मुख्य समाचार:

क्या होता है SIP बूस्टर? रिटर्न के मामले में डबल हो जाता है फायदा, ये है पूरा प्रॉसेस

एक्सपर्ट भी कह रहे हैं कि पिछली गिरावट के बाद एसआईपी के जरिए अब सस्ते में मिल रही यूनिट बढ़ाने का सही अवसर है.

Published: June 17, 2020 4:03 PM
What is SIP Top-Up, SIP Booster, how you can make double return through SIP, know full process of SIP Top-Up, SIP calculator, एसआईपी टॉप-अप, एसआईपी बूस्टर, mutual fund investor, invest in mutual fund through SIP, SIP Top-Up can make investment target easy, SIP can make investors rich, investors wealthएक्सपर्ट भी कह रहे हैं कि पिछली गिरावट के बाद एसआईपी के जरिए अब सस्ते में मिल रही यूनिट बढ़ाने का सही अवसर है.

What is Top Up SIP: कोरोना संकट के बीच धीरे धीरे अर्थव्यवस्था खोली जा रही है. कारोबार धंधे पटरी पर लौटने लगे हैं. लॉकडाउन खुलने से लोगों की इनकम भी अब सुधरने लगी है. ऐसे में जिन लोगों ने अपनी एसआईपी पॉज कर दी थी या बंद कर दी थी, उनके लिए अब इसे टॉप अप कराने का समय आ गया है. एक्सपर्ट भी कह रहे हैं कि पिछली गिरावट के बाद अब सस्ते में मिल रही यूनिट बढ़ाने का सही अवसर है. इसके लिए नया एसआईपी शुरू करने के बजाय एसआईपी टॉप-अप की सुविधा चुननी चाहिए. यह सुविधा ज्यादातर फंड हाउसेज देते हैं. उनका कहना है कि ऐसा करने से सामान्य एसआईपी की तुलना में फायदा दोगुना या इससे भी ज्यादा हो सकता है. वहीं जिंदगी के निर्धारित लक्ष्य भी पहले ही पूरे होंगे.

क्या है SIP टॉप-अप या बूस्टर

एक ऐसी सुविधा है, जिसमें एक नियमित अंतराल पर तय रकम के जरिए एसआईपी में अपना निवेश बढ़ा सकते हैं. 6 महीने और 1 साल का अंतराल आप चुन सकते हैं. इसके तहत निवेशक के पास विकल्प होता है कि वह तय अंतराल पर शुरू की गई एसआईपी का कितना फीसदी और निवेश के लिए बढ़ाना चाहता है. यह 5 फीसदी, 10 फीसदी या इससे भी ज्यादा हो सकता है. इसे ऐसे समझ सकते हैं कि अगर आने 10 हजार मंथली एसआईपी का विकल्प लिया है और हर साल 10 फीसदी टॉप अप कराना चाहते हैं तो एक साल बाद मंथली एसआईपी 11000 रुपये हो जाएगी. जबकि दूसरे साल से यह 12100 रुपये हो जाएगी.

कैसे लें सुविधा का लाभ

पहले से चल रही एसआईपी में टॉप-अप कराया जा सकता है. यानी हर 6 महीने या 1 साल पर रकम बढ़ा सकते हैं. चाहें तो एसआईपी शुरू होते समय ही टॉप अप फैसिलिटी ले सकते हैं. इसके लिए फंड हाउस को तय प्रारूप में पहले ही यह जानकारी देनी होती है कि किस डेट से ऐसा करना चाहते हैं. ऐसा करने पर आपके द्वारा तय किए गए अंतराल के बाद आपके खाते से बढ़ी रकम कटने लगेगी. ज्यादातर बड़े फंड हाउसेज निवेशकों को यह सुविधा देते हैं. हालांकि ज्यादातर केस में बढ़ी रकम 500 रुपये या इसके मल्टीपल में होती है.

SIP टॉप-अप का फायदा

इसे एक उदाहरण से समझ सकते हैं. 30 साल के राजेश ने अपने बच्चे के भविष्य के लिए अगले 20 साल तक हर महीने 10,000 रुपये एसआईपी का विकल्प चुना है. उन्होंने जब इक्विटी म्यूचुअल फंड के रिटर्न चार्ट की स्टडी की तो देखा कि ऐसे कई फंड हैं, जिन्होंने पिछले 15 से 20 साल के दौरान लगातार 10 से 12 फीसदी या इससे ज्यादा रिटर्न दिया है. उन्होंने महंगाई को देखते हुए अपने निवेश पर अनुमानित रिटर्न 10 फीसदी माना है.

केस-1: रेगुलर SIP

मंथली SIP: 10,000 रुपये
अवधि: 20 साल
अनुमानित रिटर्न: 10 फीसदी
कुल निवेश: 24 लाख रुपये
20 साल बाद SIP वैल्यू: 76.6 लाख रुपये
फायदा: 52.56 लाख रुपये

केस-2: SIP टॉप-अप

शुरूआती मंथली निवेश: 10,000 रुपये
अवधि: 20 साल
अनुमानित रिटर्न: 10 फीसदी
हर 1 माह में टॉप अप: 1000 रुपये
कुल निवेश: 68.73 लाख रुपये
20 साल बाद SIP वैल्यू: 1.62 करोड़ रुपये
फायदा: 94 लाख रुपये

रेगुलर SIP और SIP टॉप अप में अंतर

यहां साफ है कि नॉर्मल एसआईपी में 20 साल के दौरान आपको कुल निवेश 24 लाख रुपये करना पड़ रहा है और इस पर फायदा करीब 52 लाख रुपये का है. वहीं टॉप अप एसआईपी में निवेश तो बढ़कर 68 लाख होगा, लेकिन इसमें कुल निवेश पर आपका फायदा करीब 94 लाख रुपये है. एसआईपी की वैल्यू जहां 76 लाख है, वहीं टॉप अप एसआईपी की वैल्यू 1.62 करोड़ रुपये है.

(नोट: हम यहां म्यूचुअल फंड में निवेश की सलाह नहीं दे रहे हैं. यहां एसआईपी कैलकुलेट के आधार पर एक जानकारी दी गई है. बाजार में जोखिम होते हैं, इसलिए निवेश के पहले एक्सपर्ट से सलाह लें.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. क्या होता है SIP बूस्टर? रिटर्न के मामले में डबल हो जाता है फायदा, ये है पूरा प्रॉसेस

Go to Top