मुख्य समाचार:

Sovereign Gold Bond: कोरोना संकट में सरकार बेचेगी सस्ता सोना, 8 जून से मौका, ऐसे उठाएं फायदा

वित्त वर्ष 2021 के लिए सॉवरेन गोल्ड बांड की तीसरी सीरीज 8 जून से सब्सक्रिप्शन के लिए खुलेगी.

Published: June 6, 2020 5:39 PM
Sovereign Gold Bond government to sell gold with cheaper prices know details dates how to buy वित्त वर्ष 2021 के लिए सॉवरेन गोल्ड बांड की तीसरी सीरीज 8 जून से सब्सक्रिप्शन के लिए खुलेगी.

वित्त वर्ष 2021 के लिए सॉवरेन गोल्ड बांड की तीसरी सीरीज 8 जून से सब्सक्रिप्शन के लिए खुलेगी. यह सब्सक्रिप्शन के लिए 12 जून तक खुली रहेगी. केंद्रीय बैंक ने एलान किया था कि सरकार सॉवरेन गोल्ड बांड को 20 अप्रैल से सितंबर तक छह हिस्सों में जारी करेगी. सॉवरेन गोल्ड बांड को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया भारत सरकार की ओर से जारी करेगा.

तीसरी सीरीज के लिए सोने का भाव

सॉवरेन गोल्ड बांड के लिए 1 ग्राम सोने का भाव 4,677 रुपये तय किया गया है. यानी हर 10 ग्राम का भाव 46770 रुपये होगा. वहीं अगर आनलाइन खरीदते हें तो इस पर 500 रुपये प्रति 10 ग्राम की छूट मिलेगी. इस लिहाज से आपके लिए 10 ग्राम सोने की कीमत 45270 रुपये होगी.

मई सीरीज में रिकॉर्ड बिक्री

कोरोना महामारी की वजह से जहां कैपिटल मार्केट की हालत खराब है, सोने को लेकर लोगों का जबरदस्त आकर्षण बढ़ा है. इस बात का सबूत यह है कि मौजूदा वित्त वर्ष में सॉवरेन गोल्ड बांड की मई सीरीज को लेकर निवेशकों में जबरदस्त क्रेज दिखा था. सरकार ने मई महीने में सॉवरेन गोल्ड बांड के जरिए 25 लाख यूनिट बेचकर 1168 करोड़ रुपये की कमाई की. इससे पहले अक्टूबर 2016 में सबसे ज्यादा 1082 करोड़ का गोल्ड बांड सरकार ने बेचा था.

मई सीरीज में गोल्ड बॉन्ड को 11 से 15 मई के बीच सब्स​क्रिप्शन के ​लिए खोला गया था, जिसमें एक यूनिट का भाव 4590 रुपये था. आनलाइन खरीदने पर 500 रुपये प्रति 10 ग्राम या 50 रुपये प्रति ग्राम की छूट थी. गोल्ड बांड के अप्रैल सीरीज में सरकार को 822 करोड़ रुपये की कमाई हुई थी. अबतक कुल 39 इश्यू जारी हो चुके हैं.

गोल्ड बांड क्यों बेहतर विकल्प

केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया का कहना है कि सोने की चमक अभी बाकी है. कोरोना महामारी ने दुनियाभर की अर्थव्यवस्थाओं को पैरालाइज करने का काम किया है. ग्लोबल एजेंसियां मंदी की बात कह चुकी हैं. यूएस में डाटा खराब आ रहे हैं. यूएस फेडरल भी स्लोडाउन की बात कह चुका है. दुनियाभर के सेंट्रल बैंक ब्याज दरें घटा रहे हैं. ऐसे में आगे भी सोना सेफ हैवन बना रहेगा, जबतक कि अर्थ्व्यवस्थाओं में रिकवरी न शुरू हो जाए. इक्विटी मार्केट अभी वोलेटाइल रहने वाला है. ध्यान रहे कि इक्विटी मार्केट और बुलियन मार्केट का ट्रेंड एक दिशा में नहीं होता है. उम्मीद है कि दिवाली तक सोना 50 हजार का भाव छू लेगा.

अधिकतम कितना खरीद सकते हैं सोना

कोई शख्स एक वित्त वर्ष में मिनिमम 1 ग्राम और मैक्सिमम 4 किलोग्राम तक वैल्यू का बॉन्ड खरीद सकता है. हालांकि किसी ट्र्स्ट के लिए खरीद की अधिकतम सीमा 20 किग्रा है.

इनकम टैक्स: AY 2020-21 के लिए ITR 1, 4 फॉर्म जारी, किसे फाइल करना होगा शेड्यूल DI

2.5 फीसदी रिटर्न की गारंटी

गोल्ड बांड में सोने में आने वाली तेजी का फायदा तो मिलता ही है. इस पर सालाना 2.5 फीसदी ब्याज भी मिलता है. ब्याज निवेशक के बैंक खाते में हर 6 महीने पर जमा किया जाएगा. अंतिम ब्याज मूलधन के साथ मेच्योरिटी पर दिया जाता है. मेच्योरिटी पीरियड 8 साल है, लेकिन 5 साल, 6 साल और 7 साल का भी विकल्प होता है. अगर सोने के बाजार मूल्य में गिरावट आती है तो कैपिटल लॉस का खतरा भी हो सकता है.

कहां से खरीद सकते हैं ?

गोल्ड बॉन्ड को ऑनलाइन खरीद सकते हैं. इसके अलावा इसकी बिक्री बैंकों, स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (एसएचसीआईएल), चुनिंदा डाकघरों और एनएसई व बीएसई जैसे स्टॉक एक्सचेंज के जरिए भी होगी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. Sovereign Gold Bond: कोरोना संकट में सरकार बेचेगी सस्ता सोना, 8 जून से मौका, ऐसे उठाएं फायदा

Go to Top