सर्वाधिक पढ़ी गईं

सेविंग अकाउंट में पैसा रखकर क्यों उठा रहे हैं नुकसान, ऐसे पा सकते हैं दोगुना रिटर्न

Saving Account Vs Liquid Fund: सेविंग अकाउंट में क्यों पैसे रखने पर नुकसान

Updated: Apr 10, 2019 1:37 PM
Saving Account Vs Liquid Fund, Saving AC, Liquid Fund, Mutual Fund, लिक्विड फंड, बचत खाता, सेविंग अकाउंट, Return, InflationSaving Account Vs Liquid Fund: सेविंग अकाउंट में क्यों पैसे रखने पर नुकसान

Saving AC Vs Liquid Fund: ज्यादातर लोगों की सैलरी सेविंग अकाउंट यानी बचत खाते में ही आती है. अमूमन होता ये है कि सैलरी में से जितना खर्च करना होता है, खर्च करने के बाद बचा हुआ पैसा उसी खाते में पड़े रहने देते हैं. ऐसे में महीने दर महीने बहुत से लोगों के बचत खाते में बड़ा अमाउंट तैयार हो जाता है. वे ऐसा इसलिए भी करते हैं कि जब चाहें इसमें से पैसे निकाल सकते हैं. लेकिन क्या आपको पता है कि इससें कितना नुकसान हो रहा है. अगर आप सोच समझकर यही पैसे सेविंग अकाउंट जैसी ही दूसरी स्कीम में निवेश करें तो आपका रिटर्न दोगुना हो सकता है. जानें कैसे…..

Saving Account में कैसे नुकसान

ज्यादातर बैंकों के सेविंग्स अकाउंट पर आपको सिर्फ 3.5 से 4 फीसदी सालाना के हिसाब से ही ब्याज मिलता है. इसके मुकाबले महंगाई दर औसतन इससे कहीं ज्यादा है. ऐसे में अगर आप सेविंग्स अकाउंट में पैसे रखते हैं तो आपका रिटर्न नेगेटिव रहता है. इसका मतलब है कि सेविंग अकाउंट से जितना रिटर्न मिल रहा है, उससे ज्यादा खर्च हो रहा है.

क्या कर सकते हैं उपाय

बचते खाते जैसी ही एक स्कीम म्यूचुअल फंड में भी है लिक्विड फंड कटेगिरी कहलाती है. लिक्विड फंड डेट म्यूचुअल फंड हैं, जो गवर्नमेंट सिक्युरिटीज, सर्टिफिकेट ऑफ डिपॉजिट, ट्रेजरी बिल्स, कमर्शियल पेपर्स और दूसरे डेट इंस्टू्मेंट्स में निवेश करते हैं. ये ऐसे फंड होते हैं, जिनमें 91 दिन तक मेच्योरिटी पीरियड यानी छोटी अवधि के लिए भी निवेश किया जा सकता है. इनमें जोखिम भी कम होता है. कई अच्छे फंड हें, जिनमें सालाना रिटर्न 7.6 फीसदी तक यानी सेविंग अकाउंट का डबल मिल रहा है.

लिक्विड फंडों के लाभ

  • सभी डेट फंड में लिक्विड फंड का रिटर्न ज्यादा स्टेबल रहा है.
  • जरूरत पर लिक्विड फंड को एक दिन के अंदर ही कैश कराया जा सकता है.
  • मेच्योरिटी पीरिएड शॉर्ट रहने पर जरूरत पड़ने पर जब चाहें, तब पैसे निकाला जा सकता है.
  • अगर आपके इनकम में कुछ भी इजाफा होता है तो उसे आप बैंक में रखने की बजाए स्कीम में निवेश कर सकते हैं.
  • आप निवेश करने के दूसरे दिन भी पैसे निकाल सकते हैं. पैसे भी आपको उसी दिन मिल जाएंगे. यानी आप एक हफ्ते के लिए भी अपने पैसों का निवेश यहां कर सकते हैं.
  • लिक्विड फंडों पर ब्‍याज दर के उतार-चढ़ाव का जोखिम सबसे कम होता है क्‍योंकि प्राथमिक रूप से ये अल्‍पावधि की मेच्‍योरिटी वाले फिक्‍स्‍ड इनकम सिक्‍युरिटीज में निवेश करते हैं.

1 साल में बेस्ट रिटर्न देने वाले फंड

Fund                                              Return

फ्रैंकलिन इंडिया लिक्विड फंड                7.62%
DHFL प्रैमेरिका इंस्टा कैश फंड            7.57%
IDBI लिक्विड फंड                               7.54%
महिंद्रा लिक्विड फंड                              7.54%
एसेल लिक्विड फंड                               7.54%

*source: www.valueresearchonline.com

ऐसे चुनें अच्छा फंड

फाइनेंशियल एडवाइजर फर्म बीपीएन फिनकैप के डायरेक्‍टर एके निगम के अनुसार लिक्विड फंड के रिटर्न में ज्‍यादा असमानता नहीं होती है क्‍योंकि सभी लिक्विड फंड एक ही तरह की सिक्‍युरिटीज में निवेश करते हैं. हालांकि, जब आप लिक्विड फंड में निवेश का निर्णय कर लेते हैं तो यह जरूर देखिए कि जिस लिक्विड फंड में आप निवेश करने का मन बना चुके हैं उसके फंड की साइज क्‍या है यानि उसका कॉर्पस कितना है और फंड हाउस का इतिहास कैसा रहा है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. सेविंग अकाउंट में पैसा रखकर क्यों उठा रहे हैं नुकसान, ऐसे पा सकते हैं दोगुना रिटर्न

Go to Top