सर्वाधिक पढ़ी गईं

Tax Talk: गिफ्ट पर टैक्स छूट का कैसे उठाएं फायदा? जानिए क्या हैं इससे जुड़े नियम

Tax Talk: गिफ्ट पर टैक्स से जुड़े नियम जानना बेहतर होगा ताकि किसी प्रकार की कानूनी दिक्कतों से बच सकें.

Updated: Oct 05, 2021 12:24 PM
Tax Talk Not every gift is exempt from tax know here about tax rules related to giftसभी मॉनिटरी गिफ्ट टैक्स नियम के तहत आते हैं लेकिन टैक्स नियमों के तहत नॉन-मॉनिटरी गिफ्ट श्रेणी में जमीन, बिल्डिंग्स, शेयर व सिक्योरिटीज, ज्वैलरी, पुरातत्व संग्रह, ड्राइंग्स, पेंटिंग्स, स्कल्पचर्स या कोई कलाकृति और सोना-चांदी आते हैं. (Image- Pixabay)

Gift Tax: शादी-विवाह हो या कोई त्योहार या जन्मदिन का जश्न हो, ऐसे मौकों पर अपने यहां उपहार दिए जाने की परंपरा रही है. हालांकि गिफ्ट प्राप्त करने के बाद इसकी जानकारी आयकर अधिकारियों को भी देनी होती है और इस पर कुछ परिस्थितियों में टैक्स चुकाना होता है. उपहारों पर ‘अन्य स्रोत से हुई आय’ के तहत आय मानकर टैक्स देनदारी बनती है और इसे छिपाने पर समस्या हो सकती है. ऐसे में इससे जुड़े नियम जानना बेहतर होगा ताकि किसी प्रकार की कानूनी दिक्कतों से बच सकें. हालांकि सभी उपहारों पर टैक्स नहीं चुकाना होता है और शादी-विवाह, विरासत इत्यादि में मिली संपत्ति या उपहार टैक्स फ्री होते हैं.

Save Capital Gain Tax on Property Sale: प्रॉपर्टी बेचने से हुआ है मोटा मुनाफा, तो जानिए उस पर कैसे कम कर सकते हैं टैक्स का बोझ?

गिफ्ट पर टैक्स को लेकर ये हैं नियम

  • सभी मॉनिटरी गिफ्ट टैक्स नियम के तहत आते हैं लेकिन टैक्स नियमों के तहत नॉन-मॉनिटरी गिफ्ट श्रेणी में जमीन, बिल्डिंग्स, शेयर व सिक्योरिटीज, ज्वैलरी, पुरातत्व संग्रह, ड्राइंग्स, पेंटिंग्स, स्कल्पचर्स या कोई कलाकृति और सोना-चांदी आते हैं.
  • किसी वित्त वर्ष में 50 हजार रुपये से अधिक के उपहार पर इसे पाने वाले पर टैक्स देनदारी बनती है. यहां यह ध्यान रखा जाना चाहिए कि वित्त वर्ष में मिले सभी उपहारों का कुल मूल्य 50 हजार रुपये से अधिक होने पर टैक्स देनदारी बनती है यानी कि अगर किसी शख्स को 21 हजार और 31 हजार के दो गिफ्ट मिले हैं तो टैक्स देनदारी बनेगी क्योंकि इनका कुल मूल्य 50 हजार रुपये से अधिक 52 हजार रुपये है. यहां यह भी ध्यान रखना चाहिए कि इस पूरी राशि पर टैक्स चुकाना होगा, ना कि महज 2 हजार रुपये (52 हजार-50 हजार रुपये) पर. इसका मतलब हुआ कि 50 हजार रुपये तक के उपहार पर कोई टैक्स देनदारी नहीं बनती है लेकिन इससे अधिक का उपहार मिलने पर पूरी राशि पर टैक्स चुकाना होगा.

सपनों का घर खरीदना चाहते हैं? इन पांच खर्चों को अपने प्लानिंग में जरूर करें शामिल, वरना हो सकता है धोखा

  • अगर कोई उपहार नॉन-मॉनीटरी एसेट्स जैसे कि ‘अचल संपत्ति या विशेष चल संपत्ति’ (जमीन, बिल्डिंग्स, शेयर व सिक्योरिटीज, ज्वैलरी, पुरातत्व संग्रह, ड्राइंग्स, पेंटिंग्स, स्कल्पचर्स या कोई कलाकृति और सोना-चांदी) उपहार में मिलते हैं तो अचल संपत्ति के मामले में टैक्स का निर्धारण स्टांप ड्यूटी की कीमत और अन्य मामलों में फेयर मार्केट वैल्यू पर तय की जाती है.
  • अगर कोई उपहार बिना किसी प्रतिफल (Without Consideration) के मिलता है और इसकी स्टांप ड्यूटी (अचल संपत्ति के मामले में) या फेयर मार्केट वैल्यू (चल संपत्ति के मामले में) 50 हजार रुपये से अधिक है तो इस स्टांप ड्यूटी वैल्यू या फेयर मार्केट वैल्यू पर गिफ्ट पाने वाले पर टैक्स देनदारी बनेगी. Without Consideration का मतलब है कि ऐसा गिफ्ट जो पूरी तरह से गिफ्ट या दान हो और इसके बदले पाने वाले को किसी भी रूप में भुगतान के लिए कोई वादा न करना पड़े.

MFCentral: म्यूचुअल फंड की खरीद-बिक्री में बचेगा समय, आसानी से पर्सनल डिटेल्स करें अपडेट, जानिए निवेशकों को क्या है फायदा

  • हालांकि अगर कोई संपत्ति अपर्याप्त प्रतिफल (Inadequate Consideration) के बदले में उपहार में मिलती है तो अचल संपत्ति के मामले में स्टांप ड्यूटी वैल्यू अगर खरीद मूल्य से 50 हजार रुपये से अधिक है तो इस अंतर पर गिफ्ट पाने वाले को टैक्स चुकाना होगा.
  • अगर कोई अन्य स्पेशिफाइड चल संपत्ति अपर्याप्त प्रतिफल के बदले में प्राप्त होता है और फेयर मार्केट वैल्यू अगर कंसीडेरेशन प्राइस से 50 हजार रुपये से अधिक है तो इस अंतर पर टैक्स देनदारी बनेगी.
  • किसी संबंधी से शादी या वसीयत या विरासत में मिले उपहारों पर कोई टैक्स देनदारी नहीं बनती है. इनकम टैक्स के नियमों के तहत रिश्तेदारों की श्रेणी में पति, पत्नी, भाई, बहन, माता-पिता और टैक्सपेयर व जीवनसाथी के वंशज आते हैं.
  • विवाह के मौके पर प्राप्त उपहारों पर कोई टैक्स देनदारी नहीं बनती है चाहे वह किसी संबंधी से प्राप्त हुआ हो या गैर-संबंधी से.
  • हालांकि विवाह के अलावा अन्य मौके जैसे कि जन्मदिन, सालगिरह इत्यादि पर सिर्फ 50 हजार रुपये तक के उपहार पर ही टैक्स छूट का फायदा मिलता है.
    (Article: Shailesh Kumarhe, Partner, Nangia & Co LLP)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. Tax Talk: गिफ्ट पर टैक्स छूट का कैसे उठाएं फायदा? जानिए क्या हैं इससे जुड़े नियम

Go to Top