सर्वाधिक पढ़ी गईं

Nokia लगाएगी चांद पर पहला 4G सेल्युलर नेटवर्क, NASA ने दिया कॉन्ट्रैक्ट

नोकिया का कहना है कि इसकी नोकिया बेल लैब्स की डिवीजन एक 4G कम्युनिकेशंस सिस्टम तैयार करेगी, जिसे 2022 के आखिर में लूनर लैंडर के जरिए चांद की सतह पर पहुंचाया जाएगा.

Updated: Oct 20, 2020 1:33 PM
Nokia to build moon's first 4G cellular network for NASA programme, cellular network on lunar surfaceImage: Reuters

चांद पर पहला सेल्युलर कम्युनिकेशंस नेटवर्क स्थापित करने के लिए नासा ने Nokia में दिलचस्पी दिखाई है. नोकिया का कहना है कि इसकी नोकिया बेल लैब्स की डिवीजन एक 4जी कम्युनिकेशंस सिस्टम तैयार करेगी, जिसे 2022 के आखिर में लूनर लैंडर के जरिए चांद की सतह पर पहुंचाया जाएगा.

नासा 14 कंपनियों को Artemis मून लैंडिंग प्रोग्राम के लिए टेक्नोलॉजी समेत 37 करोड़ डॉलर दे रही है. इस प्रोग्राम का मकसद चांद पर लंबी अवधि के लिए मानवीय मौजूदगी को सक्षम बनाना है. यह मंगल मिशन्स के लिए एक वार्म अप की तरह है.

नासा दे रही 1.41 करोड़ डॉलर

पिछले सप्ताह नासा द्वारा घोषणा किए जाने के बाद नोकिया ने इस प्रोग्राम में अपने शामिल होने को लेकर अधिक डिटेल्स जारी कीं. नासा ने एलान किया था कि वह नोकिया की अमेरिकी यूनिट को चांद पर पहले सेल्युलर नेटवर्क के लिए 1.41 करोड़ डॉलर दे रही है. नासा क्रियोजेनिक फ्लूइड मैनेजमेंट, लूनर सरफेस इनोवेशन और डेसेंट व लैंडिंग क्षमता में अन्य इनोवे​शन की भी फंडिंग कर रही है.

नोकिया का कहना है कि चांद पर उसका नेटवर्क अंतरिक्षयात्रियों को टास्क्स के लिए महत्वपूर्ण कम्युनिकेशंस क्षमताएं उपलब्ध कराएगा, जैसे- लूनर रोवर्स का रिमोट कंट्रोल, रियल टाइम नेविगेशन, एचडी वीडियो स्ट्रीमिंग. इक्विपमेंट में बेस स्टेशन, एंटीना और सॉफ्टवेयर शामिल है. इक्विपमेंट को अं​तरिक्ष में हार्श लॉन्चेज, लूनर लैंडिंग्स और बेहद मुश्किल हालात का सामना करने के लिए डिजाइन किया गया है.

फेस्टिव सेल: अमेजन और फ्लिपकार्ट पर स्मार्टफोन्स 40% तक सस्ते; iPhone, Samsung, Vivo समेत हर ब्रांड पर ऑफर

Intuitive Machines कर रही साझेदारी

चांद पर सेल्युलर नेटवर्क की दिशा में नोकिया अमेरिकी कंपनी Intuitive Machines के साथ साझेदारी कर रही है. Intuitive Machines को नासा ने स्मॉल हॉपर लैंडर बनाने के लिए चुना है, जो लूनर क्रिएटर्स को एक्सेस कर सकता है और शॉर्ट डिस्टेंस के अंदर चांदी की सतह के हाई रिजॉल्यूशन सर्वे कर सकता है. नोकिया के चीफ टेक्नोलॉजी अधिकारी मार्कस वेलडन का कहना है कि भरोमंद, रिसीलिएंट और हाई कैपेसिटी कम्युनिकेशंस नेटवर्क्स चांद की सतह पर लंबी अवधि के लिए मानवीय मौजूदगी को सहयोग देने में अहम होंगे.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. टेक्नोलॉजी
  3. Nokia लगाएगी चांद पर पहला 4G सेल्युलर नेटवर्क, NASA ने दिया कॉन्ट्रैक्ट

Go to Top