मुख्य समाचार:
  1. टैक्स सेवर FD Vs पोस्ट ऑफिस NSC: जानें आपके लिए क्या है बेहतर विकल्प

टैक्स सेवर FD Vs पोस्ट ऑफिस NSC: जानें आपके लिए क्या है बेहतर विकल्प

बैंक खाते में एक फिक्स्ड अमाउंट एक तय समय के लिए जमा कराने को fixed deposit कहते हैं. बैंक, FD में जमा रकम पर ब्याज देता है. ये ब्याज आपको मासिक, तिमाही या सालाना मिल सकता है. वहीं NSC या नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट एक पोस्ट ऑफिस सेविंग स्कीम है. 

February 12, 2019 3:16 PM
nsc or fixed deposit which tax saving scheme gives better return on investmentTax Saver FD Vs NSC : क्या है बेहतर विकल्प

FD Vs NSC : टैक्स सेविंग के लिए निवेश के विकल्प की बात करें तो आमतौर पर आप लोग बैंक की 5 साल की फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) या नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC) को बेहतर विकल्प मानते हैं. असल में इन दोनों विकल्प में जोखिम कम होता है और रिटर्न भी स्टेबल मिल जाता है. सरकार ने 1 अक्टूबर 2018 से NSC पर ब्याज दर 7.6 से बढ़ाकर 8 फीसदी कर दिया है. वहीं, पांच साल की टैक्स सेवर एफडी पर भी ब्याज दर अमूमन 7 फीसदी या इससे ज्यादा है. इन दोनों ही विकल्पों पर इनकम टैक्स की धारा 80सी के तहत टैक्स छूट का लाभ मिलता है. निवेशक अपनी जरूरत और निवेश लक्ष्य के अनुसार उपयुक्त विकल्प चुन सकते हैं.

Bank FD

टैक्‍स सेवर FD इनकम टैक्स बचाने का अच्‍छा ऑप्‍शन है. देश के लगभग सभी बैंक टैक्‍स सेवर FD की सुविधा देते हैं. टैक्स सेवर FD को न्‍यूनतम 100 रुपये से भी शुरू किया जा सकता है, हालांकि यह 5 साल के लिए होती है. यानी 5 साल की FD पर ही टैक्स छूट का लाभ मिलता है.

टैक्‍स सेवर FD के फायदे

#इसे कोई भी एकल तौर पर या ज्‍वॉइंट में खोल सकता है. ज्‍वॉइंट अकाउंट में टैक्‍स बेनिफिट FD के पहले होल्‍डर को मिलता है.

#इसके जरिए 1.5 लाख रुपये तक पर टैक्‍स बचाया जा सकता है.

#इसके जरिए कोई अकेला व्‍यक्ति, हिंदू अनडिवाइडेड फैमिली (HUF) के सदस्‍य, सीनियर सिटीजन, NRI भी टैक्‍स बचा सकते हैं.

शर्तें

#टैक्‍स सेवर FD पर मिलने वाले ब्‍याज पर टैक्‍स लगता है.

#इससे प्रीमेच्‍योर विदड्रॉल नहीं कर सकते हैं.

#इस FD पर आपको लोन नहीं मिलता है.

टैक्स सेवर FD पर ब्याज—-

SBI

6.85%, सीनियर सिटीजन के लिए 7.35%

HDFC बैंक 

7%, सीनियर सिटीजन के लिए 7.50%

यस बैंक और ICICI बैंक 

7.25%, सीनियर सिटीजन के लिए 7.75%

AU स्मॉल फाइनेंस बैंक

8%, सीनियर सिटीजन के लिए 8.50%

DCB बैंक

7.75%, सीनियर सिटीजन के लिए 8.25%

RBL बैंक

7.60%, सीनियर सिटीजन के लिए 8.10%

PNB 

6.25%, सीनियर सिटीजन के लिए 6.75%

 

NSC 

नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC) में निवेश किसी भी पोस्‍ट ऑफिस जहां पर सेविंग खाता खोलने की सुविधा उपलब्‍ध हो वहां से कर सकते हैं. NSC स्कीम के तहत निवेश की कुल अवधि 5 साल की है. इंडिया पोस्ट की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, इस स्कीम के तहत खाता कम से कम 100 रुपये से खुलता है. वहीं, इसमें निवेश की अधिकतम लिमिट तय नहीं है. यानी स्कीम में आप कितना भी पैसा जमा कर सकते हैं जो 100 के गुणक में हो.

 

NSC पर ब्याज

पॉस्ट ऑफिस की बेवसाइट के अनुसार NSC पर 8 फीसदी का सालाना चक्रवृद्धी ब्याज मिल रहा है. इस लिहाज से 5 लाख जमा पर मेच्योरिटी पर कुल करीब 7.35 लाख रुपये यानी 2.34 लाख रुपये ब्याज मिलेगा.

कितना कर सकते हैं निवेश?

NSC के तहत खाता देशभर में पोस्ट ऑफिस के ब्रांच में खोला जा सकता है. एक सिंगल होल्डर टाइप सर्टिफिकेट कोई भी बालिग अपने नाम से या अपने बच्चे के नाम से खरीद सकता है. NSC में 100, 500, 1000, 5000, 10,000 या इससे ज्यादा के सर्टिफिकेट मिलते हैं. इसमें नि‍वेश करने की कोई सीमा नहीं है.

इनकम टैक्स से छूट

NSC में निवेश करने पर इनकम टैक्स की धारा 80C के तहत टैक्‍स छूट मिलती है. हालांकि यह छूट 1.5 लाख रुपये तक के निवेश पर ही मिलती है.

Go to Top