सर्वाधिक पढ़ी गईं

महज 400 रुपये में 5 लाख तक का कोरोना इंश्योरेंस, जानिए क्या है Sachet Insurance

Sachet Insurance: सैशे इंश्योरेंस ऐसी पॉलिसी होती हैं जिसमें कम प्रीमियम चुका कर स्पेशिफिक कवर लिया जा सकता है.

Updated: Dec 18, 2020 12:31 PM
what is sachet insurance cover know here all the details to cover covid 19 only in 400 rupeesजिन लोगों को इंश्योरेंस के बारे में खास जानकारी नहीं है और फर्स्ट टाइम इंश्योरेंस बॉयर हैं, उनके लिए इस प्रकार के इंश्योरेंस बेहतर हैं.

What is Sachet Insurance: वाट्सऐप ने एक दिन पहले ‘फेसबुक फ्यूल फॉर इंडिया 2020’ इवेंट में इंश्योरेंस सेक्टर में प्रवेश करने की बात कही थी. वाट्सऐप की योजना सैशे इंश्योरेंस पॉलिसी बेचने की है. सैशे इंश्योरेंस ऐसी पॉलिसी होती हैं जिसमें कम प्रीमियम चुका कर स्पेशिफिक कवर लिया जा सकता है. इसे ऐसे समझ सकते हैं कि जैसे आप आईआरसीटीसी पर रेलवे टिकट बुक कराते हैं तो टैक्स सहित महज 49 पैसे में ही आपका इंश्योरेंस हो जाता है. इस कवरेज के तहत रेल यात्रा के दौरान कुछ भी अनहोनी, जैसे कि मृत्यु या पूर्ण विकलांगता होने पर 10 लाख रुपये का मुआवजा मिलता है. इस प्रकार के इंश्योरेंस को सैशे इंश्योरेंस की श्रेणी में रखा गया है जो कम प्रीमियम में (पैसे भी हो सकता है), अधिक कवर मिलता है.
कोरोना संक्रमित होने पर अस्पताल का बिल लाखों में आ जा रहा है. हालांकि महज 300-400 रुपये मासिक में कोविड-19 को लेकर 5 लाख तक का कवर मिल सकता है.

Sachet Insurance के कुछ उदाहरण

  • इस प्रकार का सबसे बड़ा उदाहरण आईआरसीटीसी के जरिए रेलवे टिकट बुक कराने पर महज 49 पैसे में मिलने वाला इंश्योरेंस कवर है. रेल यात्रा के द्वारा कोई अनहोनी होने पर बीमा कंपनी मुआवजा देती है. मृत्यु या पूर्ण विकलांगता होने पर 10 लाख रुपये और स्थायी तौर पर आंशिक विकलांगता पर 7.5 लाख रुपये तक का मुआवजा मिलता है. इसके अलावा घायल होने की स्थिति में अस्पताल के खर्च के तौर पर 2 लाख रुपये तक का मुआवजा मिलता है. इसके अलावा मृत्यु की दशा में शव को ले जाने के लिए 10 हजार रुपये तक का प्रावधान है
  • सेबी में रजिस्टर्ड फर्म एडवांटेज फाइनेंसियल प्लानर्स एलएलपी में रजिस्टर्ड वित्तीय सलाहकार तारेश भाटिया सैशे इंश्योरेंस का एक बेहतरीन उदाहरण कोविड-19 कवर का देते हैं. कोविड-19 इस समय पूरी दुनिया में महामारी की तरह फैली हुई है और इसके टीके के लिए दुनिया भर में कोशिशें चल रही हैं. इससे संक्रमित होने पर अस्पताल का खर्च बहुत अधिक होता है जो मिडिल क्लास फैमिली के लिए भी बहुत महंगा है. ऐसे में कोविड-19 को लेकर महज 300-400 रुपये तक में 5 लाख तक का इंश्योरेंस कवर लिया जा सकता है.
  • ट्रैवल का शौक है तो ट्रैवल कंपनियां आपको पैकेज के साथ ट्रैवल इंश्योरेंस का भी विकल्प सुझाती हैं. यह आपके यात्रा अवधि और डेस्टिनेशन इत्यादि पर निर्भर करता है. इसके तहत बैगेज चोरी होने, फ्लाइट में देरी जैसी स्थितियों को कवर किया जाता है. विमान कंपनियां भी यह इंश्योरेंस उपलब्ध कराती हैं. यहां तक कि महज 50 रुपये में 10 लाख तक का कवर लिया जा सकता है,
  • रोग की बात करें तो कोरोना का जिक्र ऊपर किया जा चुका है. कुछ कंपनियां विशेष तौर पर डेंगू, मलेरिया जैसी खतरनाक बीमारियों के लिए भी इंश्योरेंस कवर उपलब्ध कराती हैं.
  • ऐसे ही साइबर इंश्योरेंस है जिसके तहत महज 100-200 रुपये सालाना में ही 50 हजार तक का इंश्योरेंस मिल जाएगा. साइबर इंश्योरेंस के तहत अगर आपकी पहचान चुराकर किसी ने धोखाधड़ी करी तो आपको कवर मिलता है.
  • बैंक से मोबाइल के लिए लोन ले रहे हैं तो बैंक कुछ पैसे अतिरिक्त लेकर इंश्योरेंस उपलब्ध करा देती है. इसमें मोबाइल के चोरी होने पर कवर मिलता है.

किन लोगों को लेना चाहिए यह इंश्योरेंस

  • भाटिया के मुताबिक जिन लोगों को इंश्योरेंस के बारे में खास जानकारी नहीं है और फर्स्ट टाइम इंश्योरेंस बॉयर हैं, उनके लिए इस प्रकार के इंश्योरेंस बेहतर हैं.
  • इसके अलावा कोविड-19 जैसे मामलों में जो कभी-कभी विपरीत परिस्थितियां पैदा करती हैं और ऐसे समय में फंसने पर भारी खर्च से बचने के लिए कोई भी ले सकता है.
  • साइकिल से चलने वाले अधिकतर लोग इसकी सुरक्षा के प्रति सचेत नहीं रहते हैं और उन्हें इसकी जानकारी नहीं होती है कि महज 50 रुपये सालाना में इसे कवर किया जा सकता है. इस प्रकार यह उस आय वर्ग के लिए बेहतर इंश्योरेंस है जिनके लिए भारी प्रीमियम देना संभव नहीं है.

क्या सावधानियां बरतनी चाहिए

सैशे इंश्योरेंस लेने में क्या सावधानियां बरतनी चाहिए, यह इस पर निर्भर करता है कि आप इसे कहां से खरीद रहे हैं और क्या कवर ले रहे हैं. भाटिया के मुताबिक आमतौर पर यह ऑनलाइन ही मिलता है लेकिन इस प्रकार की पॉलिसी खरीदने से पहले टर्म्स एंड कंडीशंस जरूर पढ़ लें क्योंकि इससे यह सुनिश्चित हो सकेगा कि किन परिस्थितियों में पूरा कवर मिलेगा. जैसे कि कोरोना की बात करें तो इससे संक्रमित होने की स्थिति में कोरोना टेस्ट चार्ज कवर होगा या नहीं, इसका भी पता कर लें.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. महज 400 रुपये में 5 लाख तक का कोरोना इंश्योरेंस, जानिए क्या है Sachet Insurance

Go to Top