scorecardresearch

SBI में है बचत खाता है? बदल गए हैं ये 2 नियम, आपकी जेब पर होगा असर

SBI SMS Charges: स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ग्राहकों के लिए अच्छी खबर है.

state bank of india, fundraising, sell shares, shares sales, stake sales, fundraising
With the banking sector having raised a total of $20 billion, Goldman Sachs in its report said, it is an indication of the improving confidence in the financial sector’s stability.

SBI SMS Alert Charges: स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ग्राहकों के लिए अच्छी खबर है. देश के सबसे बड़े बैंक में सेविंग्स अकाउंट रखने वाले ग्राहकों को अब एसएमएस सर्विस और मिनिमम बैलेंस बनाए नहीं रखने पर किसी चार्ज का भुगतान करने की कोई जरूरत नहीं है. SBI के एक ट्वीट से यह जानकारी मिली है. बैंक के मुताबिक उसके सेविंग्स अकाउंट की संख्या 44 करोड़ से ज्यादा है. इन ग्राहकों को इसका फायदा मिलेगा.

SBI में SMS अलर्ट पर चार्ज

बैंक में डेबिट कार्ड धारकों के लिए एसएमएस अलर्ट चार्ज प्रति तिमाही के मुताबिक लिए जाते थे. जो कार्डधारक 25 हजार रुपये या कम के एवरेज मंथली बैलेंस को रखते थे, उनके लिए चार्ज 12 रुपये (जिसमें जीएसटी शामिल है) प्रति तिमाही था. यह चार्ज सभी सैलरी पैकेज अकाउंट, करंट अकाउंट वेरिएंट जैसे रेगुलर, गोल्ड, डायमंड, प्लेटिनम ग्राहकों के लिए पहले ही खत्म कर दिया गया था.

एसबीआई की एसएमएस सर्विस के लिए रजिस्टर करके खाताधारक को बैंक अकाउंट में होने वाले सभी ट्रांजैक्शन की जानकारी मिलती रहती है. एसएमएस के लिए रजिस्टर करना है, तो आप बैंक की ब्रांच पर जाकर कर सकते हैं. इसके अलावा आप इसे ऑनलाइन इंटरनेट बैंकिंग की वेबसाइट के जरिए भी कर सकते हैं. हालांकि, सबसे पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आपका मोबाइल नंबर बैंक के साथ रजिस्टर्ड है.

Sensex Vs Gold Vs Silver Vs PPF Vs FD: 1 साल में कहां हुआ ज्यादा फायदा, निवेश के लिए चुनें बेस्ट विकल्प

एवरेज मंथली बैलेंस बनाए रखने की नहीं जरूरत

बैंक ने मार्च में एवरेज मंथली बैलेंस बनाए रखने को खत्म करने का एलान किया था. इससे पहले ग्राहकों को मेट्रो शहरों में 3000 रुपये, सेमी अर्बन शहरों में 2000 रुपये और ग्रामीण इलाकों में 1000 रुपये एवरेज मंथली बैलेंस बनाए रखना होता है. बैंक मिनिमम बैलेंस न रखने पर 5 से 15 रुपये का जुर्माना और इसके साथ टैक्स लगाता था.

अधिकतर बैंकों में सेविंग्स अकाउंट में मिनिमम बैलेंस बनाए रखने का प्रावधान होता है. इनमें मासिक या तिमाही आधार पर बैलेंस बनाया रखना होता है जिसके नहीं करने पर बैंक जुर्माना लगाता है. बता दें कि वर्तमान में एसबीआई अपने सेविंग्स अकाउंट पर 2.7 फीसदी की दर से ब्याज देता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News