मुख्य समाचार:

भारतीय मिलेनियल्स क्या चाहते हैं और वे इसके लिए कितने तैयार हैं?

इस सर्वे से पता चला है कि बदलते समय के बावजूद, वेल्थ, भारतीय मिलेनियल्स की सबसे बड़ी प्रायोरिटी या प्राथमिकता है जिसके बाद वे हेल्थ और फेम को अधिक महत्व देते हैं.

July 30, 2018 6:39 PM
इस सर्वे से पता चला है कि बदलते समय के बावजूद, वेल्थ, भारतीय मिलेनियल्स की सबसे बड़ी प्रायोरिटी या प्राथमिकता है जिसके बाद वे हेल्थ और फेम को अधिक महत्व देते हैं. (Reuters)

मुख्य आयकर्ता की भूमिका में युवा पीढ़ी के लोगों की लगातार बढ़ती संख्या के कारण पिछले दशक में भारत में इनकम करने वाले लोगों की संख्या में भारी बदलाव आया है. इस परिस्थिति में आपके मन में यह बात उठ सकती है कि भारत के मिलेनियल्स क्या चाहते हैं.

यह पता लगाने के लिए कि 25 से 35 के बीच की यह पीढ़ी क्या चाहती है, बैंक बाज़ार ने कैंटर आईएमआरबी के साथ मिलकर एक सर्वे किया. बैंक बाज़ार की इस महत्वाकांक्षा सूची का उद्देश्य एक पर्सनल फाइनेंस की दृष्टि से भारतीय मिलेनियल्स की इच्छाओं को समझने का प्रयास करना है. यह महत्वाकांक्षा सूची या एस्पिरेशन इंडेक्स अपनी तरह का एक पहला इंडिकेटर है जो निम्नलिखित छः लक्ष्यों के आधार पर मिलेनियल्स की उम्मीदों और इच्छाओं का पता लगाता है – वेल्थ यानी धन, फेम यानी प्रसिद्धि, इमेज यानी प्रतिष्ठा, रिलेशनशिप यानी रिश्ता, पर्सनल ग्रोथ यानी व्यक्तिगत वृद्धि, और हेल्थ यानी स्वास्थ्य.

इस सर्वे से पता चला है कि बदलते समय के बावजूद, वेल्थ, भारतीय मिलेनियल्स की सबसे बड़ी प्रायोरिटी या प्राथमिकता है जिसके बाद वे हेल्थ और फेम को अधिक महत्व देते हैं. इन महत्वाकांक्षाओं के मामले में अलग-अलग इलाके के लोगों की सोच में काफी अंतर है लेकिन कुल मिलाकर लगभग 69% मिलेनियल्स अभी भी अपना खुद का घर खरीदने की बात को सबसे ज्यादा महत्व देते हैं.

इस अध्ययन से यह भी पता चला है कि 61% से ज्यादा मिलेनियल्स को इन महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने के लिए कर्ज लेने में भी कोई दिक्कत नहीं है. इस अध्ययन में पाया गया है कि भारतीय मिलेनियल्स का एस्पिरेशन इंडेक्स काफी अधिक यानी 87.43 है जिससे उनके अत्यंत प्रेरित और विश्वासी नजरिए का पता चलता है. क्षेत्र के आधार पर, दक्षिण भारत के मिलेनियल्स का एस्पिरेशन इंडेक्स सबसे अधिक यानी 88.5 है, जो राष्ट्रीय औसत से भी अधिक है, जहाँ चेन्नई इस इंडेक्स में 88.8 के साथ पूरे भारत में सबसे ऊंचे स्थान पर है.

इस इंडेक्स में उत्तरी, पूर्वी और पश्चिमी भारत का स्थान क्रमशः 87.7, 86.6, और 86.0 है. शहरों के मामले में, चेन्नई सबसे ऊंचे स्थान पर है जिसके बाद जयपुर आश्चर्यजनक ढंग से 88.5 के साथ दूसरे स्थान पर है. इससे पता चलता है कि गैर-महानगरी मिलेनियल्स कितने महत्वाकांक्षी हैं और वे किस तरह अपने सपनों को पूरा करने की कोशिश करते हैं.

बढ़ते करिअर विकल्पों, फाइनेंशियल आजादी, और सामाजिक मानदंडों में हुए बदलावों के कारण, अब अधिक से अधिक महिलाएं भी बड़े-बड़े सपने देखने का साहस करने लगी हैं क्योंकि महत्वाकांक्षाओं के मामले में महिलाओं का स्कोर पुरुषों से अधिक है.

