मुख्य समाचार:

SBI में जल्द बदलने वाले हैं सर्विस चार्ज, अकाउंट में मिनिमम बैलेंस नहीं रखने पर अब देनी पड़ेगी इतनी पेनल्टी

SBI के नए सर्विस चार्ज 1 अक्टूबर 2019 से लागू होंगे.

September 11, 2019 1:09 PM
SBI to revise service charges soonImage: PTI

SBI New Service Charge: स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) अपने कुछ सर्विस चार्जेस में बदलाव करने जा रहा है. इसके तहत बैंक अकाउंट में मंथली एवरेज बैलेंस (MAB) मेंटेन नहीं कर पाने पर चार्ज में लगभग 80 फीसदी तक की कमी आ जाएगी. वहीं NEFT और RTGS जैसे डिजिटल मोड के जरिए ट्रांजेक्शन भी सस्ता हो जाएगा. SBI के नए सर्विस चार्ज 1 अक्टूबर 2019 से लागू होंगे. हालांकि कुछ सर्विस के चार्ज में कोई बदलाव ​नहीं किया जाएगा.

अकाउंट में MAB मेंटेन न कर पाने पर पेनल्टी

अभी मेट्रो शहरों, पूर्ण शहरी इलाकों में मौजूद एसबीआई ब्रांच में बैंक अकाउंट में मिनिमम मंथली एवरेज बैलेंस क्रमश: 5000 रुपये और 3000 रुपये रखना होता है. 1 अक्टूबर से यह बैलेंस घटकर मेट्रो शहरों और पूर्ण शहरी इलाकों दोनों के मामले में 3000 रुपये हो जाएगा. अगर पूर्ण शहरी इलाकों में किसी के अकाउंट का मिनिमम बैलेंस 3000 रुपये से 75 फीसदी से ज्यादा कम हुआ तो पेनल्टी 15 रुपये+ जीएसटी लगेगी, जो कि अभी 80 रुपये+ जीएसटी है. अन्य लोकशंस के मामले में नई पेनल्टी इस तरह है…

अब ये अकाउंट नहीं आएंगे MAB के दायरे में

अभी एसबीआई में MAB मेंटेन न कर पाने पर चार्ज के दायरे में सेविंग्स बैंक अकाउंट आते हैं, जिनमें सुरभि सेविंग्स बैंक अकाउंट भी शामिल है. वहीं सभी सैलरी पैकेज अकाउंट, बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट, स्मॉल एंड प्रधानमंत्री जनधन योजना अकाउंट के मामले में यह चार्ज नहीं लगता है.

1 अक्टूबर से MAB मेंटेन न कर पाने पर चार्ज के दायरे से नो​​ फ्रिल अकाउंट, पहला कदम व पहली उड़ान अकाउंट, 18 साल की उम्र तक के नाबालिग, हर तरह की कैटेगरी वाले पेंशनर, सोशल सिक्योरिटी वेलफेयर बेनिफिट्स (डायरेक्ट बेनिफिट्स) प्राप्तकर्ता के अकाउंट्स और 21 साल की उम्र तक के स्टूडेंट्स के अकाउंट भी बाहर होंगे. यानी इन पर भी तय सीमा से कम बैलेंस रह जाने पर चार्ज नहीं लगेगा.

NEFT/ RTGS चार्जेस

SBI डिजिटल मोड से RTGS और NEFT के जरिए ट्रांजेक्शंस को चार्ज फ्री कर चुका है. जो 1 जुलाई से अमल में आ गया है. वहीं एसबीआई ब्रांच में NEFT/ RTGS के जरिए ट्रांजेक्शन की लागत भी घट गई है. 1 अक्टूबर से बैंक ब्रांच में NEFT/ RTGS से ट्रांजेक्शन पर चार्ज इस तरह होंगे…

नए ATM रूल

SBI के एटीएम चार्ज भी 1 अक्टूबर से बदल जांएगे. कस्टमर मेट्रो शहरों के 6 एसबीआई एटीएम में से मैक्सिमम 10 बार फ्री डेबिट ट्रांजेक्शन कर सकेगा. वहीं अन्य जगहों के एटीएम से मैक्सिसम 12 फ्री ट्रांजेक्शन कर सकेगा. हालांकि इसके लिए शर्त है कि अन्य किसी बैंक के एटीएम से और एसबीआई ब्रांच से कोई ट्रांजेक्शन नहीं होना चाहिए. सभी लोकेशनों पर सभी सैलरी पैकेज अकाउंट्स के मामले में एसबीआई एटीएम और अन्य बैंक एटीएम में फ्री और अनलिमिटेड ट्रांजेक्शन किए जा सकेंगे.

चेकबुक

सेविंग्स बैंक अकाउंट के लिए एक वित्त वर्ष में पहले 10 चेक फ्री होंगे. इसके बाद 10 चेक वाली चेकबुक 40 रुपये+ जीएसटी और 25 चेक वाली चेकबुक के लिए 75 रुपये+ जीएसटी लिया जाएगा. सीनियर सिटीजन और सैलरी पैकेज अकाउंट्स के लिए चेक फ्री होंगे.

यहां देख सकते हैं 1 अक्टूबर 2019 से प्रभावी होने वाले सर्विस चार्जेस की पूरी लिस्ट

https://bank.sbi/webfiles/uploads/index/30082019-UPDATED_LIST_OF_SERVICE_CHARGES.pdf

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. SBI में जल्द बदलने वाले हैं सर्विस चार्ज, अकाउंट में मिनिमम बैलेंस नहीं रखने पर अब देनी पड़ेगी इतनी पेनल्टी

Go to Top