मुख्य समाचार:

इन 5 तरीकों से चुने सही लाइफ कवर, नहीं उठाना पड़ेगा नुकसान

Insurance का प्रीमियम समय से ना भरने पर आपकी पॉलिसी को कंपनी द्वारा खारिज भी किया जा सकता है.

February 12, 2019 8:35 AM
steps to check right life insurance coverनॉमिनी को insurance के बारे में जरूर बताएं

आमतौर पर हर व्यक्ति लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी (life insurance policy) जरूर लेता है या लेना चाहता है. इसे सिर्फ निवेश नहीं कहा जा सकता है, बल्कि यह एक तरह का रिस्क कवर भी होता है. यह आपकी लाइफ और आप पर आर्थिक रूप से निर्भर लोगों के लिए भी काफी अहम है. ऐसे में जरूरी है कि लाइफ इंश्योरेंस पूरी जांच-पड़ताल कर ली जाए. यदि आपसे जाने-अनजाने पॉलिसी लेते समय कोई चूक हो गई हो तो उसे भी समय रहते सही करा लें. जिससे कि किसी भी स्थिति में क्लेम लेते समय दिक्कत न आए. आइए जानते हैं ऐसे 5 तरीके जो पॉलिसी लेने के बाद काम आएंगे.

पॉलिसी के डॉक्यूमेन्टेस को जरूर जांचे

पॉलिसी लेने के बाद डॉक्यूमेन्ट्स मे दी गई जानकारी को जरूर जांच ले. एक बार चेक करलें कि ये वही पॉलिसी है जिसके आपने पैसे दिए हैं. पॉलिसी का समय, कितने रुपये के कितने प्रीमियम भरने हैं, पॉलिसी पूरी होने पर मिलने वाली रकम ठीक है या नहीं, ये सब जांचे. इसके अलावा ये भी देंखे कि आपने किस तरह की पॉलिसी खरीदी है. उदाहरण के तौर पर अगर आपको टर्म प्लान चाहिए था और आपको ULIP प्लान मिल गया है तो इंश्योरेंस कंपनी को इसकी जानकारी अवश्य दें.

insurance में कोई गलत जानकारी न दे

इंश्योरेंस में सभी सही जानकारी देने का मतलब है कि आपके नॉमिनी को इंश्योरेंस मिलते वक्त किसी परेशानी को सामना नहीं करना पड़ेगा. एक बार चेक कर लें कि आपकी बैंक खाता संख्या, कॉन्टैक्ट डिटेल्स, नॉमिनी की जानकारी या अपनी अन्य कोई पर्सनल जानकारी सही है या नहीं. अगर आपसे कोई जानकारी गलत दे दी गई है तो आप इसे कंपनी के कस्टमर पोर्टल पर जाकर सही कर सकते हैं. इसके अलावा आप ईमेल या फोन करके भी अपनी जानकारी सही करने के लिए रिक्वेस्ट कर सकते हैं.

नॉमिनी को इंश्योरेंस के बारे में जरूर बताएं

अपने इंश्योरेंस कवर के नॉमिनी को इस बात की जानकारी जरूर दें कि आपने लाइफ इंश्योरेंस लिया है जिसमें वो नॉमिनी है. उन्हें इंश्योरेंस से संबधित सभी जानकारी को अच्छे से समझाएं. ज्यादातर लाइफ इंश्योरेंस में एक तय रकम दी जाती है. लेकिन अब कुछ इंश्योरेंस पॉलिसी दूसरे बेनिफिट्स भी दे रहे हैं. उदाहरण के तौर पर बीमा राइडर पॉलिसी में तय रकम के साथ-साथ लगातार 10 साल के लिए मासिक रकम भा मुहैया कराई जाती है. ये सभी जानकारी आपके नॉमिनी के पास होनी चाहिए ताकि उन्हें पॉलिसी क्लेम करने में कोई दिक्कत ना हो.

इंश्योरेंस का प्रीमियम समय से भरें

इंश्योरेंस का प्रीमियम समय से ना भरने पर आपकी पॉलिसी को कंपनी द्वारा खारिज भी किया जा सकता है. इसलिए आपको कब और कितनी बार प्रीमियम भरना है ये जरुर चेक करें, और समय पर अपना प्रीमियम भरें. कुछ लोगों को सालाना प्रीमियम भरना पसंद है तो कुछ को हर महीने या हर तिमाही. ये आोप अपनी मर्जी से तय कर सकते हैं. आप प्रीमियम भरने के लिए ECS सुविधा का इस्तेमाल भी कर सकते हैं जहां आपका बैंक प्रीमियम भरने की तय तारीख पर खुद ही आपके खाते में जमा पैसों से प्रीमियम भर देगा.

पॉलिसी नहीं पसंद तो वापस कर दें

अगर आपको आपकी पॉलिसी नहीं पसंद तो आप उसे वापस कर सकते हैं. कोई भी लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी 15 दिन के भीतर वापस की जा सकती है. अगर वो पॉलिसी डिस्टेंस मार्केटिंग चैनल से ली गई है तो, उसे पॉलिसी खरीदने के 30 दिन के भीतर वापस किया जा सकतो है. हां लेकिन आपको पॉलिसी वापस करने का कोई वैध कारण बताना पड़ेगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. इन 5 तरीकों से चुने सही लाइफ कवर, नहीं उठाना पड़ेगा नुकसान

Go to Top