मुख्य समाचार:
  1. e-mail का बहुत ज्यादा करते हैं इस्तेमाल, तो ‘Datamail’ पर मिलेगा अनलिमिटेड स्पेस

e-mail का बहुत ज्यादा करते हैं इस्तेमाल, तो ‘Datamail’ पर मिलेगा अनलिमिटेड स्पेस

कंपनी का दावा है कि यह दुनिया में इकलौता ऐप है, जो अनलिमिटेड स्पेस देता है.

November 13, 2018 6:54 PM
datamail announced unlimited storage for email users on its appडेटामेल ईमेल सेवा को डेटा एक्सजेन टेक्नोलॉजीज ने विकसित किया है. (Representational Image)

दुनिया की पहली भाषाई ईमेल सेवा प्रदाता कंपनी डेटामेल ने अपने एप्लिकेशन पर अनलिमिटेड स्टोरेज की घोषणा की है. कंपनी का दावा है कि यह दुनिया में इकलौता ऐप है, जो अनलिमिटेड स्पेस देता है. डेटामेल ईमेल सेवा को डेटा एक्सजेन टेक्नोलॉजीज ने विकसित किया है.

डेटा एक्सजेन टेक्नोलॉजीज के संस्थापक और सीईओ डॉ. अजय डेटा ने एक बयान में कहा, “ईमेल्स की व्यक्तिगत या कारोबारी संचार में महत्वपूर्ण भूमिका है. इसमें महत्वपूर्ण डेटा होता है, जरूरत लंबी अवधि तक और निरंतरता के साथ पड़ती है. लेकिन कभी-कभी लिमिटेड स्टोरेज होने की वजह से मेलबॉक्स फुल हो जाता है और स्पेस की कमी की वजह से कामकाज प्रभावित होता है. ऐसी परिस्थिति में यूजर्स को कुछ ईमेल्स को डिलीट करना होता है या ईमेल्स और डेटा को खोने से बचाने के लिए अलग-अलग बैकअप्स बनाने होते हैं.”

डेटामेल ने इस समस्या को समझा और अपने यूजर्स को अपने एप्लिकेशन के माध्यम से अनलिमिटेड स्टोरेज उपलब्ध कराया. डेटामेल में अनलिमिटेड स्टोरेज सुविधा यूजर्स को अपने स्तर पर और अपनी जरूरत के मुताबिक स्पेस कोटा बढ़ाने की अनुमति देती है.

अनलिमिटेड स्पेस के लिए यूजर को क्या करना होगा?

अनलिमिटेड स्पेस पाने के लिए ऐप के भीतर ही टॉप कॉर्नर पर गिफ्ट बॉक्स दिया है. यूजर्स को उसे क्लिक करना है और उपहार में दी गई किसी खास एक्शन को फॉलो करना होता है. जब वे एक्शन को पूरा करते हैं तो एक एमबी स्पेस उनके ईमेल अकाउंट में जुड़ जाता है.

जितनी बार चाहे, कर सकते हैं ऐसा

यूजर्स जितनी बार चाहें, उतनी बार यह कर सकते हैं. यह उन्हें आने वाली दिक्कतों को दूर करने में मदद करते हैं, जैसे कि कम स्टोरेज स्पेस होने से ईमेल बाउंस होना. वे ईमेल्स के जरिए आसानी से कम्युनिकेशन कर सकते हैं.

स्टूडेंट्स और प्रोफेशनल्स को ज्यादा फायदा

बयान में कहा गया कि छात्रों और प्रोफेशनल्स के लिए यह एक बहुत अच्छा ईमेल अकाउंट बन जाता है, क्योंकि उनके ईमेल खाते पर पूरी तरह से उनका नियंत्रण होगा और जब भी वे चाहेंगे तो डेटामेल एप से अपने खाते में स्टोरेज बढ़ा सकेंगे. यह न केवल स्टोरेज संसाधनों को खराब होने से रोकता है, बल्कि कंपनी और यूजर्स के लिए संसाधनों के लिए इस्तेमाल को बेहतर बनाता है.

कई भारतीय और विदेशा भाषाओं में सपोर्ट करती है डेटामेल

कंपनी का कहना है कि भारत में निर्मित, ‘डेटामेल’, दुनिया की पहली भाषाई ईमेल सेवा है, जो आईडीएन की कई भारतीय और विदेशी भाषाओं में सपोर्ट करती है. इसे किसी भी एंड्रॉयड या आईओएस सिस्टम से मुफ्त में डाउनलोड किया जा सकता है. वर्तमान में भारत में हिंदी, गुजराती, उर्दू, पंजाबी, तमिल, तेलुगू, बांग्ला और मराठी सहित पंद्रह क्षेत्रीय भाषाओं में भाषाई ईमेल सेवा पेश की जा रही है.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop