सर्वाधिक पढ़ी गईं

Deposit Schemes: बाजार के उतार-चढ़ाव देख होती है घबराहट? निवेश के ये 12 तरीके दे सकते हैं बेहतर रिटर्न

Deposit Schemes: शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव के चलते कई लोग इसमें निवेश नहीं करना चाहते हैं. ऐसे लोगों के लिए कई ऐसे फिक्स्ड इनकम इनवेस्टमेंट ऑप्शंस मौजूद हैं जो अच्छा रिटर्न दे सकते हैं.

Updated: Jun 10, 2021 5:07 PM
Top 12 deposit schemes with higher returns for conservative investorsकुछ योजनाओं में मिलने वाले ब्याज पर टैक्स चुकाना पड़ता है तो टैक्स के बाद मिलने वाले रिटर्न और इंफ्लेशन एडजस्ट कर फैसले लें.

शेयर बाजार में हर रोज़ होने वाले उतार-चढ़ाव के चलते कई लोग इसमें निवेश नहीं करना चाहते हैं. ऐसे लोगों के लिए कई ऐसे फिक्स्ड इनकम इनवेस्टमेंट ऑप्शंस उपलब्ध हैं जो उन्हें बेहतर रिटर्न दे सकते हैं. इनमें कुछ विकल्प सिर्फ वरिष्ठ नागरिकों के लिए हैं तो कुछ हर उम्र के लोगों के लिए. निवेश के इन तरीकों के जरिए आप अपनी पूंजी को सुरक्षित रखते हुए बेहतर कमाई कर सकते हैं.

इनमें से कुछ योजनाएं ऐसी हैं जिन पर सरकार की गारंटी भी रहती है. इन विकल्पों में अपने लिए बेहतर विकल्प का चयन नियमित आय, पेंशन, टैक्स बचत या लांग टर्म गोल्स जैसी जरूरतों के मुताबिक चुना जा सकता है. इनमें से कुछ योजनाओं में मिलने वाले ब्याज पर टैक्स भी चुकाना पड़ सकता है. इसलिए रिटर्न को टैक्स और महंगाई दर के हिसाब से एडजस्ट करके ही निवेश का अंतिम फैसला करें.

बुढ़ापे में आपका अपना घर ही करा सकता है कमाई, Reverse Mortgage Loan Scheme से दूर होगी पैसों की किल्लत

Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana (PMVVY)

  • प्रधानमंत्री वय वंदना योजना एक 10 वर्षीय पेंशन योजना है और यह उनके लिए बेहतर है जो 60 वर्ष से अधिक उम्र के हैं और अपने निवेश पर नियमित आय चाहते हैं.
  • इस योजना पर ब्याज दर उस वित्त वर्ष पर निर्भर करेगी जिसमें निवेश किया गया है. वित्त वर्ष 2021-22 के लिए सालाना 7.4 फीसदी की दर से एश्योर्ड पेंशन मिलेगी. इसी दर पर पूरे 10 साल की अवधि तक एश्योर्ड पेंशन मिलेगा.
  • जो राशि निवेश की जाती है, उसे पर्चेज प्राइस कहते हैं.
  • मासिक, तिमाही या सालाना आधार पर पेंशन का विकल्प चुन सकते हैं जो एरियर के रूप में मिलेगा.
  • इस योजना के तहत कोई वरिष्ठ नागरिक अधिकतम 15 लाख रुपये जमा कर सकता है और हर महीने अधिकतम 9250 रुपये की पेंशन मिल सकती है.
  • इस योजना के तहत पेंशन की राशि निवेशक की उम्र पर निर्भर नहीं है.
  • यह स्कीम ऑफलाइन या एलआईसी की वेबसाइट पर जाकर खरीदी जा सकती है और यह 31 मार्च 2023 तक उपलब्ध है.

Floating Rate Savings Bonds 2020 (Taxable)

  • सरकार समर्थित निवेश विकल्प फ्लोटिंग रेट सेविंग्स बांड्स 2020 (टैक्सेबल) में एसबीआई, नेशनलाइज्ड बैंक्स और चार प्राइवेट सेक्टर बैंकों के जरिए निवेश किया जा सकता है.
  • सात साल के टेन्योर में ब्याज दर परिवर्तित होंगी. अभी इस पर 7.15 फीसदी सालाना की दर से ब्याद हर छमाही पेएबल है.
  • इन बांड्स पर ब्याज 1 जनवरी और 1 जुलाई को हर साल पे किया जाता है. कम्यूलेटिव बेसिस पर ब्याज पे करने का कोई विकल्प नहीं है.
  • इसमें न्यूनतम 1 हजार रुपये का निवेश किया जा सकता है. अधिकतम कोई सीमा नहीं है. हालांकि कैश में अधिकतम 20 हजार रुपये ही निवेश किए जा सकते हैं.
  • इसकी ब्याज दर एनएससी से 35 बेसिस प्वाइंट लिंक्ड है जिसमें 0.35 फीसदी कम या ज्यादा कर के तय की जाती है.
  • वरिष्ठ नागरिकों के विशेष श्रेणियों में ही मेच्योरिटी के पहले रिडेंप्शन की मंजूरी होगी.

