया है.

बड़े इंड्रस्टियलिस्ट ने छोड़ा वाट्सऐप

महिंद्रा ग्रुप चेयरमैन आनंद महिंद्रा, पेटीएम संस्थापक विजय शेखर शर्मा और फोनपे सीईओ समीर निगम समेत कई कारोबारी शख्सियतों ने वाट्सऐप छोड़कर दूसरा मैसेजिंग प्लेटफॉर्म अपनाने की बात कही है. महिंद्रा ने कहा कि उन्होंने सिग्नल इंस्टाल कर लिया है और समीर निगम का भी कहना है कि उन्होंने अपने सभी वर्क ग्रुप्स और फैमिली ग्रुप्स को सिग्नल पर शिफ्ट कर दिया है. निगम ने ट्वीट में कहा कि अब तक वाट्सऐप सोशल कम्युनिकेशन श्रेणी में सबसे बेहतर ऐप था और उन्हें इसकी सिम्पलीसिटी पसंद थी. निगम का कहना है कि उन्होंने कभी दूसरे चैट ऐप में स्विच होने के बारे में सोचा भी नहीं था. शर्मा का कहना है कि भारत में वाट्सऐप और फेसबुक अपनी मोनोपॉली का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं. शर्मा ने सिग्नल को यूज करने के लिए सभी को प्रोत्साहित किया है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. टेक्नोलॉजी
  3. प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट पर मचे बवाल के बाद Whatsapp ने दी सफाई, यूजर्स को 8 फरवरी तक देनी है सहमति

Go to Top