मुख्य समाचार:

एप्पल ऐप स्टोर और गूगल प्ले स्टोर से Tik Tok हटा, शेयरचैट ने कहा- सरकार का सही फैसला

चीन के 59 ऐप पर प्रतिबंध लगाने के सरकार के फैसले का व्यापारियों के संगठन कैट और घरेलू सोशल मीडिया ऐप शेयरचैट ने स्वागत किया है.

Updated: Jun 30, 2020 7:36 PM
Apple's App Store & Google Play Store removes Tik Tok as Government of India banned 59 Chinese apps share chat cait welcomesटिकटॉक सरकार के सामने अपना पक्ष रखेगी.

एप्पल के ऐप स्टोर (Apple’s App Store) और गूगल प्ले स्टोर (Google Play Store) से चीनी ऐप टिकटॉक (Tik Tok) को हटा दिया गया है. भारत सरकार की तरफ से सोमवार को चीन के 59 एप्स पर प्रतिबंध लगाने के बाद यह कदम उठाया गया है. केंद्र सरकार ने कहा था कि ये एप्स देश की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा को लेकर पूर्वाग्रह से ग्रस्त हैं. इसलिए यह फैसला किया गया है. ​जिन चीनी ऐप को प्रतिबंध किया गया है उनमें टिकटॉक के अलावा यूसी ब्राउजर भी शामिल है. दूसरी ओर, टिकटॉक ने कहा है कि वह ऐप ब्लॉक करने के सरकारी निर्देशों को पूरा करने की प्रक्रिया में है. उसने भरोसा दिया है कि उसने भारतीय यूजर्स का डेटा चीन समेत किसी भी विदेशी सरकार से साझा नहीं किया है. कंपनी को जवाब और अपना पक्ष रखने के लिए सरकारी पक्षकारों के सामने पेश होने के लिए कहा गया है.

Sharechat , CAIT ने किया स्वागत

चीन के 59 ऐप पर प्रतिबंध लगाने के सरकार के फैसले का व्यापारियों के संगठन कैट और घरेलू सोशल मीडिया ऐप शेयरचैट ने स्वागत किया है. उन्होंने इस फैसले का समर्थन करते हुए इसे उचित बताया है. कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने एक बयान में कहा, ‘‘इस अभूतपूर्व कदम से कैट के ‘चीन का बहिष्कार’ अभियान को मजबूत करने में काफी मदद मिलेगी. इस अभियान में भारत के सात करोड़ व्यापारी केंद्र सरकार के साथ एकजुटता से खड़े हैं.’’

शेयरचैट के निदेशक (सार्वजनिक नीति) बर्जेस मालू ने कहा, ‘‘गोपनीयता, साइबर सुरक्षा और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए गंभीर जोखिम बन चुके प्लेटफार्मों के खिलाफ सरकार का यह फैसला स्वागत योग्य है. हमें उम्मीद है कि सरकार भारतीय स्टार्टअप इकोसिस्टम को अपना समर्थन जारी रखेगी.’’

सरकार ने 59 चाइनीज मोबाइल ऐप किए बैन

चीनी निवेश वाली कंपनियों पर भी हो कार्रवाई

डिजिटल ऑडियो प्लेटफॉर्म खबरी ने उन भारतीय कंपनियों पर कार्रवाई करने का आह्वान भी किया है, जिनमें चीनी निवेशक हैं. इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (इस्पाई) ने भी इस कदम की सराहना की है. इनमोबाइल समूह के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी नवीन तिवारी ने कहा कि यह ‘डिजिटल आत्मनि क्षण है जिसके लिए ज्यादातर भारतीय समर्थन देने को खड़े थे.’

भारतीय यूजर्स के हित में लिया फैसला

सूचना प्रसारण मंत्रालय ने आईटी एक्ट एंड रूल्स के सेक्शन 69A के तहत अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए 59 ऐसे ऐप्स को बैन करने का फैसला लिया है, जो ऐसी गतिविधि में शामिल हैं जो भारत की संप्रभुता और अखंडता, भारत की रक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए हानिकारक हैं. बयान में कहा गया कि यह कदम करोड़ों भारतीय मोबाइल व इंटरनेट यूजर्स के हितों की रक्षा करेगा.

 

Input: PTI, ANI

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. टेक्नोलॉजी
  3. एप्पल ऐप स्टोर और गूगल प्ले स्टोर से Tik Tok हटा, शेयरचैट ने कहा- सरकार का सही फैसला

Go to Top