NFO क्या है? क्या आपको इसमें निवेश करना चाहिए, जानें क्या है सही स्ट्रैटजी

Senior Citizen Savings Scheme (SCSS)

  • वरिष्ठ नागरिक एक पॉपुलर निवेश विकल्प है. 60 वर्ष या इससे अधिक की उम्र के लोग इस योजना का हिस्सा बन सकते हैं.
  • 55-60 वर्ष की उम्र में भी रिटायर्ड लोग इसका हिस्सा बन सकते हैं लेकिन ऐसे मामले में रिटायरमेंट बेनेफिट्स मिलने के एक महीने के भीतर खाता खुलना चाहिए और रिटायरमेंट बेनेफिट्स से अधिक की राशि नहीं जमा होगी.
  • यह पांच साल की योजना है.
  • एक से अधिक खाते खोले जा सकTop 12 deposit schemes with higher returns for conservative investorsते हैं लेकिन सभी को मिलाकर जमा राशि 15 लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए.
  • ब्याज पूरी तरह से टैक्सेबल है और इसे ‘अन्य स्रोतों से हुई आय’ के तहत जोड़ा जाएगा.
  • मेच्योरिटी के बाद इसे एक साल के भीतर अगले तीन वर्षों के लिए बढ़ाया जा सकता है.
  • इस पर 7.4 फीसदी सालान की दर से ब्याज मिल रहा है जो तिमाही आधार पर पेएबल है.

Sukanya Samriddhi Yojana (SSY)

  • सुकन्या समृद्धि योजना गर्ल चाइल्ड के लिए 21 साल लंबी योजना है.
  • इस योजना के तहत 10 साल से छोटी बच्चियों के नाम पर ही खाता खुलवा सकते हैं.
  • माता-पिता को 15 वर्ष तक खाते में पैसे जमा करने होंगे और अगले छह वर्ष तक बिना कोई निवेश के स्कीम जारी रहेगी.
  • सिर्फ मेडिकल इमरजेंसी में स्कीम से प्रीमेच्योरिटी एग्जिट कर सकते हैं. इसके अलावा लड़की के 18 वर्ष का होने पर अगर उसकी शादी तय होती है तो भी खाता बंद किया जा सकता है.
  • लड़की के 18 वर्ष का होने पर उसकी शिक्षा के लिए उसके पिछले वर्ष में खाते में संचित रकम का अधिकतम 50 फीसदी निकाल सकते हैं.
  • निवेश राशि पर सेक्शन 80सी के तहत टैक्स छूट मिलती है और ब्याज राशि भी टैक्स फ्री होती है.
  • इस समय इस पर 7.6 फीसदी सालाना की दर से ब्याज मिल रहा है जो मेच्योरिटी पर मिलता है.

Atal Pension Yojna (APY)

  • एपीवाई एक एश्योर्ड पेंशन प्लान है जिसे पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (पीएफआरडीए) एडमिनिस्टर करती है.
  • 18-40 वर्ष का कोई भी भारतीय नागरिक इसे खुलवा सकता है.
  • एपीवाई के तहत 60 वर्ष का होने पर 1000 रुपये, 2 हजार रुपये, 3 हजार रुपये या 5 हजार रुपये हर महीने का पेंशन मिलेगा.
  • एपीवाई के तहत मासिक पेंशन सब्सक्राइबर को मिलेगी. उसकी मृत्यु के बाद पेंशन कॉर्पस जो सब्सक्राइबर के 60 वर्ष की उम्र में संचित हुआ है, उसके नॉमिनी को दी जाएगी.

FD vs RD: आरडी या एफडी को लेकर हो रही उलझन, इस तरह समझें किसमें निवेश बेहतर

Public Provident Fund (PPF)

  • पीपीएफ लंबे समय का निवेश है और इसमें 15 वर्षों तक नियमित तौर पर इसमें निवेश किया जाता है.
  • 5 साल की अवधि के बाद इसमें कुछ विशेष परिस्थितियों में एग्जिस्ट का विकल्प मिलता है और चौथे वर्ष से लोन भी ले सकते हैं और सातवें वर्ष इसमें से आंशिक राशि निकाल सकते हैं.
  • कोई शख्स अपने नाम पर एक ही पीपीएफ खाता खुलवा सकता है और दूसरा खाता 18 वर्ष से कम उम्र के अपने बच्चे के नाम पर खुलवा सकता है.
  • न्यूनतम 500 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये (खुद के व बच्चों के खाते में मिलाकर) का योगदान प्रति वित्त वर्ष में किया जा सकता है.
  • निवेश की गई राशि पर सेक्शन 80सी के तहत टैक्स बेनेफिट मिलता है और ब्याज की राशि टैक्स एग्जेम्प्ट होती है.
  • मेच्योरिटी के बाद पीपीएफ खाते तो अनिश्चित समय तक पांच-पांच वर्ष के ब्लॉक में बढ़ाया जा सकता है.
  • इस समय पीपीएफ पर 7.1 फीसदी की दर से सालाना ब्याज मिल रहा है लेकिन ब्याज राशि मेच्योरिटी पर मिलेगी.

