सर्वाधिक पढ़ी गईं

सचिन तेंदुलकर ने खुद पर लगे आरोपों का दिया जवाब, मुंबई इंडियन्स से नहीं लिया आर्थिक लाभ

सचिन ने कहा कि मुंबई इंडियंस से आर्थिक लाभ नहीं लिया

April 28, 2019 3:31 PM
Sachin Tendulkar, Mumbai Indians, Monetary Benefit, हितों के टकराव, सचिन तेंदुलकर, आईपीएल, मुंबई इंडियन्ससचिन ने कहा कि मुंबई इंडियंस से आर्थिक लाभ नहीं लिया

Sachin Tendulkar: हितों के टकराव मामले में मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने खुद पर लगे आरोपों को खारिज किया है. सचिन का कहना है कि उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियन्स से ना तो ‘‘कोई फायदा’’ उठाया है ना ही वह निर्णय लेने की किसी प्रक्रिया में भागीदार रहे हैं. तेंदुलकर ने रविवार को बीसीसीआई के लोकपाल एवं नैतिक अधिकारी न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) डी के जैन के भेजे नोटिस का लिखित जवाब दाखिल किया जिसमें 14 बिंदुओं का उल्लेख है.

भेजा गया था नोटिस

तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण को मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ (एमपीसीए) के सदस्य संजीव गुप्ता द्वारा दायर की गई शिकायत पर नोटिस भेजा गया था. शिकायत के मुताबिक लक्ष्मण और तेंदुलकर ने आईपीएल फ्रेंचाइजी टीमों सनराइजर्स हैदराबाद और मुंबई इंडियन्स के ‘सहायक सदस्य’ और बीसीसीआई के क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) के सदस्य के रूप में दोहरी भूमिका निभाई, जिसे कथित हितों के टकराव का मामला बताया गया था.

क्या कहा Sachin Tendulkar ने

अपने जवाब में तेंदुलकर ने लिखा कि सबसे पहले, नोटिस प्राप्तकर्ता (तेंदुलकर) सभी शिकायतों को खारिज करता है (बयानों को छोड़कर जो विशेष रूप से यहां स्वीकार किए जाते हैं). उनके जवाब की प्रति न्यूज एजेंसी के पास भी है, जिसमें कहा गया है कि नोटिस प्राप्तकर्ता (तेंदुलकर) ने संन्यास के बाद से मुंबई इंडियन्स आईपीएल फ्रेंचाइजी से टीम ‘आईकॉन’ की क्षमता में कोई भी विशेष आर्थिक लाभ/फायदा नहीं लिया है. वह किसी भी भूमिका में फ्रेंचाइजी के लिए कार्यरत नहीं हैं.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले इस खिलाड़ी ने कहा है कि वह किसी भी पद पर काबिज नहीं हैं, न ही उन्होंने कोई निर्णय लिया है (टीम के खिलाड़ियों के चयन सहित), जो फ्रैंचाइजी के शासन या प्रबंधन के अंतर्गत आता है. इसलिए बीसीसीआई के नियमों के तहत या अन्यथा, यहां हितों का कोई टकराव नहीं हुआ है.

मुंबई इंडियंस का ‘आईकॉन’

क्रिकेट सलाहकार समिति में उनकी भूमिका के सवाल पर तेंदुलकर ने कहा कि उन्हें 2015 में बीसीसीआई समिति के सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया था और यह नियुक्ति मुंबई इंडियन्स के साथ उनकी भागीदारी के कई वर्ष के बाद हुई थी. उन्होंने कहा कि नोटिस प्राप्तकर्ता 2015 में क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) में नियुक्त हुआ था. माननीय नैतिक अधिकारी इस बात की सराहना करेंगे कि उन्हें सीएसी में शामिल होने से काफी पहले ही मुंबई इंडियंस का ‘आईकॉन’ घोषित किया गया था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. खेल
  3. सचिन तेंदुलकर ने खुद पर लगे आरोपों का दिया जवाब, मुंबई इंडियन्स से नहीं लिया आर्थिक लाभ

Go to Top