मुख्य समाचार:

मोदी सरकार दे रही है 2 करोड़ रु का इनाम, आपको पूरा करना होगा ये ग्रैंड चैलेंज

इसका एलान इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इन्फॉरमेशन टेक्नोलॉजी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने किया है.

January 18, 2020 10:03 AM

cyber security grand challenge by indian government, prize money is upto 2 crore rupee

Cyber Security Grand Challenge 2020: सरकार की ओर से इनोवेशन को बढ़ावा देने और देश की साइबर सिक्योरिटी को मजबूत बनाने के लिए एक प्रतियो​गिता शुरू की गई है. इसका नाम साइबर सिक्योरिटी ग्रैंड चैलेंज (Cyber Security Grand Challenge) है. इसका एलान इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इन्फॉरमेशन टेक्नोलॉजी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने किया है. यह देश में साइबर सिक्योरिटी क्षमताओं को विकसित कर इनोवेशन और एंटरप्रेन्योरशिप को बढ़ावा देने के उद्देश्य से आयोजित किया गया है. इस प्रतियोगिता में जीतने वाली टीम को 2 करोड़ रुपये की इनामी राशि दी जाएगी.

यह ग्रैंड चैलेंज 15 जनवरी से शुरू हो चुका है और टीम का रजिस्ट्रेशन 14 फरवरी 2020 तक किया जा सकता है. इनकॉरपोरेटेड/रजिस्टर्ड स्टार्टअप की डिटेल्स के साथ आइडिया नॉमिनेशन की आखिरी तारीख 16 मार्च 2020 है.

कौन ले सकता है हिस्सा?

ग्रैंड चैलेंज में भाग लेने के लिए स्टार्टअप को DPIIT के नियमों का पालन करने वाला होना चाहिए. इन नियमों के मुता​बिक किसी एंटिटी को इन शर्तों पर स्टार्टअप माना जाएगा…

  • भारत में शुरू की गई एंटिटी रजिस्ट्रेशन/इनकॉरपोरेशन की तारीख से 10 साल तक स्टार्टअप माना जाएगा. इसके लिए या तो वह प्राइवेट लिमिटेड कंपनी हो​नी चाहिए या पार्टनरशिप फर्म के रूप में रजिस्टर होनी चाहिए या लिमिटेड लायबिलिटी पार्टन​रशिप होनी चाहिए.
  • एंटिटी का टर्नओवर रजिस्ट्रेशन/कॉरपोरेशन के बाद से किसी भी वित्त वर्ष में 100 करोड़ रुपये से ज्यादा नहीं होना चाहिए.
  • एंटिटी इनोवेशन, डेवलपमेंट या प्रॉडक्ट्स के इंप्रूवमेंट/ सर्विसेज की प्रॉसेस की दिशा में काम कर रही हो या फिर यह रोजगार सृजन/संपत्ति सृजन की उच्च क्षमता वाला बिजनेस मॉडल हो.
  • ऐसी एंटिटी जो किसी मौजूदा बिजनेस का रिकंस्ट्रक्शन हो, उसे स्टार्टअप नहीं माना जाएगा.
  • व्यक्तियों का समूह, जो स्टार्टअप नहीं है ओर ग्रैंड चैलेंज में भाग लेना चाहता है उसे 14 फरवरी 2020 तक अपनी एंटिटी को रजिस्टर कराना होगा. इसके बाद रजिस्ट्रेशन की कॉपी ऑर्गेनाइजिंग कमेटी को सौंपनी होगी.

प्रतियोगिता के चरण

इसमें भाग लेने वालों को टीम में आवेदन करना होगा और तीन चैलेंज के तीन चरणों आइडिया, मिनिमल वायबल प्रॉडक्ट (MVP) और फाइनल प्रॉडक्ट बिल्डिंग से गुजरना होगा. आइडिया स्टेज में 12 टीमों में से हर टीम को 5 लाख रुपये, एमवीपी स्टेज में 6 टीमों में से हर टीम को 10 लाख रुपये और फाइनल स्टेज में विनर टीम को 1 करोड़ रुपये, फर्स्ट रनर अप को 60 लाख और सेकंड रनर अप को 40 लाख रुपये इनाम के तौर पर दिए जाएंगे. इसके अलावा बेस्ट साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट्स की मेंटोरशिप और गाइडेंस पाने का भी मौका रहेगा.

ये होगी प्रॉसेस

  • रजिस्ट्रेशन व आइडिया सबमिशन
  • ज्यूरी इवैल्युएशन एंड शॉर्टलिस्टिंग
  • मेंटोरशिप वर्कशॉप्स
  • शॉर्टलिस्टेड टीम्स द्वारा एमवीपी डेवलपमेंट
  • ज्यूरी इवैल्युएशन एंड शॉर्टलिस्टिंग
  • फाइनल प्रॉडक्ट डेवलपमेंट
  • अवॉर्ड सेरेमनी

इस प्रतियोगिता के विस्तृत नियम कानूनों और अप्लाई करने से संबंधित जानकारी https://innovate.mygov.in/cyber-security-grand-challenge/ से हासिल की जा सकती है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. टेक्नोलॉजी
  3. मोदी सरकार दे रही है 2 करोड़ रु का इनाम, आपको पूरा करना होगा ये ग्रैंड चैलेंज

Go to Top