मुख्य समाचार:

विंटर वैकेशन में विदेश घूमने का है प्लान? क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल में याद रखें ये 5 सबक

जरूरी नहीं कि क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल भारत में और सभी बाहरी देशों में समान हो.

November 10, 2019 4:47 PM
using a credit card in abroad always remember these 5 things Image: Reuters

विंटर वैकेशन नजदीक आ रही हैं. ऐसे में अगर आप विदेश घूमने का प्लान कर रहे हैं तो पासपोर्ट और सामान के साथ एक और चीज का विशेष ध्यान रखना चाहिए. वह है मोड ऑफ पेमेंट. विदेश यात्रा के दौरान बहुत ज्यादा कैश लेकर चलना सुरक्षा के लिहाज से उपयुक्त नहीं है. साथ ही इस बात को लेकर भी परेशानी बनी रहती है कि कितने रुपये विदेशी करेंसी में बदलें. यहां आपके काम आ सकता है क्रेडिट कार्ड.

विदेश टूर के दौरान क्रेडिट कार्ड ​सुविधाजनक और सुरक्षित तो है ही, साथ ही यह आपकी खरीद क्षमता को भी बढ़ाता है. इसके अलावा क्रेडिट कार्ड से ट्रांजेक्शन पर कई तरह के ऑफर और कैशबैक भी मिलते हैं. लेकिन इसके साथ एक सावधानी भी है. वह यह कि जरूरी नहीं कि क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल भारत में और सभी बाहरी देशों में समान हो. विदेश के मामले में इसमें अंतर भी हो सकता है. विदेश दौरे के दौरान क्रेडिट कार्ड को लेकर आपको क्या सावधानी बरतनी चाहिए, आइए जानते हैं…

सभी कार्ड सभी जगह काम नहीं आते

हो सकता है कि आपका क्रेडिट कार्ड भारत में अधिकतर जगह स्वीकार किया जाता हो लेकिन दूसरे देशों में भी ऐसा हो, यह जरूरी नहीं. जिस देश के के दौरे पर जा रहे हैं, ध्यान से इस बात को जान लें कि आपका क्रेडिट कार्ड उस देश में मान्य हो. अगर ऐसे कार्ड के साथ ट्रैवल करेंगे, जो उस देश में काम ही न करे तो क्रेडिट कार्ड ले जाने का क्या फायदा.

इसलिए ऐसा कार्ड लेकर जाएं तो अधिकतर देशों में मान्य हो और उससे ट्रांजेक्शन स्वीकार किए जाते हों. इस बारे में अपनी कार्ड कंपनी या बैंक से पता कर लें. चाहें तो एक से अधिक कार्ड भी ले जा सकते हैं.

इंटरनेशनल लेन देन पर लगते हैं चार्ज

विदेश में क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करने पर कुछ एक्स्ट्रा चार्जेज देने होते हैं. फॉरेन करेंसी कन्वर्जन फीस, फॉरेन ट्रांजेक्शन फीस और कैश एडवांस फीस ये तीन प्रमुख चार्ज होते हैं. फॉरेन करेंसी कन्वर्जन फीस करीब 1-2 फीसदी होती है, जो भारतीय रुपये को विदेशी करेंसी में बदलने के लिए ली जाती है. फॉरेन ट्रांजेक्शन फीस, ट्रांजेक्शन रकम की 2.5-3.5 फीसदी होती है, जो क्रेडिट कार्ड कंपनी चार्ज करती है. इसके अलावा कैश निकालने पर आपको ट्रांजेक्शन रकम का करीब 1-4 फीसदी निकासी फीस देनी होता है.

विंटर में विदेश घूमने के लिए बनवाना है पासपोर्ट, स्मार्टफोन से ऐसे कर सकते हैं अप्लाई

अपनी खर्च सीमा को जान लें

विदेश जाने से पहले आप अपने क्रेडिट कार्ड की लिमिट को जरूर जान लें. फॉरेन ट्रिप्स महंगे होते हैं और यदि आपके पास ज्यादा क्रेडिट लिमिट नहीं है तो क्रेडिट कार्ड लिमिट पूरी होने पर और लेनदेन नहीं किया जा सकता है. आसान विदेश यात्रा के लिए आप अपने क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़ा लें या फिर एक से अधिक क्रेडिट कार्ड साथ ले जाएं. साथ ही यह भी पता कर लें कि आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट देश और विदेश दोनों में समान है या इसमें अंतर है.

कार्ड प्रोटेक्शन प्लान लें

क्रेडिट कार्ड को धोखाधड़ी वाले लेनदेन, चोरी होने, गुम होने आदि से बचाने के लिए अपनी क्रेडिट कार्ड कंपनी से कार्ड प्रोटेक्शन प्लान यानी CPP ले सकते हैं. न सिर्फ क्रेडिट कार्ड बल्कि डेबिट कार्ड सहित अन्य डाक्युमेंट्स भी प्रोटेक्शन प्लान के तहत सुरक्षित कर सकते हैं. ट्रिप के दौरान क्रेडिट कार्ड के गुम हो जाने पर CPP आपको इमरजेंसी हेल्प करते हुए यात्रा और होटल का खर्च आपके द्वारा चुने गए प्लान के तहत उठाती है.

कस्टमर सर्विस नंबर का रखें ध्यान

क्रेडिट कार्ड प्रदाता कंपनी के पास ग्राहकों को किसी भी दिक्कत से निजात दिलाने के लिए कस्टमर सर्विस होती है, जिसके जरिए ग्राहक क्रेडिट कार्ड के मामले में किसी भी तरह की दिक्कत को लेकर मदद ले सकते हैं. कस्टमर सर्विस नंबर को याद कर लें या कहीं ध्यान से नोट कर लें ताकि इमरजेंसी में आपको दिक्कत का सामना न करना पड़े. इसके जरिए आप किसी भी धोखाधड़ी आदि से बच सकते हैं.

Article By: Adhil Shetty, CEO, bankbazaar.com

SBI Alert! चेक करना है बैंक अकाउंट स्टेटस तो न करें ये गलती, वर्ना हो जाएगा बड़ा नुकसान

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. विंटर वैकेशन में विदेश घूमने का है प्लान? क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल में याद रखें ये 5 सबक

Go to Top