मुख्य समाचार:
  1. 500 रुपये का मंथली निवेश आपको बना सकता है अमीर, ये हैं 5 बेस्ट आॅप्शन

500 रुपये का मंथली निवेश आपको बना सकता है अमीर, ये हैं 5 बेस्ट आॅप्शन

यदि आप नियमित रूप से छोटी राशि भी निवेश कर सकते हैं, तो आप बेहतर रिटर्न पा सकते हैं.

September 2, 2018 8:45 AM
how to become rich, how to become rich in india in hindi, how to invest, investment avenues, investment products, invest with Rs 500, mutual funds, PPF, FD, investment under 100, Post Office Schemesयदि आप नियमित रूप से छोटी राशि भी निवेश कर सकते हैं, तो आप बेहतर रिटर्न पा सकते हैं.

महीने में एक बार 500 रुपये खर्च करना ज्यादातर लोगों के लिए एक आसान निर्णय है. तो, पैसे बचाने और इसे निवेश करने का निर्णय लीजिए. एक नियमित निवेश की योजना बनाने में कुछ वक्त लगता है, लेकिन जब आप मासिक निवेश करना शुरू करते हैं तो यह आपके लिए फायदे का सौदा होता है.

हालांकि, बहुत से लोग इस बात पर ध्यान नहीं देते हैं कि 500 रुपये प्रति माह, 6000 रुपये सालाना और 20 सालों में 1.2 लाख रुपये हो जाता है. यदि आप नियमित रूप से इतनी छोटी राशि भी निवेश कर सकते हैं, तो आप बेहतर रिटर्न पा सकते हैं. चूंकि निवेशकों के पास अलग-अलग रिस्क प्रोफाइल और निवेश के विकल्प होते हैं. इसलिए हम आपको 5 निवेश के बेहतर आॅप्शन बता रहे हैं, जहां आप केवल 500 रुपये प्रति माह के साथ निवेश करना शुरू कर सकते हैं,

आइये जानते हैं:

Mutual Funds

Mutual Fund (MFs) आपको सिस्टेमेटिक निवेश योजनाएं करने की अनुमति देता है, जिसे SIP के रूप में जाना जाता है. इस इनोवेटिव तरीके से, आप कुछ योजनाओं में 100 रुपये प्रति महीने और अन्य योजनाओं में 500 रुपये प्रति महीने से निवेश कर सकते हैं. आप इक्विटी फंड, डेट फंड, हाइब्रिड फंड और एक गोल्ड स्कीम में निवेश कर सकते हैं. निवेश रिटर्न अंडरलायिंग प्रदर्शन से जुड़ी रहती है. इसमें 20 साल के लिए 500 रुपये प्रति माह निवेश करके (10 फीसदी रिटर्न) आप 3.8 लाख तक प्राप्त कर सकते हैं.

अटल पेंशन योजना

अटल पेंशन योजना (APY) के तहत आपको कम से कम मासिक 1000 रुपये और अधिकतम 5000 रुपये महीने तक का पेंशन मिलता है. पेंशन आपको 60 साल होने पर, आपके द्वारा जमा किए गए रकम के अनुसार मिलता है. यह योजना आपको मासिक कम राशि निवेश करने की इजाजत देती है. उदाहरण के लिए, इस स्कीम में 25-30 वर्ष की उम्र में प्रति माह 300-500 रुपये का निवेश करने पर 60 की उम्र के बाद 5000 रुपये प्रति माह की गारंटीड पेंशन मिलेगी. इस स्कीम में नॉमिनेशन का भी प्रावधान है. इसके तहत यदि खाताधारक की मृत्यु हो जाती है तो पेंशन की राशि पति/पत्नी को दी जाएगी. वहीं, दोनों (ग्राहक और पति/पत्नी) की मौत पर, कुल पेंशन फंड एकमुश्त ग्राहक के द्वारा नामित व्यक्ति को दिया जाएगा.

