कहीं किसी ने चुरा तो नहीं ली आपकी आइडेंटिटी? भारत सरकार के इस पोर्टल पर आप खुद कर सकते हैं जांच | The Financial Express

कहीं किसी ने चुरा तो नहीं ली आपकी आइडेंटिटी? भारत सरकार के इस पोर्टल पर आप खुद कर सकते हैं जांच

भारत सरकार की इस वेबसाइट https://tafcop.dgtelecom.gov.in/ पर जाकर आप अपने नाम से खरीदे गए सभी मोबाइल नंबर की जानकारी ले सकते हैं.

कहीं किसी ने चुरा तो नहीं ली आपकी आइडेंटिटी? भारत सरकार के इस पोर्टल पर आप खुद कर सकते हैं जांच
आपके नाम या आईडी कार्ड या आधार कार्ड पर कितने मोबाइल नंबर रजिस्‍टर्ड हैं, उसकी जानकारी आप टेलीकॉम डिपार्टमेंट की इस वेबसाइट https://tafcop.dgtelecom.gov.in/ से चेक कर सकते हैं.

आपके नाम या आईडी कार्ड या आधार कार्ड पर कितने मोबाइल नंबर रजिस्‍टर्ड हैं, इसकी जानकारी आप आसानी से हासिल कर सकते हैं. दरअसल केंद्रीय संचार मंत्रालय के टेलीकॉम डिपार्टमेंट (DoT) ने मोबाइल कनेक्शन से जुड़ी इस जानकारी का पता लगाने के लिए एक सर्विस की शुरूआत की है. डिपार्टमेंट ने इस सर्विस का नाम टेलीकॉम एनालिटिक्‍स फॉर फ्रॉड मैनेजमेंट एंड कंज्‍यूमर प्रोटेक्‍शन (Telecom Analytics for Fraud Management and Consumer Protection- TAFCOP) रखा है. TAFCOP के तहत कस्टमर आसानी से अपने नाम पर इस्तेमाल हो रहे मोबाइल कनेक्शन का पता लगा सकते हैं. साथ ही उस पर जरूरी एक्शन भी ले सकते हैं.

आपके नाम पर कितने मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड हैं ऐसे लगाएं पता

  • सबसे पहले टेलीकॉम डिपार्टमेंट की संबंधित वेबसाइट http://tafcop.dgtelecom.gov.in पर जाएं.
  • लॉग-इन करने के लिए अपना मोबाइल नंबर भरें.
  • इसके बाद मोबाइल नंबर पर आए वन टाइम पासवर्ड यानी ओटीपी (OTP) की सही डिटेल दर्ज करें.
  • ओटीपी भरकर लॉग-इन करते ही सामने स्क्रीन पर आपके नाम से खरीदे गए सभी मोबाइल नंबर्स की लिस्ट नजर आएगी. अब जिन मोबाइल नंबर को आप इस्तेमाल नहीं करते हैं उस पर दिए गए 3 विकल्प में से किसी एक पर एक्शन ले सकते हैं. यानी जो मोबाइल नंबर इस्तेमाल में नहीं, उसे बंद करने का रिक्वेस्ट भेज दें.
  • ऐसा करने के बाद आप लिए गए एक्शन का स्टेटस भी देख सकते हैं.

Drishyam 2 Box Office Collection Day 1: अजय देवगन की दृश्यम 2 ने पहले दिन कमाए 15.38 करोड़, साल की दूसरी सबसे अच्छी ओपनिंग

इन राज्यों में मिल रही टेलीकॉम डिपार्टमेंट की ये सुविधा

टेलीकॉम डिपार्टमेंट की संबंधित वेबसाइट के मुताबिक मौजूदा समय में ये सुविधा केवल राजस्थान, आंध्र प्रदेश, केरल, तेलंगाना, जम्मू और कश्मीर, मेघालय, त्रिपुरा, मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश और नागालैंड के मोबाइल सब्सक्राइबर्स के लिए उपलब्ध है. मोबाइल कस्टमर्स की सिक्योरिटी की लिहाज से डिपार्टमेंट ने टीएएफ-सीओपी पोर्टल के जरिए इस सुविधा को शुरूआत की है.

टेलीकॉम डिपार्टमेंट ने जियो (Jio), एयरटेल (Airtel), वोडाफोन-आइडिया (Vi), बीएसएनएल (BSNL) जैसे सर्विस प्रोवाइडर कंपनियों द्वारा कस्टमर को टेलीकॉम रिसोर्स उपलब्ध कराने और उनके हितों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ये उपाय किया है. साथ ही डिपार्टमेंट ने कस्टमर के साथ धोखाधड़ी में कमी लाने के लिए भी इसकी पहल की है. टेलीकॉम डिपार्टमेंट की तरफ से जारी गाइडलाइन के मुताबिक एक शख्स अपने नाम पर सिर्फ 9 मोबाइल कनेक्‍शन ही ले सकता है.

Gujarat Election 2022 : गुजरात चुनाव में उतरे बीजेपी के दिग्गज, नड्डा समेत 29 नेताओं ने किया 40 सीटों पर प्रचार

केंद्रीय संचार मंत्रालय के टेलीकॉम डिपार्टमेंट ने मोबाइल कनेक्शन खरीदने वाले कस्टमर की मदद के लिए वेबसाइट विकसित की है. इस वेबसाइट की मदद से मोबाइल सब्सक्राइबर्स यानी कस्टमर अपने नाम से इस्तेमाल हो रहे मोबाइल कनेक्शन को चेक कर सकते हैं. कस्टमर वेबसाइट की मदद से मिले तमाम मोबाइल कनेक्शन पर उचित एक्शन ले सकते हैं. मतलब ओटीपी की मदद से लॉग-इन करने के बाद वे सामने दिए गए 3 विकल्प- ये मोबाइल नंबर मेरे इस्तेमाल में नहीं है (This is Not My Number), मोबाइल नंबर की जरूरत नहीं है (Not Required) या मोबाइल नंबर की जरूरत है (Required) में से संबंधित नंबर के सामने टिक का निशान लगाकर जरूरी एक्शन ले सकते हैं. वे चाहें तो अपने अतिरिक्त नंबर को जारी भी रख सकते है या फिर उसे बंद कराने के लिए रिक्वेस्ट कर सकते हैं. हालांकि,कस्टमर एक्विजिशन फॉर्म (CAF) को संभालने की पहली जिम्मेदारी टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर कंपनियों की है.

टेलीकॉम डिपार्टमेंट की संबंधित वेबसाइट से ली सकती है ये सुविधाएं

  • जिन कस्टमर के नाम पर 9 से अधिक मोबाइल कनेक्शन हैं, उन्हें टेलीकॉम डिपार्टमेंट एसएमएस द्वारा सूचित किया जाएगा.
  • कस्टमर के नाम 9 से अधिक मोबाइल कनेक्शन है या नहीं इस वेबसाइट की मदद से चेक किया जा सकता है. डिटेल मिलने पर उस मोबाइल नंबर के खिलाफ कस्टमर जरूरी एक्शन भी लिया जा सकेगा.
  • कनेक्शन का स्टेटस चेक करने के लिए अपने मोबाइल नंबर के साथ लॉगिन किया जा सकता है. उसके बाद रिक्वेस्ट स्टेटस बॉक्स (Request Status) में टिकट आईडी रिफरेंस नंबर (Ticket ID Ref No) भरकर मोबाइल नंबर के खिलाफ लिए गए एक्शन का स्टेटस भी देखा जा सकेगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

First published on: 19-11-2022 at 04:23:35 pm

TRENDING NOW

Business News