सर्वाधिक पढ़ी गईं

Women’s Day 2021: महिलाएं कैसे बनें वित्तीय तौर पर स्वतंत्र और सुरक्षित? इन 6 बातों का रखें ध्यान

आइए महिलाओं के लिए वित्तीय तौर पर स्वतंत्र और सुरक्षित होने के कुछ तरीकों को जानते हैं.

Updated: Mar 08, 2021 10:14 AM
Women’s Day 2021 how women can become financially independent and secured keep these in mindआइए महिलाओं के लिए वित्तीय तौर पर स्वतंत्र और सुरक्षित होने के कुछ तरीकों को जानते हैं.

Financial Tips for women: 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस है. सभी क्षेत्रों में महिलाएं आगे बढ़ रही हैं और पुरुषों को भी पीछे छोड़ रही हैं. महिलाओं का आर्थिक रूप से स्वतंत्र और सशक्त होना भी बहुत जरूरी है. आइए महिलाओं के लिए वित्तीय तौर पर स्वतंत्र और सुरक्षित होने के कुछ तरीकों को जानते हैं.

लक्ष्य और खर्च की सूची बनाएं

अपने लक्ष्य निर्धारित करके और अपनी संपत्तियों और दायित्व की समीक्षा करके अपने पैसों को मैनेज करना चाहिए. आने वाले साल के लिए एक बजट बनाना चाहिए. इसके साथ यह जानना जरूरी है कि पैसा कहां खर्च हो रहा है और कहां पर बचत की जा सकती है. वित्तीय रूप से सफल होने के लिए बजट का बनाया जाना सबसे जरूरी है और इस बात की पूरी जानकारी रखनी चाहिए कि खर्च कहां किया जाएगा और बचत कहां की जाएगी. उदाहरण के लिए नए घर या कार के लिए बचत या बच्चे की शिक्षा या छुट्टी मनाने के लिए खर्च.

फाइनेंशियल प्लानिंग सीखें

आज की तेजी से बढ़ती दुनिया में महिलाओं के लिए यह जरूरी है कि वे सुरक्षित भविष्य के लिए फाइनेंशियल प्लानिंग करें. घरेलू काम और परिवार की देखभाल की जिम्मेदारियों के साथ महिलाओं को काम करने के लिए ज्यादा समय नहीं मिलता, इसलिए हर साल उनकी बचत, निवेश कम होता है. उन्हें महत्वपूर्ण और सुरक्षित महसूस करने के लिए बीमा करवाना और निवेश करना जरूरी है. महिलाओं द्वारा अपने वित्त की अच्छी योजना बनाए जाने से परिवार की वित्तीय योजना ज्यादा मजबूत होगी और जीवन में महत्वपूर्ण उद्देश्य, जैसे घर खरीदने, बच्चों की उच्च शिक्षा की योजना बनाने आदि जैसे लक्ष्य पूरे करने में मदद मिलेगी. फाइनेंशियल प्लानिंग महिलाओं द्वारा किसी पर निर्भर हुए बिना अपनी व्यक्तिगत और व्यवसायिक महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने के लिए भी जरूरी है.

केवल बचत न करें, निवेश भी करें

निवेश के अनेक विकल्प उपलब्ध हैं. इसलिए व्यक्ति को अपने सैलरी अकाउंट में पैसे बेकार नहीं पड़ा रहने देना चाहिए. पैसे की बचत करना अच्छा है, लेकिन सबसे बेहतर यह है कि निवेश के विकल्पों द्वारा इस पैसे को बढ़ाया जाए. निवेश से बचत किया गया पैसा ज्यादा तेजी से बढ़ता है. प्रोफेशनल परामर्श के लिए रेगुलेटेड फाईनेंशल एडवाइजर की मदद ली जा सकती है या एक अलग बचत खाता खुलवाया जा सकता है. शेयर बाजार में निवेश किया जा सकता है या एक बीमा योजना में निवेश किया जा सकता है, जो मैच्योरिटी पर प्रीमियम का दोगुना रिटर्न वापस करे.

अतिरिक्त आय बनाएं

वित्तीय समस्याएं खर्च करने की बजाय अपर्याप्त बचत की वजह से पैदा होती हैं. अगर व्यक्ति को खर्च पूरे करने में परेशानी आ रही है या उसका बजट सीमित है या फिर व्यक्तिगत खर्च पूरे नहीं हो रहे, तो आय के अतिरिक्त स्रोत का निर्माण करने की जरूरत है. इस मामले में व्यक्ति को ज्यादा पैसा कमाने का तरीका तलाशना चाहिए या फिर ऐसा प्लान बनाना चाहिए, जिससे उसके वर्तमान खर्चों में कटौती हो. ज्यादा आय से ज्यादा वित्तीय स्थिरता मिलती है और अतिरिक्त आय का इस्तेमाल कर्ज चुकाने, लोन की अवधि कम करने, रिटायरमेंट के लिए बचत करने या मासिक फाइनेंस को बढ़ाने में किया जा सकता है.

सही बीमा उत्पादों से भविष्य सुरक्षित करें

जीवन अनिश्चित है और मुश्किल उस समय आती है, जब आपको उसकी उम्मीद भी न हो. जीवन में अनेक प्राथमिकताएं हो सकती हैं, लेकिन उन सबके बीच आप अपने और अपने प्रियजनों के भविष्य को सुरक्षित करने के महत्व को नजरंदाज नहीं कर सकते. परिवार को कितने पैसे की जरूरत होगी, इसका आंकलन करें और सही बीमा उत्पादों द्वारा जीवन में अनिश्चित घटनाओं की तैयारी करें. टर्म इंश्योरेंस प्लान बहुत किफायती है, लेकिन फिर भी यह व्यक्ति और उसके परिवार को विस्तृत सुरक्षा देता है. अगर आपने स्वास्थ्य बीमा करा रखा है, तब भी आप कवरेज बढ़ाने के बारे में सोच सकते हैं. इसके अलावा चाइल्ड प्लान चुनकर आप अपने बच्चों के सपने पूरे करने, उनकी शिक्षा या विवाह की व्यवस्था कर सकते हैं.

Women’s Day 2021: निवेश के लिए महिलाओं के पसंदीदा विकल्प, किन लक्ष्यों को ध्यान में रखकर करती हैं इन्वेस्टमेंट?

इमरजेंसी फंड बनाएं

एक अच्छी योजना का जरूरी इमरजेंसी फंड है, जो बुरे दिनों में पैसों की कमी को पूरा करने में मदद करता है. मौजूदा आय, परिवार में सदस्यों की संख्या और एस्सेट्स के आधार पर एक छोटे इमरजेंसी फंड के साथ शुरुआत करें. पेचेक से बचत खाते में ऑटोमेटिक ट्रांसफर स्थापित करें. इमरजेंसी फंड इतना बड़ा होना चाहिए, जिससे कम से कम छह महीने तक मासिक खर्च चलाया जा सके और यह लिक्विड होना चाहिए.

 

(By: विनीत कपाही, हेड ऑफ मार्केटिंग, अवीवा इंडिया)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. Women’s Day 2021: महिलाएं कैसे बनें वित्तीय तौर पर स्वतंत्र और सुरक्षित? इन 6 बातों का रखें ध्यान

Go to Top