मुख्य समाचार:
  1. Income Tax Return Filing: ऑनलाइन ITR भरते वक्त इन बातों का रखें ध्यान

Income Tax Return Filing: ऑनलाइन ITR भरते वक्त इन बातों का रखें ध्यान

Income Tax Return: इनकम टैक्स रिटर्न भरने की आखिरी तारीख 31 जूलाई 2019 है.

June 7, 2019 6:08 PM
things that you should about income tax return filingअगर आपकी सैलरी इनकम 50 लाख से ज्यादा है तो आपको रिटर्न भरने के लिए ITR-2 का इस्तेमाल करना होगा.

ITR Filing: टैक्स फाइलिंग शुरू हो चुकी है. कई लोग ऐसे भी होंगे जो इस साल पहली बार रिटर्न फाइल करेंगे. साथ ही ITR से संबंधित कुछ नियमों में बदलाव के बाद इस बार टैक्स रिटर्न भरना पहले के मुकाबले थोड़ा अलग होगा. तो अगर आप भी रिटर्न भरने जा रहे हैं तो नीचे बताई गई इन बातों का ध्यान जरूर रखें.

कौन सा फॉर्म है आपके लिए सही

हर ITR फॉर्म की कुछ सीमा होती है. जैसे कि सैलरी से कमाई करने के बावजूद आप ITR-1 फाइल नहीं कर सकता हैं अगर आपकी इनकम 50 लाख से ज्यादा है या फिर आपके पास एक से ज्यादा घर है. अगर आपकी सैलरी इनकम 50 लाख से ज्यादा है तो आपको रिटर्न भरने के लिए ITR-2 का इस्तेमाल करना होगा.

साथ ही हाल ही में हुए बदलाव के मुताबिक किसी भी कंपनी का डायरेक्टर या कोई ऐसा व्यक्ति जिसके पास इस वित्त वर्ष में कभी भी अनलिस्टेड इक्विटी शेयर्स रहे हों वह ITR-1 फॉर्म का इस्तेमाल नहीं कर सकता है. FY 2018-19 के लिए रिटर्न फाइल करने के लिए उसे ITR-2 या ITR-3 का इस्तेमाल करना होगा.

अपनी कमाई के आधार पर कोई भी सेल्फ इंप्लोइड व्यक्ति जो अपने बिजनेस या प्रोफेशन से कमाता है, वह रिटर्न भरने के लिए ITR-3 या ITR-4 का इस्तेमाल करेगा.

ITR भरने की प्रक्रिया

किस ITR फॉर्म के इस्तेमाल से ITR फाइल करनी है यह तय करने के बाद अब आपको सभी सभी जानकारी उस फॉर्म में दर्ज करनी है. उदाहरण के तौर पर आपको HRA, LTA, टैक्स में कितनी एक्जेम्पशन मिली यह सभी जानकारी ITR-1 फॉर्म में बतानी होगी. साथ ही स्टैंडर्ड डिडक्शन, एंटरटेनमेंट अलाउंस और प्रोफेशनल टैक्स से संबंधित जानकारी भी आपको अलग से ITR-1 में दर्ज करनी होगी.

अगर आप ITR-2 फॉर्म का इस्तेमाल करते हुए रिटर्न फाइल कर रहे हैं तो आपको अपना सैलरी ब्रेकअप जैसे बेसिक सैलरी, HRA, चिल्ड्रन एजुकेशन अलाउंस कितनी है, यह सभी जानकारी इस फॉर्म में बताना जरूरी है. साथ ही आप एक साल में भारत में कितने दिन रहे हैं यह भी आपको बताना होगा.

डेडलाइन का ध्यान रखें.

इनकम टैक्स रिटर्न भरते वक्त डेडलाइन का जरूर ध्यान रखें. तय तारीख के बाद रिटर्न भरने पर जुर्माना भी भरना पड़ता है. इनकम टैक्स रिटर्न भरने की आखिरी तारीख 31 जूलाई 2019 है. लेट रिटर्न भरने पर सेक्शन 234F के तहत 10,000 तक की लेट फीस जमा करनी होती है.

रिटर्न को ऑनलाइन वेरिफाई करें

बिना वेरिफिकेशन के आपकी टैक्स फाइलिंग की प्रक्रिया अधूरी रह जाती है फिर चाहे आपने रिटर्न समय पर ही क्यों ना भरी हो. तय समय के भीतर आपको आपका आधार नंबर या नेट बैंकिंग ऑनलाइन वेरिफाई करानी होती है. वेरिफिकेशन के लिए आप ITR-V को बैंगलोर स्थित CPC को भी मेल कर सकते हैं.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop