मुख्य समाचार:
  1. Byju’s का बड़ा दांव, टीम इंडिया की जर्सी पर चाइनीज कंपनी Oppo की लेगा जगह

Byju’s का बड़ा दांव, टीम इंडिया की जर्सी पर चाइनीज कंपनी Oppo की लेगा जगह

टीम इंडिया की जर्सी पर Oppo की जगह बायजू नजर आने वाला है.

July 25, 2019 12:35 PM
Team India Jersey, Byju's, Oppo, BCCI, Indian Cricket Team, Cricket, Online Learning App, टीम इंडिया की जर्सी, Oppo की जगह बायजूटीम इंडिया की जर्सी पर Oppo की जगह बायजू नजर आने वाला है.

टीम इंडिया की जर्सी पर चाइनीज कंपनी ओप्पो Oppo की जगह जल्द ही एक नया ब्रांड नजर आने वाला है. यह इंडियन ब्रांड है ऑनलाइन लर्निंग ऐप बायजू. चाइनीज मोबाइल मैन्युफैक्चरर कंपनी ओप्पो ने अपना स्पांसरशिप राइट बंगलुरू बेस्ड कंपनी बायजू को हैंडओवर करने का फैसला किया है. फिलहाल सितंबर से टीम इंडिया की जर्सी पर ब्रांड नेम बदल जाएगा.

ओप्पो ने मार्च 2017 में 5 साल के लिए 1079 करोड़ रुपये में यह अधिकार खरीदा था. लेकिन अब वह बायजू के लिए यह जगह छोड़ रहा है. मीडिया रिपोर्ट में यह भी कहा जा रहा है कि ओप्पो को यह राशि ज्यादा लग रही थी, इसलिए उसने स्पांसरशिप राइट छोड़ने का फैसला किया है.

सितंबर से नजर आएगा बायजू

अगले महीने शुरू होने जा रहे कैरेबियाई दौरे पर टीम इंडिया ओप्पो ब्रांड नेम वाली ही जर्सी पहनेगी. लेकिन उसके बाद साउथ अफ्रीका का भारत दौरा शुरू होगा, जिसमें यह जर्सी बदली नजर आएगी. तब जर्सी पर ओप्पो की जगह बायजू नजर आएगा. सूत्रों के मुताबिक बीसीसीआई ने भी इसे मंजूरी दे दी है.

BCCI को नहीं कोई नुकसान

बीसीसीआई के एक सूत्र ने बताया कि इससे बीसीसीआई को किसी तरह का कोई नुकसान नहीं होगा. बीसीसीआई को बाकी का पैसा बायजू से मिलेगा. यह अधिकार 31 मार्च 2022 तक जारी रहेगा. ओप्पो ने अपने नुकसान को कम करने के लिए यह कदम उठाया है. उन्होंने बायजू को अधिकार दे दिए हैं. वे बायजू को बीसीसीआई को पूरी रकम चुकाने के लिए पैसों की मदद भी करेंगे.

मार्च 2017 में ओप्पो ने टीम इंडिया जर्सी राइट 5 साल के लिए खरीदा था. डील के अनुसार ओप्पो हर बाइलैटरल मैच के लिए बीसीसीआई को 4.61 करोड़ और ICC गेम इवेंट के लिए 1.56 करोड़ दे रहा था.

Byju’s – द लर्निंग एप

केरल में कन्नूर जिले के रहने वाले रविंद्रन बायजू ने इंजीनियर के तौर पर अपनी नौकरी शुरू की. लेकिन बाद में उन्होंने कोचिंग क्लास शुरू करने का फैसला किया. यहीं से बायजू के एक सफल बिजनेसमैन बनने का सफर शुरू हुआ. एक दिन उन्होंने सोचा कि क्यों न एक ही जगह रहकर अपने सभी छात्रों तक पहुंचा जा सके. उन्होंने 2009 में CAT के लिए ऑनलाइन वीडियो बेस्ड लर्निंग प्रोग्राम शुरू किया.

2015 में उन्होंने अपना फ्लैगशिप प्रोडक्ट Byju’s – द लर्निंग एप लॉन्च किया. यह उनके लिए गेमचेंजर साबित हुआ. स्मार्टफोन की बढ़ती लोकप्रियता के बीच उनका यह एप भी पॉपुलर होता गया. कंपनी ऑनलाइल कंटेंट उपलब्ध करवाती है. कुछ कंटेंट तो फ्री हैं, लेकिन एडवांस लेवल के लिए फीस देनी होती है.

200 करोड़ मंथली रेवेन्यू

एक छोटे से गांव से शुरुआती पढ़ाई करने वाले रविंद्रन बायजू ने एक कोचिंग क्लास को आज 200 करोड़ रुपये मंथली रेवेन्यू वाली कंपनी में बदल दिया. न्यूज एजेंसी के मुताबिक FY-19 में Byju’s पूरे साल प्रॉफिटेबल रही है. कंपनी का रेवेन्यू 1430 करोड़ रुपये रहा है और मौजूदा वित्त वर्ष में इसे 3000 करोड़ करने का लक्ष्य है. हाल ही में कंपनी का मंथली रेवेन्यू 200 करोड़ का आंकड़ा पार कर गया.

Go to Top