मुख्य समाचार:

SCSS: सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम में ब्याज आय हो पूरी तरह टैक्स फ्री, SBI रिसर्च ने रिपोर्ट में दिया सुझाव

SBI रिसर्च ने सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम (SCSS) पर ब्याज आय को पूरी तरह टैक्स फ्री बनाने का सुझाव दिया है.

April 4, 2020 1:05 PM
SBI research suggests to make interest income on SCSS completely tax freeSBI रिसर्च ने सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम (SCSS) पर ब्याज आय को पूरी तरह टैक्स फ्री बनाने का सुझाव दिया है. (Image: Reuters)

स्मॉल सेविंग्स स्कीम की ब्याज दर में बड़ी कटौती होने के बाद SBI रिसर्च ने सरकार को सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम (SCSS) पर ब्याज आय को पूरी तरह टैक्स फ्री बनाने का सुझाव दिया है. इसकी वजह स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स की दर में कटौती का वृद्ध लोगों पर होने वाला बड़ा असर है. अपनी लेटेस्ट इकोरैप रिपोर्ट में SBI रिसर्च ने कहा कि उनके आकलन के मुताबिक भारत में लगभग 4.1 करोड़ सीनियर सिटीजन टर्म डिपॉजिट अकाउंट हैं जिनमें 14 लाख करोड़ रुपये कुल जमा हैं.

ब्याज 8.6% से घटकर 7.4% हुआ

इसके साथ कहा गया है कि इस वजह से यह जरूरी है कि सरकार विशेषकर सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम (SCSS) के लिए ब्याज आय को टैक्स से छूट दे. इसमें कहा गया है कि सरकार ने स्कीम के ब्याज को 8.6 फीसदी से घटाकर 7.4 फीसदी कर दिया है, जो 120 बेसिस प्वॉइंट्स की बड़ी गिरावट है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि स्मॉल सेविंग स्कीम्स की ब्याज में कटौती अनिवार्य थी. क्योंकि स्मॉल सेविंग स्कीम्स के साथ 10 साल की सरकारी गारंटी मौजूद है, रेट में कटौती से स्मॉल सेविंग और बैंक की दर में अंतर कम होगा. रिपोर्ट में कहा गया कि वर्तमान में भी स्मॉल सेविंग स्कीम्स पर ब्याज दरें बैंक डिपॉजिट के मुकाबले बेहतर हैं. रिसर्च की रिपोर्ट के मुताबिक रेट में कटौती का सीनियर सीटिजन की बचत पर बड़ा असर होगा क्योंकि उनकी रेगुलर इनकम में कमी आएगी.

कोरोना संकट: टाटा AIA लाइफ इंश्योरेंस दे रहा है 5 लाख रु तक का बेनेफिट, एजेंट को भी मिलेगी मदद

सीनियर सिटीजन टर्म डिपॉजिट की संख्या 4.1 करोड़

इसमें यह भी कहा गया है कि उनका मानना है कि देश में सीनियर सिटीजन टर्म डिपॉजिट की संख्या 4.1 करोड़ है जिसके साथ 14 लाख करोड़ रुपये कुल जमा हैं. प्रति अकाउंट पर डिपॉजिट का साइज लगभग 3.3 लाख रुपये है और ऐसे डिपॉजिट से ब्याज आय ने वित्त वर्ष 2019 में अंतिम निजी व्यय का 5.5 फीसदी रही.

रिपोर्ट के मुताबिक वर्तमान परिदृश्य में यह जरूरी है कि सरकार को विशेषकर सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम (SCSS) के लिए ब्याज आय को टैक्स से छूट देनी चाहिए जिसके लिए सरकार ने ब्याज दर को 8.6 फीसदी से घटाकर 7.4 फीसदी कर दिया है जो 120 बेसिस प्वॉइंट्स की बड़ी कमी है. SCSS स्कीम में सीनियर सिटीजन एक अकाउंट में 15 लाख रुपये तक जमा कर सकते हैं.

(स्टोरी: राजीव कुमार)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. SCSS: सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम में ब्याज आय हो पूरी तरह टैक्स फ्री, SBI रिसर्च ने रिपोर्ट में दिया सुझाव

Go to Top