Term Insurance का प्रीमियम नए साल में बढ़ने के आसार, जानिए इसकी वजह, क्या सही होगा अभी प्लान लेना?

कोविड -19 महामारी के दौरान बड़ी संख्या में लोगों ने क्लेम किया है. इसलिए भी बीमा कंपनियां टर्म इंश्योरेंस प्लान्स के प्रीमियम जल्द बढ़ा सकती हैं.

Will there be a hike in term insurance plan premium in new year?
अगर आप टर्म इंश्योरेंस प्लान खरीदना चाहते हैं तो आपको जितनी जल्दी हो सके ऐसा कर लेना चाहिए.

Term Insurance Plan: अगर आप टर्म इंश्योरेंस प्लान खरीदना चाहते हैं तो आपको जितनी जल्दी हो सके ऐसा कर लेना चाहिए. दरअसल, एक्सपर्ट्स का कहना है कि जल्द ही टर्म इंश्योरेंस प्लान के प्रीमियम में बढ़ोतरी हो सकती है. टर्म इंश्योरेंस प्लान पॉलिसीधारक द्वारा चुनी गई अवधि तक लाइफ कवर प्रदान करता है. पॉलिसी अवधि के दौरान किसी भी समय मृत्यु होने पर नॉमिनी को बीमित राशि का भुगतान किया जाता है. वहीं, ऐसी लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी में मैच्योरिटी बेनिफिट नहीं होता.

प्रीमियम में बढ़ोतरी की ये हो सकती है वजह

एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर ग्लोबल री-इंश्योरेंस कंपनियां अपना रेट बढ़ाती हैं तो जल्द ही टर्म इंश्योरेंस प्लान भी महंगा हो सकता है. रीइंश्योरेंस कंपनी उन्हें कहा जाता है जो बीमा कंपनियों को इंश्योरेंस देने का काम करती हैं. एक्सपर्ट्स का कहना है कि इस तरह की जानकारियों को गोपनीय रखा जाता है. अंतिम रूप देने व रोल आउट करने के बाद ही जनता को इसकी सूचना दी जाती है.

LIC का IPO चालु वित्त वर्ष में आने की उम्मीद कम, पर सरकार को अंतिम तिमाही में लॉन्च किए जाने का है भरोसा

कोविड -19 महामारी के दौरान बड़ी संख्या में लोगों ने क्लेम किया है. इसलिए भी बीमा कंपनियां टर्म इंश्योरेंस प्लान्स की कीमतों में जल्द ही बढ़ोतरी कर सकती हैं. महामारी के चलते लोगों में इंश्योरेंस को लेकर जागरूकता भी बढ़ी है और अब ज्यादा से ज्यादा लोग इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदना चाहते हैं. एक्सपर्ट्स का कहना है कि कोविड -19 सहित कई वजहों के कारण, क्लेम की संख्या में बढ़ोतरी हुई और इसकी वजह से बीमा कंपनियों को अपेक्षा से अधिक पैसे देने पड़े. इसकी भरपाई के लिए व नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के खतरे के बीच कुछ री-इंश्योरेंस कंपनियां प्रीमियम में बढ़ोतरी कर सकते हैं.

हालांकि, एक्सपर्टस् का यह भी कहना है कि यह जरूरी नहीं है कि री-इंश्योरेंस कंपनियों के प्रीमियम में बढ़ोतरी के तुरंत बाद ही भारत में बीमा कंपनियां प्रीमियम में बढ़ोतरी कर दें. प्रीमियम बढ़ाना है या नहीं, यह पूरी तरह से बीमा कंपनी की स्ट्रेटजी पर निर्भर करता है. इसके साथ ही, प्रीमियम में कितना बदलाव किया जाएगा, यह भी कंपनी पर ही निर्भर करता है.

चुनाव आयुक्तों के साथ पीएमओ की ‘अनौपचारिक’ चर्चा पर सरकार की सफाई, कहा- पत्र में CEC को नहीं किया गया था संबोधित

क्या अभी प्लान लेना ठीक रहेगा?

MyInsuranceClub के सीईओ दीपक योहनन कहते हैं, “टर्म इंश्योरेंस ज्यादातर पॉलिसी अवधि के रूप में 25 साल से 40 साल की लंबी अवधि के लिए लिया जाता है. ऐसे में अगर आप यह प्लान खरीदने की योजना बना रहे हैं तो कम प्रीमियम पर इसका फायदा उठाने में समझदारी है. एक बार जब आप एक टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी खरीद लेते हैं, तो पॉलिसी की अवधि तक प्रीमियम नहीं बदलता है. 25 से 40 वर्षों की अवधि में काफी बचत की जा सकती है. मैं मौजूदा एनुअल इनकम के 20 गुना तक का टर्म इंश्योरेंस कवर जल्द से जल्द खरीदने की सलाह दूंगा.”

जीवन बीमा प्रीमियम उस दिन से लॉक हो जाता है जब कोई बीमा पॉलिसी खरीदता है. इसलिए, मौजूदा ग्राहक या ऐसे ग्राहक जो अगले कुछ दिनों में बीमा खरीदना चाहते हैं, उन्हें प्रीमियम में वृद्धि के बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं है. अगर प्रीमियम बढ़ता है तो उन पर इसका कोई असर नहीं होगा. टर्म प्लान कवरेज ऐसे लोगों के लिए बेहद जरूरी है, जिन पर परिवार या कुछ लोग आर्थिक तौर पर निर्भर हैं. ऐसे लोगों को जितनी जल्दी हो सके टर्म इंस्शोरेंस प्लान खरीद लेना चाहिए. एक बार पर्याप्त टर्म इंश्योरेंस कवर होने के बाद, आप बिना किसी चिंता के अपने लॉन्ग टर्म गोल्स के लिए फाइनेंशियल प्लानिंग कर सकते हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Financial Express Telegram Financial Express is now on Telegram. Click here to join our channel and stay updated with the latest Biz news and updates.

TRENDING NOW

Business News