मुख्य समाचार:

PPF Savings का इन तीन तरीकों से करें इस्तेमाल, होगा जबरदस्त फायदा

भारतीय निवेशकों के लिए पीपीएफ यानी प्रोविडेंट फंड सेविंग्स का अच्छा माध्यम है। इसके पीछे कई तरह के कारण हैं। सबसे पहला कारण सरकार, क्योंकि इसमें सरकार लिप्त है, लिहाजा इस बात की गारंटी है कि आपका पैसा आप तक जरूर पहुंचेगा।

April 26, 2018 5:52 PM
पीपीएफ, पब्लिक प्रोविडेंट फंड, प्रोविडेंट फंड, पैसा, निवेश बचतपीपएफ सेविंग्स की नजर के से नौकरीपेशा के लिए बेहतर अवसर है।

भारतीय निवेशकों के लिए पीपीएफ यानी प्रोविडेंट फंड सेविंग्स का अच्छा माध्यम है। इसके पीछे कई तरह के कारण हैं। सबसे पहला कारण सरकार, क्योंकि इसमें सरकार लिप्त है, लिहाजा इस बात की गारंटी है कि आपका पैसा आप तक जरूर पहुंचेगा। दूसरा पीपीएफ पर आपको टैक्स नहीं देना होता। हालांकि पीपीएफ को आपको इंटरेस्ट रेट काफी मिलता है, फिर भी इन कारणों के चलते ये एक अच्छा सेविंग्स मोड है। तीसरा पीपीएफ सेविंग्स में आप जो भई पैसा लगाते हैं वो इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80 सी के तहत आने वाले टैक्स डिडक्शन मे काउंट होता है। एक औऱ कारण जिस वजह से पीपीएफ ज्यादातर नौकरीपेशा लोगों के लिए एक बेहतर ऑप्शन हैं, उसका कारण है पीपीएफ मेच्योरिटी के बाद पूरी तरह से टैक्स फ्री है। पीपीएफ 15 साल के बाद मैच्योर होता है। अब सवाल ये उठता है कि आप पीपीएफ मैच्योर होने पर क्या करें? हम आपको उन तीन विकल्पों के बारे में बताएंगे जिन्हें आप पीपीएफ मैच्योर होने पर इस्तेमाल कर सकते हैं।

पीपीएफ अकाउंट को बिना अतिरिक्त पैसा जमा किए बढ़ा सकते हैं

पीपीएफ में ये विकल्प डिफॉल्ट है। अगर आप पीपीएफ मैच्योर होने के बाद उसे नहीं निकालते हैं या कोई और विकल्प नहीं चुनते है तो खुद ब खुद आपका आपकी पीपीएफ मैच्योरिटी तारीख पांच सालों के लिए बढ़ जाती है। आप चाहें तो पीपीएफ मैच्योरिची एक्टेशंन इच्छा अनुरुप भी ले सकते हैं।

पीपीएफ अकाउंट निर्धारित पैसे जमाकर बढ़ा सकते हैं

याद रहे अगर पीपीएफ मैच्यौर होने के बाद आप अपना अकाउंट एक्सटेंड करना हो तो आपको फॉर्म एच भरना होगा। पिछले केस में आप अपने अकाउंट को पांच पांच सालों के लिे एक्सटेंड कर सकते हैं। ज्ञात रहे पीपीएफ अकाउंट बढ़ाने के लिए आपको साल भर के भीतर फॉर्म एच भरके देना होगा।

पीपीएफ अकाउंट मैच्योरिटी के 15 साल पूरे होने पर बंद कर दें

पीपीएफ अकाउंट में लगातार इचरेस्ट नहीं पे किया जाता है, मगर ये आपके पीपीएफ अकाउंट में जुड़ता रहता है। जब आप पैसा निकालते हैं तो आपको मूल और ब्याज मिलता है, मगर इस रकम पर आपका कोई टैक्स नहीं लगता है। आप चाहे तो अपना पूरा पैसा एकबार में निकाल सकते हैं या फिर आप थोड़ा थोड़ा करके 12 महीनों के अंदर पूरा पैसा निकाल सकते हैं।

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. PPF Savings का इन तीन तरीकों से करें इस्तेमाल, होगा जबरदस्त फायदा

Go to Top