सर्वाधिक पढ़ी गईं

इन बातों का रखें ध्यान, खारिज नहीं होगा आपका लोन एप्लीकेशन

आइए जानते हैं कि वे कौन से फैक्टर हैं जिनसे आपके लोन आवेदन पर फर्क पड़ सकता है और किस तरह से वे असर डालते हैं.

April 6, 2021 8:17 PM
why loan application gets rejected know main reasonsआइए जानते हैं कि वे कौन से फैक्टर हैं जिनसे आपके लोन आवेदन पर फर्क पड़ सकता है और किस तरह से वे असर डालते हैं.

घर या कार जैसे बड़े खर्चों के लिए ज्यादातर लोग बैंक या किसी वित्तीय संस्थान से कर्ज लेते हैं. वित्तीय संस्थानों से उन्हें ही लोन मिलता है जिनका सिबिल स्कोर अच्छा होता है. कुछ बैंक कम सिबिल स्कोर वालों को लोन ही नहीं देते हैं और अगर देते भी हैं, तो उस पर ब्याज बहुत अधिक देना पड़ता है. अच्छा सिबिल स्कोर होने पर वित्तीय संस्थानों से कई राहत मिल जाती हैं जैसे कि ब्याज कम देना या प्रोसेसिंग फीस में राहत. हालांकि सिबिल स्कोर अच्छा होने के बावजूद भी कभी-कभी लोन एप्लीकेशन रिजेक्ट हो जाती है.

बेहतर सिबिल स्कोर के बावजूद लोन आवेदन रिजेक्ट होने का सबसे बड़ा कारण आय है. इसके अलावा एक और फैक्टर आपके लोन आवेदन के खारिज होने में अपनी भूमिका निभाता है, वह है, आपकी उम्र. आइए जानते हैं कि वे कौन से फैक्टर हैं जिनसे आपके लोन आवेदन पर फर्क पड़ सकता है और किस तरह से वे असर डालते हैं.

इन वजहों से रिजेक्ट होता है लोन एप्लीकेशन

ज्यादा उम्र के आवेदकों को लोन देने में सावधानी

ज्यादातर वित्तीय संस्थान ऐसे लोगों को लोन देने में अतिरिक्त सावधानी अपनाते हैं जिनकी उम्र रिटायरमेंट के पास पहुंच जाती है. रिटायरमेंट की आयु के पास पहुंच चुके लोगों की नियमित आय का जरिया सीमित होने के कारण वित्तीय संस्थान ऐसे लोगों को आवेदन देने में सावधानी बरतती हैं. रिटायरमेंट के बाद ईएमआई भरने की अनिश्चितता को लेकर ही बेहतर सिबिल स्कोर के बावजूद लोन आवेदन खारिज हो सकता है.

कम आय के चलते रिजेक्ट हो जाएगा एप्लीकेशन

लोन के लिए आवेदन करते समय अपनी आय का खुलासा करना होता है. इससे आवेदक की लोन चुकाने की क्षमता का आकलन किया जाता है. इसके तहत वित्तीय संस्थान यह देखते हैं कि लोन आवेदक की आय कितनी है और उस पर कितने लोग निर्भर हैं और आय का स्रोत कितना स्थिर है यानी कि भविष्य में आय जारी रहने की कितनी संभावना है. अगर आय कम है तो सिबिल स्कोर बेहतर होने के बावजूद लोन आवेदन पास होने में दिक्कतें आ सकती हैं.

Top-Up Health Insurance Policy: कम प्रीमियम में पाएं अधिक हेल्थ कवर, इस तरह मिलेगा आपको फायदा

स्थिर जॉब नहीं होना

अगर आप किसी वित्तीय संस्थान से लोन के लिए आवेदन करते हैं, तो वे कम से कम दो साल के वर्क एक्सपीरिएंस की मांग करते हैं. वित्तीय संस्थान यह मांग इसलिए करते हैं ताकि आवेदक के रोजगार की स्थिति का आकलन किया जा सके और डिफॉल्ट के जोखिम को कम किया जा सके. अगर आवेदक किसी एक जगह पर स्थिर होकर जॉब नहीं कर रहा है, तो इससे लोन आवेदन के स्वीकृत होने की संभावना कम हो जाती है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. इन बातों का रखें ध्यान, खारिज नहीं होगा आपका लोन एप्लीकेशन

Go to Top