मुख्य समाचार:

बड़े काम की है बैंकों की NEFT, RTGS और IMPS सर्विस, जानिए पूरी डिटेल

जब भी इंटरनेट बैकिंग की बात आती है तो फंड ट्रांसफर के तीन तरीके सुनने में आते हैं- NEFT, RTGS और IMPS. लेकिन इनके इस्तेमाल से पहले इनके बीच के अंतर को जान लेना बेहद जरूरी है.

November 12, 2018 1:49 PM
what is NEFT, RTGS and IMPS in fund transfer key differences, online banking, offline bankingImage: Reuters

कैश पेमेंट कम किए जाने पर दिए जा रहे जोर के चलते देश में डिजिटल पेमेंट का चलन तेजी से बढ़ा है. ऐसे में इंटरनेट बैंकिंग करने वालों की संख्या में भी इजाफा हुआ है. जब भी इंटरनेट बैकिंग की बात आती है तो फंड ट्रांसफर के तीन तरीके सुनने में आते हैं- NEFT, RTGS और IMPS. लेकिन इनके इस्तेमाल से पहले इनके बीच के अंतर को जान लेना बेहद जरूरी है. आइए बताते हैं इस बारे में पूरी डिटेल-

NEFT

NEFT यानी नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर के तहत फंड ट्रांसफर का सेटलमेंट एक निश्चित समय पर होता है. इसका अर्थ है कि आपने जो फंड ट्रांसफर किया है वह तुरंत नहीं पहुंचेगा. बैंकों में NEFT के लिए फंड सेटलमेंट साइकिल पूरा दिन कुछ समय के अंतराल पर चलता है. आमतौर पर यह अंतराल 60 मिनट का होता है. अगर किसी ने इस अंतराल में NEFT का इस्तेमाल किया तो फंड अगले शुरू होने वाले साइकिल में ट्रांसफर होगा. इस सुविधा के लिए फंड भेजने वाले और पाने वाले दोनों का NEFT नेटवर्क का हिस्सा होना जरूरी है. NEFT का इस्तेमाल आॅनलाइन के अलावा बैंक ब्रांच जाकर भी किया जा सकता है.

बैंकों में NEFT के लिए फंड सेटलमेंट साइकिल आमतौर पर कामकाजी दिनों में 11 घंटे (सुबह 8 से शाम 7 बजे तक) का और शनिवार को 5 घंटे (सुबह 8 से दोपहर 1 बजे तक) का होता है. रविवार को व छुट्टी वाले दिन यह साइकिल नहीं रहता है.

NEFT के जरिए ट्रांसफर किए जाने वाले फंड के लिए कोई मिनिमम लिमिट नहीं है, वहीं मैक्सिमम लिमिट अलग-अलग बैंकों में अलग-अलग हो सकती है. कुछ बैंकों में इसके लिए कोई मैक्सिमम लिमिट नहीं है. इसी तरह ट्रांजेक्शन फीस भी कुछ बैंकों में बिल्कुल नहीं और कुछ बैंकों में अलग-अलग फंड लिमिट के लिए अलग-अलग है.

what is NEFT, RTGS and IMPS in fund transfer key differences, online banking, offline bankingImage: PTI

RTGS

RTGS यानी रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट के जरिए तुरंत फंड ट्रांसफर किया जा सकता है. यह बड़े ट्रांजेक्शंस में काम आता है. RTGS के जरिए 2 लाख रुपये से कम अमाउंट ट्रांसफर नहीं हो सकता है. मैक्सिमम लिमिट और ट्रांजेक्शन फीस अलग-अलग बैंकों में अलग-अलग है. सप्ताह के कामकाजी दिनों और हाफडे में बैंक के कामकाजी घंटों के दौरान कभी भी RTGS का इस्तेमाल किया जा सकता है. लेकिन रविवार और छुट्टी वाले दिनों में RTGS सर्विस उपलब्ध नहीं होती. इसे आॅनलाइन और बैंक ब्रांच दोनों माध्यमों से इस्तेमाल किया जा सकता है.

IMPS

IMPS यानी इमीडिएट पेमेंट सर्विस के जरिए तुरंत फंड ट्रांसफर होता है और यह सर्विस सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे उपलब्ध रहती है. IMPS से फंड ट्रांसफर की मिनिमम लिमिट नहीं है लेकिन एक ट्रांजेक्शन में आम तौर पर मैक्सिमम 2 लाख रुपये ही ट्रांसफर किए जा सकते हैं. हालांकि यह लिमिट अलग-अलग बैंकों में अलग-अलग हो सकती है. इसके लिए ट्रांजेक्शन फीस भी बैंकों के हिसाब से भिन्न होती है. IMPS को केवल आॅनलाइन ही इस्तेमाल किया जा सकता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. बड़े काम की है बैंकों की NEFT, RTGS और IMPS सर्विस, जानिए पूरी डिटेल

Go to Top