मुख्य समाचार:

ब्रिटेन में जलाए जा रहे हैं मोबाइल टावर, 5G टेक्नोलॉजी से कोरोना फैलने की अफवाहें

ब्रिटेन में कई मोबाइल टावरों को आग लगाई गई है.

April 9, 2020 5:18 PM
coronavirus crisis 5G towers are being burn in Britain because of fake news of virus due to 5G technologyब्रिटेन में कई मोबाइल टावरों को आग लगाई गई है. (Representational Image)

ब्रिटेन में कई मोबाइल टावरों को आग लगाई गई है. इसकी वजह ऑनलाइन अफवाहें हैं जिनमें 5G टेक्नोलॉजी को कोरोना की महामारी से जोड़ा जा रहा है. इसके पीछे कोई वैज्ञानिक तथ्य मौजूद नहीं है लेकिन इसे लेकर कई थ्योरी सोशल मीडिया नेटवर्क पर शेयर की जा रही हैं जिसमें फेसबुक और नेक्सडोर शामिल हैं. फेसबुक पर ऐसे कई फेसबुक पोस्ट मौजूद हैं जिनमें दावा किया रहा है कि कोरोना वायरस की महामारी 5G की वजह से फैल रही है. इनमें से बहुत से दावों में यह कहा गया है कि वायरस वुहान में इसलिए पैदा हुआ क्योंकि चीन के शहर ने पिछले साल 5G नेटवर्क को विस्तार दिया था.

टेलिकॉम कंपनियों ने की लोगों से अपील

इसे लेकर टेलिकॉम कंपनियों EE, o2, थ्री और वोडाफोन ने संयुक्त बयान जारी कर कहा है कि ये दावे पूरी तरह से निराधार हैं और यह उनकी सेवाओं पर निर्भर करने वाले लोगों और कारोबारों के लिए नुकसान पहुंचाने वाले हैं. कंपनियों ने कहा कि इससे उनके इंजीनियरों पर हमले हो रहे हैं और कुछ मामलों में जरूरी नेटवर्क मेनटेनेंस के काम को भी रोका जा रहा है.

अब ब्रिटेन की सभी मुख्य नेटवर्क कंपनियां लोगों से ऑनलाइन गलत खबरों को फैलने से रोकने में मदद करने के लिए कह रही हैं. उन्होंने नेटवर्क जारी रखने के लिए कर्मियों के साथ बदसलूकी को भी रिपोर्ट करने को कहा है. कंपनियों का कहना है कि इसे रोकने के लिए लोगों को मदद करनी होगा. उसने लोगों से यह अपील की है कि अगर वे किसी कर्मचारी के साथ बदसलूकी देखते हैं, तो उसे बताइए. इसके अलावा लोगों से किसी फर्जी खबर की भी जानकारी देने को कहा गया है.

इसके अलावा कुछ मशहूर शख्सियतों को भी ऐसे दावों का प्रचार करने के लिए ओलोचना झेलनी पड़ रही है. ब्रिटेन के टेलेंट शो की जज Amanda Holden ने एक याचिका शेयर की जिसमें 5G को बैन करने के लिए कहा गया था जबकि अमेरिकी अभिनेता Woody Harrelson ने इसके बारे में इंस्टाग्राम पर पोस्ट किया जिसमें उन्होंने कहा कि उनके बहुत से दोस्त 5G के बुरे प्रभावों के बारे में बात कर रहे हैं.

कोरोना से बचाएगा यह ऐप, डेटा प्राइवेसी की भी नही चिंता

वैज्ञानिकों ने दावों को बताया फर्जी

लेकिन इस बात को लेकर किसी भी तरह के तथ्य नहीं हैं. ब्रिटेन की फैक्ट-चेक करने वाली फुल फैक्ट प्वॉइंट्स ने कहा कि इस बीमारी से प्रभावित ऐसे बहुत से इलाके हैं जहां अब तक 5G का इंफ्रास्ट्रक्चर नहीं आया है. उदाहरण के लिए इससे बहुत ज्यादा प्रभावित देश इरान में अभी 5G नहीं शुरू हुआ है.

वैज्ञानिकों ने भी इसे पूरी तरह बेबुनियाद बताया है. उनका कहना है कि कोविड-19 और 5G के बीच कोई संबंध होने की बाद पूरी तरह से बेकार और असंभव है. NHS इंग्लैंड के मेडिकल डायरेक्टर Stephen Powis ने इन खबरों को सबसे बुरी फर्जी खबर बताया है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. टेक्नोलॉजी
  3. ब्रिटेन में जलाए जा रहे हैं मोबाइल टावर, 5G टेक्नोलॉजी से कोरोना फैलने की अफवाहें

Go to Top