मुख्य समाचार:

सर्दियों में विदेश घूमने का है प्लान? जान लें ये 6 चीजें ट्रैवल इंश्योरेंस में नहीं होती कवर

लोग इस बात को नहीं समझते हैं कि ट्रेवल इंश्योरेंस कितना जरूरी है और यह वास्तव में क्या कवर करता है. विदेश यात्रा संबंधी रिस्क से प्रोटेक्शन के लिए ट्रेवल इंश्योरेंस लेना महत्वपूर्ण है.

December 1, 2018 8:17 AM
travel insurance, travel insurance exclusions, travel insurance trips, international travel, travelling abroad, Pre Existing Illness, Adventure Sportsलोग इस बात को नहीं समझते हैं कि ट्रेवल इंश्योरेंस कितना जरूरी है और यह वास्तव में क्या कवर करता है. विदेश यात्रा संबंधी रिस्क से प्रोटेक्शन के लिए ट्रेवल इंश्योरेंस लेना महत्वपूर्ण है.

पिछले कुछ सालों में भारतीयों ने विदेश जाने में रूचि बढाई है. वर्ल्ड टूरिज्म आर्गेनाइजेशन (UNWTO) के एक रिपोर्ट मुताबिक, साल भर में करीब 2.5 करोड़ भारतीय छुट्टियों में विदेश का दौरा करते हैं. ऐसा अनुमान है कि 2020 तक यह संख्या बढ़कर 5 करोड़ हो जाएगी. विदेश यात्रा में हो रहे बढ़ोतरी से ट्रेवल इंश्योरेंस में भारी बढ़ोतरी देखी गई है. कई इंडस्ट्री रिपोर्ट्स के मुताबिक, साल 2017 में इंटरनेशनल ट्रेवल इंश्योरेंस मार्केट 580 करोड़ का रहा है. जबकि 2016 वित्तीय वर्ष में यह 536 करोड़ का रहा था.

हालांकि ट्रेवल इंश्योरेंस इतने बड़े बिजनेस के बाद भी कई लोग विदेश यात्रा के दौरान ट्रेवल इंश्योरेंस नहीं लेते हैं. अधिकतर लोग इस बात पर इतना ध्यान नहीं देते हैं कि ट्रेवल इंश्योरेंस, विदेश यात्रा के दौरान टॉप प्रायोरिटी में से है. लोग इस बात को नहीं समझते हैं कि ट्रेवल इंश्योरेंस कितना जरूरी है और यह वास्तव में क्या कवर करता है. विदेश यात्रा संबंधी रिस्क से प्रोटेक्शन के लिए ट्रेवल इंश्योरेंस लेना महत्वपूर्ण है.

पुरानी बीमारियों के लिए इंश्योरेंस कवर नहीं मिलता

आपके ट्रेवल इंश्योरेंस में किसी भी प्री मेडिकल कंडीशन को नहीं शामिल किया जाता है. इसका मतलब यह है कि ट्रेवल इंश्योरेंस खरीदने से पहले आपकी कोई बीमारी इंश्योरेंस में शामिल नहीं है. इंश्योरेंस ऐसी किसी भी घाटे को कवर नहीं करती है जिसके लिए ट्रेवल इंश्योरेंस खरीदने से पहले इसके लक्षण थे. यदि एकाएक हेल्थ कंडीशन में खराबी होती है यह ट्रेवल इंश्योरेंस के तहत आता है

डेंटल केयर और मेंटल या इमोशनल डिसऑर्डर के कारण नुकसान

यदि आप विदेश यात्रा के दौरान रूटीन डेंटल केयर करते हैं, तो यह आपके ट्रेवल इंश्योरेंस में शामिल नहीं होगा. हालांकि कुछ पॉलिसी के तहत के तहत डेंटल ट्रॉमा को कवर किया जा सकता है, लेकिन कैजुअल चेक-अप कभी कवर नहीं होते हैं. डेंटल केयर के अलावा, स्किज़ोफ्रेनिया, बाईपोलर या डिप्रेशन जैसी चीजें ट्रेवल इंश्योरेंस के तहत शामिल नहीं होती है. हालांकि, अगर इन दोनों ट्रीटमेंट को किसी स्पेसिफिक बीमारी के इलाज के लिए हॉस्पिटल में भर्ती कराया जाता है, तो ट्रेवल इंश्योरेंस में किए गए सभी खर्च शामिल होते हैं.

ये भी पढ़ें…No EMI Till पजेशन: प्रॉपर्टी खरीदने से पहले जान लें सबवेंशन स्कीम का गणित

एडवेंचर स्पोर्ट्स या रिस्की एक्टिविटीज

यदि आप अपने फॉरेन डेस्टिनेशन के दौरान एडवेंचर स्पोर्ट्स या किसी भी रिस्की एक्टिविटीज में शामिल होते हैं तो ध्यान रहे कि अधिकतर ट्रेवल इंश्योरेंस कंपनियां इन चीजों को इंश्योरेंस के दायरे से बहार रखती हैं. एडवेंचर स्पोर्ट्स या रिस्की एक्टिविटीज में स्काइडाइविंग, राफ्टिंग, स्कूबा डाइविंग, बंजी जंपिंग, स्नोबोर्डिंग आदि सहित कई चीजें शामिल होती हैं. हालांकि, कुछ ही ट्रेवल इंश्योरेंस कंपनियां इन एडवेंचर स्पोर्ट्स या रिस्की एक्टिविटीज को कवर करती हैं लेकिन इंटरनेशनल ट्रेवल के लिए एक एड-ऑन कवर के रूप में. Go Digit ऐसी ही एक इंश्योरेंस कंपनी है जो अपनी पॉलिसी के तहत अधिकतर एडवेंचर एक्टिविटीज को शामिल करती है; हालांकि, ऐसी पॉलिसी का प्रीमियम कीमत सामान्य इंश्योरेंस पॉलिसी से अधिक रहती है.

जारी नेचुरल डिजास्टर्स

ट्रेवल इंश्योरेंस सिर्फ नेचुरल डिजास्टर्स को शामिल करता है जो ट्रेवल इंश्योरेंश की खरीद के बाद हुई हैं या अनाउंस की गई हैं. ट्रेवल कवर के तहत, आपको एक साइक्लोन या हर्रीकेन से पहले इंश्योरेंस खरीदना होगा या मेट्रोलॉजिकल विभाग द्वारा नामित किया जाना चाहिए. ज्वालामुखी विस्फोट जैसी किसी भी अन्य प्राकृतिक आपदा के मामले में, यदि आप ज्वालामुखी विस्फोट होने के दौरान ट्रेवल इंश्योरेंस खरीदते हैं, तो ज्वालामुखी विस्फोट के कारण आपकी यात्रा बाधित होने पर आपको कवर नहीं मिलेगा.

आपके लगेज का सब कुछ कवर नहीं होता

यदि आपका बैगेज गुम हो जाता है या कोई देरी होती है या फिर कोई डैमेज होती है तो इंश्योरेंस पॉलिसी के तहत बैग के सभी सामान का नुकसान नहीं कवर होता है. अधिकतर इंश्योरेंस पॉलिसी के तहत, एक निश्चित कीमत तक कवर होते हैं और यदि आप अपने बैग में कई महंगी इलेक्ट्रॉनिक सामान ले रहे हैं, तो ध्यान रहे कि कंपनी आपके पूरे नुकसान को कवर नहीं कर सकती है. ट्रेवल इंश्योरेंस से कुछ सामान्य चीजें जैसे सन ग्लासेज, पासपोर्ट, मोबाइल, टिकट, कैश और डेंटल ब्रिजेस शामिल नहीं होती हैं.

माइल्स के साथ खरीदी गईं उड़ानें

अधिकतर ट्रेवल इंश्योरेंस पॉलिसियां अक्सर फ्लायर मील या पॉइंट्स से खरीदी गई उड़ानों को कवर नहीं करती हैं. हालांकि, यदि आप एक अवार्ड किराया को रद्द या बदलने का फैसला करते हैं तो ट्रेवल इंश्योरेंस संबंधित फीस को कवर कर सकता है.

(इसके लेखक तरुण माथुर, पॉलिसीबाजार डॉट कॉम के जनरल इंश्योरेंस के चीफ बिजनेस ऑफिसर हैं.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. सर्दियों में विदेश घूमने का है प्लान? जान लें ये 6 चीजें ट्रैवल इंश्योरेंस में नहीं होती कवर

Go to Top