Kisan Vikas Patra (KVP)

  • पोस्टऑफिस में कोई भी वयस्क अपने नाम पर या किसी नाबालिग के नाम पर या दो वयस्क केवीपी खरीद सकते हैं.
  • इसमें न्यूनतम 1 हजार रुपये का निवेश किया जा सकता है और अधिकतम के लिए कोई सीमा नहीं है.
  • केवीपी को एक शख्स से दूसरे शख्स के नाम पर या एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में ट्रांसफर किया जा सकता है.
  • ढाई साल के बाद इसे कभी भी भुनाया जा सकता है.
  • वर्तमान में इस पर 6.9 फीसदी की दर से सालाना ब्याज मिल रहा है.
  • इसमें जमा रकम 124 महीनों में दोगुनी हो जाती है और पूंजी के साथ ब्याज मेच्योरिटी पर मिलती है.

Bank fixed deposit

  • नियमित आय के रूप में बैंक एफडी लंबे समय से पसंदीदा विकल्प बना हुआ है. इस समय इस पर 6 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है लेकिन यह बैंक व एफडी टेन्योर पर निर्भर करता है.
  • डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन एक्ट 1961 के तहत 5 लाख रुपये तक जमा राशि इंश्योर्ड होती है.

Post Office Time Deposit Account (TD)

  • पोस्ट ऑफिस की टीडी बैंक के एफडी के ही समान है.
  • टीडी 1, 2, 3 और 5 वर्षों की अवधि के लिए शुरू किया जा सकता है लेकिन सिर्फ 5 वर्ष की अवधि के टीडी में सेक्शन 80सी का लाभ मिलता है.
  • ब्याज पूरी तरह से टैक्सेबल है और इसे ‘अन्य स्रोतों से हुई आय’ में जोड़ा जाता है.
  • इस समय टीडी पर 6.7 फीसदी की दर से सालाना ब्याज मिलता है लेकिन इसकी गणना तिमाही आधार पर की जाती है.

National Savings Certificate (NSC)

  • एनएससी में पांच वर्षों के लिए एकमुश्त राशि जमा की जाती है.
  • मेच्योरिटी पर एक फिक्स्ड राशि मिलती है जो निवेश के समय में कैलकुलेट हो जाती है.
  • इसमें 100 रुपये, 500 रुपये, 1000 रुपये, 5000 रुपये और 10 हजार रुपये के गुणक में निवेश किया जा सकता है.
  • ब्याज पूरी तरह से टैक्सेबल है लेकिन इसे शुरुआती चार वर्षों की अवधि में फिर से निवेश कर सेक्शन 80सी का लाभ लिया जा सकता है.
  • वर्तमान में एनएससी पर 6.8 फीसदी सालाना की ब्याज दर है.

Government Securities

  • सरकारी सिक्योरिटीज को सरकार द्वारा जारी किया जाता है तो ऐसे में निवेशकों के लिए 100 फीसदी सुरक्षित निवेश है.
  • G-Sec और ट्रेजरी बिल्स जैसी गवर्नमेंट सिक्योरिटीज में खुदरा निवेशक एनएसई के ट्रेडिंग मेंबर्स या एनएसई गोबिड मोबाइल ऐप/वेब प्लेटफॉर्म के जरिए बिड प्लेस कर सकते हैं.
  • न्यूनतम 10 हजार रुपये और इसके बाद 10 हजार रुपये के गुणक में बिड लगा सकते हैं.
  • मेच्योरिटी के पहले एग्जिट करने पर कैपिटल गेन या लॉस होगा.

Immediate Annuities

  • इम्मेडिएट एन्यूटी स्कीम्स ऐसे लोगों के लिए बेहतर है जो जिंदगी भर आय का एक नियमित स्रोत चाहते हैं, चाहे ब्याज दरें कम हो या अधिक.
  • मौजूदा दौर में 7-10 विभिन्न पेंशन ऑप्शंस हैं जिसमें खुद के लिए जीवन भर, मृत्यु के बाद जीवनसाथी को पेंशन और दोनों की मृत्यु के बाद उत्तराधिकारी को पूरा पैसा मिलने का विकल्प भी शामिल है.
  • इस समय पेंशन या एन्यूटी सालाना 5-6 फीसदी की दर से मिल रहा है और यह इनकम स्लैब के मुताबिक टैक्सेबल भी है.
    (स्टोरी- सुनील धवन)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. Deposit Schemes: बाजार के उतार-चढ़ाव देख होती है घबराहट? निवेश के ये 12 तरीके दे सकते हैं बेहतर रिटर्न

Go to Top