मुख्य समाचार:

बचत में न बने लेटलतीफ, ताउम्र बिगड़ जाएगा पैसों का खेल; जानें हर एक साल की कीमत

फाइनेंशियल एडवाइजर हमेशा सलाह देते हैं कि भविष्य के लिए बचत की प्लानिंग करने में देरी नहीं करनी चाहिए.

October 19, 2019 6:50 AM
benefits of early investment, know calculation of compounding, SIP, भविष्य के लिए बचत, mutual fund, loss of late investmentफाइनेंशियल एडवाइजर हमेशा सलाह देते हैं कि भविष्य के लिए बचत की प्लानिंग करने में देरी नहीं करनी चाहिए.

Financial Planning: फाइनेंशियल एडवाइजर हमेशा सलाह देते हैं कि भविष्य के लिए बचत की प्लानिंग करने में देरी नहीं करनी चाहिए. करियर के शुरूआत में ही अगर भविष्य की योजनाओं के लिए सही तरह से फाइनेंशियल प्लानिंग की जाए तो सभी लक्ष्य पूरे हो सकते हैं. चाहे वह बच्चों की पढ़ाई हो या शादी या रिटायरमेंट के बाद की जरूरतें. लेकिन बहुत से लोग नौकरी या अर्निंग शुरू होने के बाद भी लंबे समय तक ऐसा करने से चूक जाते हैं. फाइनेंशियल एडवाइजर का कहना है कि निवेश की योजना में जितनी देरी होगी, बचत के लक्ष्य पूरा करने में उतनी ही पीछे चले जाएंगे.

असल में निवेशकों पर निर्भर करता है कि उसके बचत के लक्ष्य क्या हैं. वह पूरी तरह से सुरक्षित निवेश चाहता है या थोड़ा बहुत रिस्क लेने की क्षमता है. यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि निवेश करने की शुरूआती उम्र औसतन 25 साल हो सकती है, लेकिन ज्यादातर को 55 की उम्र तक को ध्यान में रखकर ही निवेश करना चाहिए. बाजार में रिस्क लेने की क्षमता के आधार पर निवेश के कई विकल्प हैं. मसलन अगर सुरक्षित रिटर्न चाहते हैं तो पीपीएफ, एफडी जैसे विकल्प हैं. वहीं अगर कुछ रिस्क ले सकते हैं तो म्यूचुअल फंड. म्यूचुअल फंड में भी रिस्क लेने की क्षमता के आधार पर अलग अलग कटेगिरी है.

जानें निवेश में देरी से कितना नुकसान

निवेश में देरी से अगर नुकसान समझना चाहते हैं तो यहां आपको अलग अलग उम्र में निवेश की एक ही तय राशि के आधार पर कंपाउंडिंग रिटर्न का कैलकुलेशन देखना होगा. यहां हम मान लेते है कि निवेश की शुरूआत 25 साल, 26 साल, 27 साल से हो रही है. वहीं, 30 साल और 35 साल की भी कटेगिरी ली है. निवेश का लक्ष्य 55 साल तक माना है. हर महीने 10 हजार रुपये निवेश के आधार पर कैलकुलेशन किया गया है.)

अगर उम्र 25 साल है

हर महीने SIP: 10,000 रुपये
निवेश की अवधि: 30 साल
अनुमानित रिटर्न: 10% सालाना
SIP की वैल्यू: 2.3 करोड़ रुपये
फायदा: 1.9 करोड़ रुपये

अगर उम्र 26 साल है

हर महीने SIP: 10,000 रुपये
निवेश की अवधि: 29 साल
अनुमानित रिटर्न: 10% सालाना
SIP की वैल्यू: 1.8 करोड़ रुपये
फायदा: 1.7 करोड़

अगर उम्र 27 साल है

हर महीने SIP: 10,000 रुपये
निवेश की अवधि: 28 साल
अनुमानित रिटर्न: 10% सालाना
SIP की वैल्यू: 1.8 करोड़
फायदा: 1.5 करोड़

अगर उम्र 30 साल है

हर महीने SIP: 10,000 रुपये
निवेश की अवधि: 25 साल
अनुमानित रिटर्न: 10% सालाना
SIP की वैल्यू: 1.3 करोड़
फायदा: 1.03 करोड़

अगर उम्र 35 साल है

हर महीने SIP: 10,000 रुपये
निवेश की अवधि: 20 साल
अनुमानित रिटर्न: 10% सालाना
SIP की वैल्यू: 76.6 लाख रुपये
फायदा: 52.6 लाख रुपये

(नोट: यहां साफ है कि 25 साल और 35 साल की उम्र में निवेश करने पर लक्ष्य पूरा होते होते बचत देखें तो करीब 1.4 करोड़ रुपये का अंतर आ जाता है. वहीं, हर साल पर करीब 20-20 लाख रुपये बचत में अंतर दिख रहा है. बता दें कि बाजार में अलग अलग सेग्मेंट में ऐसे कई म्यूचुअल फंड हैं, जिन्होंने पिछले 15 साल में 10 से 15 फीसदी सालाना की दर से रिटर्न दिए हैं.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. बचत में न बने लेटलतीफ, ताउम्र बिगड़ जाएगा पैसों का खेल; जानें हर एक साल की कीमत

Go to Top