इमेज और फेम कमाने की चाह रखने वाले लोगों के मामले में लखनऊ का स्कोर अधिक है जिन 12 महानगरों और गैर-महानगरों का सर्वे किया गया था, उनमें से लखनऊ कई महत्वाकांक्षाओं के चार्ट में सबसे ऊंचे स्थान पर है. उत्तरप्रदेश राज्य में जिन लोगों का सर्वे किया गया था उन लोगों ने बताया कि उनके लिए चार लक्ष्य सबसे अधिक महत्वपूर्ण हैं – लेटेस्ट फैशन के हिसाब से चलना, मॉडर्न दिखना, अपने कार्य स्थल में अपनी एक पहचान बनाना, और शारीरिक रूप से चुस्त और मानसिक रूप से तेज बनना. इन चार लक्ष्यों के मामले में लखनऊ, अन्य 11 शहरों की तुलना में सबसे ऊंचे स्थान पर था.

आपके लिए सबसे अधिक महत्वपूर्ण क्या है?
सबसे अधिक महत्वपूर्ण लक्ष्यसबसे ऊंचे स्थान परराष्ट्रीय स्थान
वेल्थएक घर खरीदनाचेन्नई (77)69
काफी पैसे कमानाचेन्नई (63)54
पूरी दुनिया की सैर करनाबैंगलोर (56)46
इमेजलेटेस्ट फैशन के हिसाब से चलनालखनऊ (52)40
मॉडर्न दिखनालखनऊ (50)42
एक कार खरीदनाजयपुर (48)40
फेमकार्य स्थल में अपनी एक पहचान बनानाचेन्नई, जयपुर, लखनऊ (55)49
रोल मॉडलजयपुर (62)46
दोस्तों के बीच अपनी एक अलग पहचान बनानाजयपुर (49)41
रिलेशनशिपटिकाऊ और लम्बे समय तक रहने वाली दोस्तीजयपुर (54)44
परिवार के साथ करीब से जुड़नाचेन्नई, दिल्ली (53)47
एक शानदार शादी के लिए पैसों का इंतजाम करनाचेन्नई (42)36
बच्चों को अच्छी से अच्छी शिक्षा देनाचेन्नई, बैंगलोर (61)53
पर्सनल ग्रोथअपने आपको हमेशा एक नए अंदाज़ में पेश करनाचेन्नई, बैंगलोर (50)44
अपने सपनों को पूरा करने की कोशिश करनाजयपुर (56)47
अलग-अलग तरीके अपनानाजयपुर (48)39
हेल्थशारीरिक दृष्टि से चुस्त और मानसिक दृष्टि से तेज बननालखनऊ (66)56
हेल्थ को बेहतर बनाने का प्रयास करनाभुवनेश्वर (55)47

महत्वाकांक्षा संबंधी अंतराल

स्पष्ट महत्वाकांक्षाओं के बावजूद, लक्ष्यों में महत्वाकांक्षा-तैयारी संबंधी अंतराल है. इसका मतलब है कि मिलेनियल्स इन महत्वाकांक्षाओं को पूरा करना तो चाहते हैं लेकिन सेविंग और प्लानिंग की दृष्टि से उनकी तैयारी में अंतराल दिखाई देता है. उदाहरण के लिए, एक विशेष मिलेनियल की सबसे बड़ी प्रायोरिटी है – वेल्थ, ख़ास तौर पर एक घर खरीदना. लेकिन, इस विशेष लक्ष्य में, सबसे उच्च कोटि की महत्वाकांक्षा-तैयारी अंतराल से जुड़े 12 पॉइंट्स में से एक पॉइंट मौजूद है.

लोगों की धारणा के विपरीत, अध्ययन से पता चला है कि मिलेनियल्स, बचत और निवेश करने के बड़े शौक़ीन हैं. उनके निवेश के साधनों में एफडी से लेकर म्यूच्यूअल फंड तक शामिल हैं और इसका परिमाण कुल मिलाकर उनके वॉलेट शेयर का एक-तिहाई हिस्सा तक हो सकता है.

अपने फाइनेंस को मैनेज करना

नए जमाने के कई फाइनेंशियल साधनों की मदद से मिलेनियल्स का एक बहुत बड़ा प्रतिशत, लगभग 91% लोगों ने कहा कि वे अपने फाइनेंस को खुद मैनेज करते हैं और बाकी लोगों का कहना है कि इसके लिए वे अपने परिवार के किसी अन्य सदस्य या अपने सीए/रिलेशनशिप मैनेजर पर भरोसा करते हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. भारतीय मिलेनियल्स क्या चाहते हैं और वे इसके लिए कितने तैयार हैं?

Go to Top