scorecardresearch

Koo ऐप से अलग हो रहे हैं चीनी निवेशक, Twitter के भारतीय अल्टरनेटिव में बिकेगी हिस्सेदारी

ट्विटर (Twitter) के भारतीय अल्टरनेटिव Koo की मूल कंपनी में चीनी निवेशक बाहर निकलने की ओर हैं.

Koo ऐप से अलग हो रहे हैं चीनी निवेशक, Twitter के भारतीय अल्टरनेटिव में बिकेगी हिस्सेदारी
ट्विटर (Twitter) के भारतीय अल्टरनेटिव Koo की मूल कंपनी में चीनी निवेशक बाहर निकलने की ओर हैं.

ट्विटर (Twitter) के भारतीय अल्टरनेटिव Koo की मूल कंपनी में चीनी निवेशक बाहर निकलने की ओर हैं. कू ऐप के को-फाउंडर और सीईओ अप्रेम्य राधाकृष्ण ने कहा कि दूसरे निवेशकों ने मौजूद उनकी 9 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने को कहा है. कू ऐप को भारत सरकार के ट्विटर के साथ भड़काऊ ट्वीट को हटाने को लेकर खींचतान के बाद लोकप्रियता मिली थी. ऐप के तीन मिलियन से ज्यादा डाउनलोड हो चुके हैं और करीब एक मिलियन एक्टिव यूजर्स हैं.

2018 में किया था निवेश

कू के निवेशकों में Accel पार्टनर्स, 3one4 कैपिटल और कलारी कैपिटल शामिल हैं. इसके अलावा ग्लोबल वेंचर कैपिटल कंपनी Shunwei भी कू की मूल कंपनी Bombinate टेक्नोलॉजीज में निवेशक है. Shunwei कैपिटल की अगुवाई एक पार्टनरशिप टीम करती है, जिसमें चीनी मूल के लोग भी शामिल हैं. इसने Bombinate के पिछले प्रोडक्ट Vokal नाम के ऐप में निवेश किया था.

राधाकृष्ण ने बताया कि जब से कंपनी ने अपना फोकस Koo पर किया है, Shunwei कंपनी से बाहर निकलने के लिए प्रतिबद्ध है. उन्होंने कहा कि 2018 में, जब उन्होंने सवाल-जवाब वाले ऐप Vokal के साथ शुरू किया था, तो Shunwei ने उनमें रूचि दिखाई थी, जो कंटेंट क्षेत्र में एक बड़ी चीनी निवेशक थी. Shunwei ने भारत की कई कंपनियों में निवेश किया था और Bombinate उन में से एक थी.

उन्होंने आगे कहा कि 2018 से अब तक कू को एक प्रयोग के तौर पर शुरू किया गया था और उसे लोकप्रियता मिली. उन्हें कोई अंदाजा नहीं था कि राष्ट्रीय भावना का प्रोडक्ट बन जाएगा और उन्हें भारतीय के अलावा दूसरी जगह से पैसे नहीं लेने चाहिए. किसी ने Vokal पर सवाल नहीं किए. यह कू के बारे में है. उन्होंने कहा कि जब निवेश हुआ, कू मौजूद नहीं था.

Redmi Note 10 सीरीज भारत में 4 मार्च को होगी लॉन्च, 20,000 रु से कम रहेगी कीमत, जानें संभावित फीचर्स

Koo क्या है?

यह ट्विटर की तरह एक माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म है. यह एक वेबसाइट के तौर पर और iOS और गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है. आप यहां सार्वजनिक तौर पर अपने विचारों को पोस्ट कर सकते हैं और दूसरे यूजर्स को फॉलो भी कर सकते हैं. एक फीड में दूसरे यूजर्स की पोस्ट दिखती हैं. यहां कैरेक्टर लिमिट 400 है. व्यक्ति अपने मोबाइल नंबर का इस्तेमाल करके कू के लिए साइन अप कर सकता है. यूजर्स के पास अपने फेसबुक, LinkedIn, यूट्यूब और ट्विटर फीड को भी कू प्रोफाइल से लिंक करने का विकल्प मौजूद रहता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News