मुख्य समाचार:
  1. Home Loan लेने से पहले जरूर जान लें ये 5 बातें, नहीं होगा नुकसान

Home Loan लेने से पहले जरूर जान लें ये 5 बातें, नहीं होगा नुकसान

Home Loan लेना भी आसान नहीं है क्योंकि इसमें कई डाक्यूमेंट्स शामिल होते हैं जिसके लिए आपको बहुत भाग-दौड़, समय, धैर्य की जरुरत होती है.

September 3, 2018 7:12 AM
Home Loan लेना भी आसान नहीं है क्योंकि इसमें कई डाक्यूमेंट्स शामिल होते हैं जिसके लिए आपको बहुत भाग-दौड़, समय, धैर्य की जरुरत होती है.

हम सभी अपने जीवन में कभी न कभी घर खरीदना चाहते हैं. हालांकि, ऊंचे प्रोपर्टी रेट के कारण हमें घर खरीदने में कई बार देरी हो जाती है. Home Loan लेना भी आसान नहीं है क्योंकि इसमें कई डाक्यूमेंट्स शामिल होते हैं जिसके लिए आपको बहुत भाग-दौड़, समय, धैर्य की जरुरत होती है.

Home Loan के लिए आवेदन करते वक्त आपको इन 5 बातों का ख्याल रखना चाहिए.

नौकरी और आय की स्थिरता

आपकी नौकरी और उसकी स्थिरता सबसे महत्वपूर्ण कारकों में से है जो Loan देने वाला ध्यान में रखता है. आपको उधार देते वक्त, उधार देने वाला आपकी नेट सैलरी, अपेक्षित खर्च और आपके मौजूदा ईएमआई खर्च पर गौर करते हैं. वे आपकी मासिक आय का करीब 55-60 फीसदी मानते हैं क्योंकि कुल ऋण चुकौती के लिए एक्स्ट्रा सरप्लस भी चाहिए. यह देखते हुए कि Home Loan एक लंबे वक्त के लिए है और संभवतः आपके लिए सबसे बड़ा क्रेडिट एक्सपोजर होगा, ऋण को अंतिम रूप देने से पहले भविष्य के रोजगार और आय की स्थिति पर स्पष्टता होना समझदारी है.

Credit Score चेक करें

CIBIL, CRIF, Experian और Equifax आदि जैसे भारत में कई संस्थान हैं जो भारत में ग्राहकों को क्रेडिट स्कोर बताते हैं. ये ब्यूरो आपके क्रेडिट स्कोर को 300 से 900 के पैमाने पर मापते हैं, जिसका मूल्यांकन आपके क्रेडिट कार्ड का उपयोग, Loan, रीपेमेंट और पिछला लोन या क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल आदि के आधार पर किया जाता है. Home Loan मिलने की संभावनाओं को बेहतर बनाने के लिए आपके क्रेडिट स्कोर को समान्यतः 700 से अधिक होना चाहिए. यदि आपका क्रेडिट कार्ड ड्यूज और ऋण भुगतान करने का तरीका बेहतर नहीं है तो Home Loan आवेदन करने से पहले इसे सही कर लें.

ब्याज दर, फीस और शुल्क

जब कभी ऋण लेने की बात आती है तो सबसे पहले ब्याज दर की बात ध्यान आती है. ब्याज दर दो तरह के होते हैं- फिक्स्ड और फ्लोटिंग. फिक्स्ड दर वह है जो बाजार में उतार-चढ़ाव से प्रभावित नहीं होती है, जबकि फ्लोटिंग रेट बदलती है रहती. सामान्यतया फिक्स्ड रेट, फ्लोटिंग रेट से कुछ अधिक रहती है. आपको दोनों मामलों के फायदे और नुकसान समझने चाहिए. आपको Home Loan लेने की प्रक्रिया से जुड़े विभिन्न फीस और शुल्कों का ध्यान रखना चाहिए. इनमें से कुछ फीस और शुल्कों में लोन प्रोसेसिंग फीस, देर से भुगतान पर जुर्माना, वेरीफिकेशन फीस और सर्विस टैक्स चार्ज शामिल हैं.

ऋण की अवधि

ऋण की अवधि जितनी अधिक होगी, ब्याज का भुगतान उतना अधिक करना होगा. इसलिए, ऋण चुकाने की अवधि जितनी कम हो सके उतनी कम रखने की सलाह दी जाती है ताकि आप ज्यादा भुगतान करने से बचें. हालांकि, भुगतान क्षमता को ध्यान में रखते हुए ऋण कार्यकाल कैलकुलेट की जानी चाहिए.

डॉक्यूमेंटेशन

जब आप Home Loan के लिए डाक्यूमेंट्स प्रोसेस से गुज़रते हैं तो ध्यान रहे कि आप डाक्यूमेंट्स में लिखे सभी नियमों और शर्तों को ध्यान से पढ़े और समझें.

Home Loan आवेदन प्रक्रिया के बारे में जानकारी की कमी एक प्रमुख कारण है कि ज्यादातर लोग या तो कोई ऋण लेने से दूर रहते हैं. इन बातों को ध्यान में रखते हुए आपको Home Loan के संबंध निर्णय लेने में आसानी हो सकती है.

(इसकी लेखक मनीषा लाथ गुप्ता, क्लिक्स कैपिटल की चीफ मार्केटिंग और डिजिटल ऑफिसर हैं.)

Go to Top