पब्लिक प्रोविडेंट फंड

सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF) में रिटर्न की गारंटी है, और वे समय-समय पर सरकार द्वारा बदल जाते हैं. यह योजना भारत सरकार द्वारा समर्थित एक लोकप्रिय लॉन्ग-टर्म निवेश विकल्प है, जो आकर्षक ब्याज दर और रिटर्न के साथ सुरक्षा प्रदान करती है. यह पूरी तरह से टैक्स फ्री है. निवेशक एक वित्तीय वर्ष में न्यूनतम 500 रुपये निवेश कर सकते हैं और ऋण, निकासी और खाते के विस्तार जैसी सुविधाएं प्राप्त कर सकते हैं. 15 साल के अंत में 500 रुपये प्रति माह (500×12 = 6000 रुपये सालाना) निवेश करके आप मैच्युरिटी अमाउंट के रूप में 1.7 लाख रुपये प्राप्त कर सकते हैं.

FD, RD

फिक्स्ड डिपॉजिट और रेकरिंग डिपॉजिट पारंपरिक निवेश हैं. कई बैंक 100 रुपये और 500 रुपये के न्यूनतम डिपॉजिट के साथ इन स्कीम में निवेश शुरू कर सकते हैं. अधिकांश पुराने कमर्शियल बैंकों के लिए FD ब्याज दरें 6.5 फीसदी से 7.25 फीसदी के बीच हैं. रेकरिंग डिपॉजिट आपको आपके द्वारा चुने गए कार्यकाल के लिए हर महीने निवेश करने की अनुमति देती है. PSU बैंकों के अलावा, कई निजी क्षेत्र के बैंक आपको न्यूनतम 500 रुपये प्रति महीने जमा करने की अनुमति देते हैं और इसके बाद, 100 रुपये के मल्टीप्ल में जमा करते हैं. डिपॉजिट की एवज में लोन लेने के लिए RD का इस्तेमाल किया जा सकता है. RD पर ब्याज दरें FD दरों के समान ही रहती हैं.

पोस्ट ऑफिस स्कीम

पोस्ट आॅफिस की कई स्कीम हैं जो आपको कम राशि से निवेश का मौका मिलता है. एक डाकघर बचत खाता (सालाना 4.0 फीसदी ब्याज) न्यूनतम 20 रुपये के साथ खोला जा सकता है और गैर-चेक सुविधा खाते में बनाए रखने के लिए न्यूनतम राशि 50 रुपये है. इसके बाद, एक 5 साल की पोस्ट ऑफिस RD खाता (प्रति वर्ष 6.9 फीसदी तिमाही चक्रवृद्धि ब्याज) 10 रुपये प्रति माह के साथ खोला जा सकता है. पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट खाता (TD) न्यूनतम 200 रुपये और इसके मल्टीपल में खोला जा सकता है. नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (NSC) न्यूनतम 100 रुपये और 100 रुपये के मल्टीपल के साथ खोला जा सकता है. NSC के मामले में, 5 सालों में 100 रुपये बढ़कर 144.23 रुपये हो जाते है. ज्यादातर छोटी बचत योजना की रिटर्न दर सरकार द्वारा समय-समय पर तय की जाती है.

कॉन्क्लूजन

जैसा कि आप देख सकते हैं, भारतीय निवेशकों के लिए अलग-अलग निवेश के विकल्प हैं, भले ही 500 रुपये प्रति महीने के रूप में निवेश करना चाहते हों. मेहनत से की गई कमाई को बढ़ाने के लिए न रुकें करें और निवेश करें ताकि आप अपने और परिवार के भविष्य को आगे बढ़ सकें. यदि आप इसे पर्याप्त समय देते हैं तो आज प्रत्येक 500 रुपये का निवेश कल हजारों के बराबर हो सकता है.

(इसके लेखक अनिल रेगो, राइट होरिजोंस के फाउंडर और सीईओ हैं.)

Go to Top