मुख्य समाचार:
  1. SBI ग्राहकों के लिए खुशखबरी, मिनिमम बैलेंस घटाने पर विचार कर रहा है बैंक

SBI ग्राहकों के लिए खुशखबरी, मिनिमम बैलेंस घटाने पर विचार कर रहा है बैंक

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के मिनिमम बैलेंस अभी मेट्रो शहरों में 3000, सेमी-अर्बन में 2000 और ग्रामीण क्षेत्रों में 1000 रुपए हैं.

January 5, 2018 4:23 PM
भारतीय स्टेट बैंक, रुपे, रुपए, मिनिमम बैलेंस, SBI, sbi, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, एसबीआई, sbi minimum balance, buisness news in hindi स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के मिनिमम बैलेंस अभी मेट्रो शहरों में 3000, सेमी-अर्बन में 2000 और ग्रामीण क्षेत्रों में 1000 रुपए हैं. (Reuters)

मिनिमम बैलेंस को लेकर एसबीआई की आलोचना की जा रही है. खासकर जब से रिपोर्ट आई है कि एसबीआई ने अप्रैल और नवंबर के बीच मिनिमम बैलेंस नहीं रखने की वजह से अपने ग्राहकों से करीब 1771 रुपए जुर्माना वसूले. ये चार्जेज बैंक की एक तिमाही के नेट प्रॉफिट से भी ज्यादा थी. लोगों के साथ सरकार की ओर से भी एसबीआई पर मिनिमम बैलेंस को कम करने को लेकर दबाब बढ़ने लगा है.

मेट्रो शहरों में फिलहाल एसबीआई के बचत खाते में कम से कम तीन हजार रुपए रखने जरूरी हैं नहीं तो ग्राहक को जुर्माना के तौर पर कुछ रकम का भुगतान करना होता है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बैंक न्यूनतम जमा राशि की सीमा एक हजार रुपए किया जा सकता है. साथ ही खाते में हर महीने एक निश्चित रकम बनाए रखने की शर्त को भी बदला जा सकता है. एसबीआई मिनिमम बैलेंस की सीमा 3000 से घटाकर 1000 रुपए करने की सोच कर रहा है. इसके साथ ही एसबीआई मिनिमम बैलेंस के महीने के बजाए तीन महीने पर रखने का नियम लागू कर सकता है. इसको लेकर जल्द ही कोई फैसला लिया जा सकता है.

एसबीआई ने जून में मिनिमम बैलेंस को बढ़ाकर 5000 रुपए कर दिया था. फिर विरोध के बाद मिनिमम बैलेंस सीमा को मेट्रो शहरों में घटाकर 3000, सेमी-अर्बन में 2000 और ग्रामीण क्षेत्रों में 1000 रुपए किया गया और पेनल्टी को 25-100 रुपए से घटाकर 20-50 रुपए के रेंज में लाया था. सरकारी बैंकों में एसबीआई का मिनिमम बैलेंस रिक्वायरमेंट सबसे ज्यादा है जबकि प्राइवेट बैंक जैसे आईसीआईसीआई, कोटक और एचडीएफसी जैसे बैंकों की रिक्वॉयरमेंट इससे ज्यादा है.

Go to Top