मुख्य समाचार:
  1. देश में 56 करोड़ पर पहुंचा इंटरनेट कनेक्शंस का आंकड़ा, Reliance Jio रही सबसे बड़ी कॉन्ट्रीब्यूटर

देश में 56 करोड़ पर पहुंचा इंटरनेट कनेक्शंस का आंकड़ा, Reliance Jio रही सबसे बड़ी कॉन्ट्रीब्यूटर

यह जानकारी ट्राई (Telecom Regulatory Authority of India) के डाटा से सामने आई.

December 29, 2018 6:28 PM
india crosses 50 crore internet connections mark reliance jio became the largest contributorभारत में 2018 के दौरान इंटरनेट कनेक्शंस की संख्या 65 फीसदी बढ़ी. (Representational Image)

भारत में 2018 के दौरान इंटरनेट कनेक्शंस की संख्या 65 फीसदी बढ़ी. इसके साथ ही तीन साल पहले सरकार द्वारा तय किए गए 50 करोड़ कनेक्शंस का महत्वाकांक्षी लक्ष्य भी पूरा हो गया. सितंबर 2018 तक देश में इंटरनेट कनेक्शंस का आंकड़ा 56 करोड़ पर पहुंच गया. यह जानकारी ट्राई (Telecom Regulatory Authority of India) के डाटा से सामने आई. इंटरनेट कनेक्शंस में आए इस बूम में सबसे ज्यादा योगदान रिलायंस जियो का रहा.

इन 56 करोड़ इंटरनेट कनेक्शंस में से 54 करोड़ कनेक्शन मोबाइल फोन्स के थे और बाकी ब्रॉडबैन्ड के जरिए दिए गए. यह दर्शाता है कि ज्यादातर कस्टमर्स इंटरनेट का इस्तेमाल फोन पर कर रहे हैं. डाटा के मुताबिक, 56 करोड़ कनेक्शंस में से 64 फीसदी यानी 36 करोड़ कनेक्शन शहरी क्षेत्रों के रहे, जबकि 36 फीसदी यानी 19.4 करोड़ ग्रामीण क्षेत्रों के.

केवल 1 माह में 2.77 बढ़े यूजर्स

31 अगस्त 2018 तक देश में मोबाइल इंटरनेट और डोंगल इस्तेमाल करने वालों का आंकड़ा लगभग 44.51 करोड़ था. केवल एक माह में यानी 30 सितंबर 2018 तक यह आंकड़ा बढ़कर 46.28 करोड़ हो गया.

इन 5 कंपनियों का रहा दबदबा, जियो रही टॉप पर

सितंबर 2018 के आखिर तक ब्रॉडबैंड सब्सक्राइबर्स के मामले में 5 सर्विस प्रोवाइडर्स का मार्केट शेयर कुल मिलाकर 97.86 फीसदी रहा. इन 5 कंपनियों में सबसे ज्यादा लगभग 25.22 करोड़ सब्सक्राइबर्स रिलायंस जियो के, 9.92 करोड़ भारती एयरटेल के, 5.18 करोड़ वोडाफोन के, 4.79 करोड़ आइडिया सेल्युलर के और 2.01 करोड़ बीएसएनएल के रहे.

इन राज्यों का योगदान रहा 36 फीसदी

रिपोर्ट में आगे कहा गया कि पूरे भारत में दिए गए इंटरनेट कनेक्शंस में कर्नाटक, ​तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, गुजरात और महाराष्ट्र में दिए गए कनेक्शंस का योगदान 36 फीसदी यानी 20 करोड़ रहा.

2015 में टेलिकॉम मंत्री ने जताई थी उम्मीद

दिसंबर 2015 में केन्द्रीय टेलीकॉम मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा था कि हमारी योजना 2018 तक भारत में इंटरनेट कनेक्शंस का आंकड़ा 50 करोड़ के पार ले जाना है. मुझे पूरा भरोसा है कि आने वाले 2—3 सालों में भारत दुनिया के एक आईटी मार्केट के तौर पर चीन के बराबर पहुंच जाएगा.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop