मुख्य समाचार:

अलर्ट! SBI ने रेपो रेट लिंक्ड होम लोन स्कीम ली वापस, अभी केवल MCLR बेस्ड लोन ही ले सकते हैं कस्टमर

SBI ने इस प्रॉडक्ट को 1 जुलाई 2019 को लॉन्च किया था.

September 19, 2019 1:37 PM
SBI repo rate linked home loan scheme stands withdrawnImage: PTI

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने रेपो रेट से लिंक्ड होम लोन प्रॉडक्ट को वापस ले लिया है. बैंक ने इस प्रॉडक्ट को 1 जुलाई 2019 को लॉन्च किया था. ट्विटर पर एक यूजर क्वेरी का जवाब देते हए SBI ने ट्वीट किया है कि बैंक ने RLLR बेस्ड होम लोन स्कीम को वापस ले लिया है. यानी अभी के लिए SBI RLLR होम लोन स्कीम को रोक दिया गया है.

बता दें कि SBI पहला बैंक था, जिसने रेपो रेट से लिंक्ड ब्याज दर वाले होम लोन प्रॉडक्ट की पेशकश की थी. इसके बाद कई अन्य बैंक इस तरह के प्रॉडक्ट लेकर आए थे. रेपो रेट लिंक्ड लेंडिंग रेट पर आधारित होम लोन स्कीम एक नया प्रॉडक्ट है. इसके पीछे मकसद कस्टमर्स तक रेपो रेट में कटौती का फायदा जल्द से जल्द पहुंचाना था. इससे पहले बैंक MCLR बेस्ड होम लोन दे रहे थे, जिनकी शुरुआत 2016 के बाद से हुई. बता दें कि 1 अप्रैल 2016 के बाद से कोई भी बैंक MCLR से कम ब्याज दर पर कर्ज नहीं दे सकता है.

SBI में RLLR 7.65%

SBI में RLLR 7.65 फीसदी है, जो 1 सितंबर 2019 से प्रभाव में आई. हालांकि RLLR लिंक्ड होम लोन, लोन के अमाउंट, लोन टू वैल्यू और कर्ज लेने वाले के रिस्क ग्रुप पर निर्भर ​करता है. SBI में 75 लाख रुपये तक के रेपो रेट से लिंक्ड होम लोन प्रॉडक्ट पर ब्याज दर 8.05 फीसदी से 8.20 फीसदी तक थी.

इलाहाबाद बैंक में 1 अक्टूबर से मिलेंगे रेपो रेट से लिंक्ड रिटेल लोन, स्मॉल बिजनेस लोन भी आएंगे दायरे में

बैंकों को 1 अक्टूबर से फ्लोटिंग रेट लोन को एक्सटर्नल बेंचमार्क से है जोड़ना

इधर 4 सितंबर को RBI ने सभी बैंकों को निर्देश दिया कि वे 1 अक्टूबर से फ्लोटिंग रेट वाले सभी नए पर्सनल या रिटेल लोन (होम लोन, व्हीकल लोन आदि) और फ्लोटिंग रेट वाले MSME लोन को एक्सटर्नल बेंचमार्क्स से जोड़ें. इन बेंचमार्क में RBI की रेपो रेट, भारत सरकार के 3 माह या 6 माह के ट्रेजरी बिल यील्ड और फाइनेंशियल बेंचमार्क्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (FBIL) द्वारा प्रकाशित कोई भी अन्य बेंचमार्क शामिल हैं.

अभी SBI में केवल MCLR बेस्ड लोन प्रॉडक्ट मौजूद

इस नए फैसले के बाद SBI में अभी केवल MCLR बेस्ड लोन प्रॉडक्ट ही मौजूद हैं. बेस रेट पर लेंडिंग की अनुमति नहीं है और बेस रेट पर कर्ज लिए हुए लोग चाहें तो MCLR बेस्ड रेट पर शिफ्ट हो सकते हैं. अब यह देखना होगा कि SBI अपनी RLLR बेस्ड होम लोन स्कीम को वापस रिलॉन्च कब और कैसे करता है. जो कि RBI के निर्देश के मुताबिक 1 अक्टूबर से पहले हो जाना चाहिए.

By: Sunil Dhawan

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. अलर्ट! SBI ने रेपो रेट लिंक्ड होम लोन स्कीम ली वापस, अभी केवल MCLR बेस्ड लोन ही ले सकते हैं कस्टमर

Go to Top