मुख्य समाचार:

कर रहे हैं बैंकिंग ट्रांजेक्शन, इन बातों का रखें ध्यान; बच जाएंगे फ्रॉड से

जैसे-जैसे सहूलयित बढ़ी है, फ्रॉड होने का खतरा भी बढ़ा है. छोटी सी लापरवाही या चूक के चलते पूरा बैंक अकाउंट खाली हो सकता है.

September 22, 2019 6:19 PM

Tips for secured banking transaction

समय के साथ लगातार बदलती टेक्नोलॉजी ने बैंक से जुड़े लेन-देन को काफी आसान बना दिया है. बिना बैंक जाए एटीएम से कैश निकल आता है तो वहीं कैशलेस लेन-देन चेक या इंटरनेट बैंकिंग के जरिए हो जाता है. लेकिन जैसे-जैसे सहूलयित बढ़ी है, फ्रॉड होने का खतरा भी बढ़ा है. छोटी सी लापरवाही या चूक के चलते पूरा बैंक अकाउंट खाली हो सकता है. ऐसे में कुछ छोटे और आम टिप्स आपकी मेहनत की कमाई को लुटने से बचा सकते हैं…

– अपने डेबिट/ATM कार्ड और नेट बैंकिंग का पासवर्ड याद कर लेना चाहिए. इसे किसी को भी न बताएं, न ही कहीं लिखकर रखें.

– नेट बैंकिंग का इस्तेमाल हमेशा अपने पर्सनल कंप्‍यूटर/लैपटॉप पर सिक्योर नेटवर्क से करें. पब्लिक कंप्यूटर या असुरक्षित नेटवर्क पर अपनी बैंकिंग से जुड़ी डिटेल एंटर करना समझदारी नहीं है. अगर मजबूरी में कर रहे हैं तो लॉग आउट करना न भूलें.

– चेकबुक में कभी भी साइन किए हुए चेक न छोड़ें.

– ATM/डेबिट विदड्रॉल/ट्रांजेक्शन या क्रे​डिट कार्ड ट्रांजेक्शन, नेट बैंकिंग ट्रांजेक्शन आदि के लिए SMS या ईमेल अलर्ट जरूर सेट करें. ताकि किसी भी ट्रांजेक्शन पर आपको नोटिफिकेशन मिलता रहे.

– बैंक की वेबसाइट को हमेशा अपने ब्राउजर के एड्रेस बार में URL टाइप करके ही एक्सेस करें. साथ ही देख लें कि आप ओरिजिनल के बजाय किसी मिलती-जुलती वेबसाइट पर न चले जाएं.

– गूगल प्लेस्टोर, एप्पल ऐप स्टोर, ब्लैकबेरी ऐप वर्ल्ड, ओवी स्टोर, विंडोज मार्केटप्लेस आदि जैसे मोबाइल ऐप्लीकेशन स्टोर से ऑनलाइन बैंकिंग की पेशकश करने वाले मैलिशियस ऐप को डाउनलोड करते वक्त सावधान रहें. ऐसे ऐप डाउनलोड करने से पहले उनकी ऑथेंटिसिटी बैंक से संपर्क कर जांच लें.

– साइट को एक्सेस करने के लिए किसी भी ई-मेल में दिए गए किसी भी लिंक पर क्लिक न करें.

ट्रांजेक्शन फेल होने पर बैंक तय समय में लौटाएंगे पैसा, देरी होने पर 100 रु/दिन का देना होगा मुआवजा

– कभी भी फोन, मैसेज या ईमेल पर, बैंकिंग डिटेल्स जैसे व्यक्तिगत जानकारी, डेबिट/ATM पिन, पासवर्ड या OTP किसी से भी शेयर न करें. अक्सर फ्रॉड करने वाले बैंकों के नाम पर फर्जी कॉल कर इस तरह की जानकारी मांगते हैं. याद रखें कोई भी बैंक अपने कस्टमर्स से इस तरह की जानकारी नहीं मांगता है. अगर आपने कॉल, SMS या ईमेल पर डिटेल साझा कर दी हैं तो अपनी यूजर एक्सेस को तुरंत लॉक करें.

– अगर आपके पास कोई ऐसा फोन, मैसेज या ईमेल आती है, जिसमें व्यक्तिगत इनफॉरमेशन देने के बदले या बैंक की वेबसाइट पर अकाउंट डिटेल्स अपडेट कर इनाम या रिवॉर्ड देने की बात की जा रही हो तो इस झांसे में न आएं.

– बैंक से कार्ड मिलने के बाद तुरंत अपना पासवर्ड बदलें. साथ ही समय-समय पर अपने ATM कार्ड और इंटरनेट बैंकिंग पासवर्ड बदलें.

– बैंक की साइट पर एक बार लॉग इन करने के बाद बैंक कस्टमर से दोबारा यूजरनेम व पासवर्ड नहीं मांगता. न ही उनसे इंटरनेट बैंकिंग इस्तेमाल करते वक्त क्रेडिट या डेबिट कार्ड डिटेल्स मांगी जाती हैं. अगर आपके पास ऐसी किसी मांग का मैसेज पॉपअप के जरिए आए तो कोई भी सूचना न दें. फिर चाहे पेज कितना ही वास्तविक क्यों न लगता हो.

– ब्लूटूथ और वाईफाई इस्तेमाल करने से डिवाइस और डाटा को अनऑथराइज्ड एक्सेस का खतरा है. इसलिए अनजाने डिवाइस या वाई-फाई या पब्लिक वाई-फाई से कभी अपना फोन कनेक्ट न करें.

– ​कंप्यूटर/लैपटॉप पर फायरवॉल व एंटीवायरस को इनेबल करें.

– अगर आपको फ्रॉड होने का शक है तो इसके बारे में तुरंत अपने बैंक को सूचित करें. इसके बाद जो भी संबंधित कार्रवाई है, उसे पूरा करें.

Input: SBI, PNB

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. कर रहे हैं बैंकिंग ट्रांजेक्शन, इन बातों का रखें ध्यान; बच जाएंगे फ्रॉड से

Go to Top