सर्वाधिक पढ़ी गईं

इनकम टैक्स रिटर्न: ITR फॉर्म 3, 5, 6 और 7 कर रहे हैं फाइल, पहले जान लें संशोधित निर्देश

ITR फाइलिंग की प्रक्रिया को परेशानी रहित बनाने के लिए आयकर विभाग ने आकलन वर्ष 2020-21 के लिए ITR फॉर्म्स को लेकर संशोधित निर्देश जारी किए हैं.

Updated: Dec 14, 2020 8:23 PM
Revised instructions for filing ITR Forms 3, 5, 6 and 7, Income Tax Return, I-T return, income tax act

Income Tax Return: पिछले 3-4 माह में सरकार ने टैक्स स्ट्रक्चर के मामले में महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं. कुछ नए नियमों को भी लागू किया गया है. इन बदलावों को देश के टैक्सेशन सिस्टम को ऑटोमेट, स्वतंत्र बनाने और अन्य वित्तीय सिस्टम्स के साथ जोड़ने के लिए लाया गया. करदाताओं की मदद करने और इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फाइलिंग की प्रक्रिया को परेशानी रहित बनाने के लिए आयकर विभाग ने आकलन वर्ष 2020-21 के लिए ITR फॉर्म्स को लेकर संशोधित निर्देश जारी किए हैं. ये संशोधित निर्देश आईटीआर फॉर्म 3, 5, 6 और 7 के लिए हैं. आइए जानते हैं इनमें से कौन सा फॉर्म किस करदाता को भरना होता है और उसके लिए क्या संशोधित निर्देश हैं-

ITR 3

यह उन व्यक्तियों व HUFs के लिए है, जिन्हें बिजनेस या प्रोफेशन से हुए प्रॉफिट से आय होती है लेकिन ITR 1, 2 और 4 भरने के लिए योग्य नहीं हैं.

फाइलिंग का तरीका: ऐसा असेसी, जिसके खाते आयकर कानून के सेक्शन 44AB के तहत ऑडिट होने हैं, उसके लिए डिजिटली साइन किया हुआ रिटर्न फाइल करना अनिवार्य है. ऐसा असेसी जिसे सेक्शन 10AA, 44AB, 44DA, 50B, 80-IA, 80-IB, 80-IC, 80-ID, 80JJA, 80LA, 92E, 115JB या 115JC के तहत ऑडिट रिपोर्ट प्रस्तुत करनी है, उसे ITR फाइलिंग की तारीख को या उससे पहले ऑडिट रिपोर्ट को इलेक्ट्रॉनिकली प्रस्तुत करना होगा.

ITR 5

व्यक्ति और HUF (ITR-1 से लेकर ITR 4 तक भरने वाले), कंपनी (ITR-6 भरने वाली) या चैरिटेबल ट्रस्ट/इंस्टीट्यूशंस (ITR-7 भरने वाले) से अलग टैक्सपेयर्स के लिए है. यानी ITR 5, ITR-4 के लिए योग्य पार्टनरशिप फर्म्स से अलग पार्टनरशिप फर्म्स के लिए, LLPs, एसोसिएशन ऑफ पर्सन्स, बॉडी ऑफ इंडीविजुअल्स, आर्टिफीशियल ज्यूरीडीशियल पर्सन, लोकल अथॉरिटी, कोऑपरेटिव सोसायटी, सोसायटीज रजिस्ट्रेशन एक्ट 1860 के तहत रजिस्टर सोसायटी, मृत व्यक्ति की एस्टेट, दिवालिया व्यक्ति की एस्टेट, बिजनेस ट्रस्ट, इन्वेस्टमेंट फंड आदि ऐसे टैक्सपेयर्स के लिए है, जिनके लिए कोई और फॉर्म लागू नहीं होता है. सेक्शन 139(4A) या 139(4B) या 139(4C) या 139(4D) के तहत ITR फाइल करने वाले व्यक्ति ITR-5 नहीं भर सकते.

फा​इलिंग का तरीका: ऐसा असेसी, जिसके खाते आयकर कानून के सेक्शन 44AB के तहत ऑडिट होने हैं, उसके लिए डिजिटली साइन किया हुआ रिटर्न फाइल करना अनिवार्य है. ऐसा असेसी जिसे सेक्शन 10AA, 44AB, 44DA, 50B, 80-IA, 80-IB, 80-IC, 80-ID, 80JJA, 80LA(1), 80LA(1A), 92E, 115JB या 115JC के तहत ऑडिट रिपोर्ट प्रस्तुत करनी है, उसे आईटीआर फाइलिंग की तारीख को या उससे पहले ऑडिट रिपोर्ट को इलेक्ट्रॉनिकली प्रस्तुत करना होगा.

RTGS से पैसा कर रहे हैं ट्रांसफर, पहले जुटा लें ये सारी डिटेल

ITR 6

आयकर कानूनू के सेक्शन 11 के तहत एग्जेंप्शन क्लेम करने वाली कंपनियों से अलग कंपनियों के लिए यह फॉर्म है. इसे सेक्शन 2(17) के अनुरूप कंपनियां भर सकती हैं. इसे वे कंपनियां भरती हैं, जो ITR 7 फॉर्म भरने वाली कंपनियों से अलग हैं.

फाइलिंग व वेरिफिकेशन का तरीका: रिटर्न को ई-फा​इलिंग पोर्टल www.incometaxindiaefiling.gov.in पर इलेक्ट्रॉनिकली फाइल किया जा सकता है और केवल डिजिटल सिग्नेचर के जरिए वेरिफाई किया जा सकता है.

ITR 7

कंपनियों समेत उन व्यक्तियों के लिए जिन्हें केवल सेक्शन 139(4A) या 139(4B) या 139(4C) या 139(4D) के तहत रिटर्न प्रस्तुत करने की जरूरत है. जिन लोगों की आय आयकर कानून के सेक्शन 10 के तहत छूट प्राप्त है और जिन्हें अनिवार्य रूप से ITR भरने की जरूरत नहीं है, वे इस फॉर्म का इस्तेमाल रिटर्न फाइलिंग के लिए कर सकते हैं. जैसे सेक्शन 10(20) के तहत लोकल अथॉरिटी, सेक्शन 10 (23AA) के तहत केन्द्र की सशस्त्र सेनाओं द्वारा स्थापित रेजिमेंटल फंड या नॉन पब्लिक फंड आदि.

फाइलिंग का तरीका: राजनीतिक दल के लिए डिजिटल सिग्नेचर के इस्तेमाल के जरिए रिटर्न प्रस्तुत करना अनिवार्य है. ऐसा असेसी जिसे सेक्शंस 10(23C)(iv), 10(23C)(v), 10(23C)(vi), 10(23)(via), 12A(1)(b), 92E के तहत ऑडिट रिपोर्ट प्रस्तुत करनी है, उसके लिए ITR फाइलिंग की तारीख को या उससे पहले रिपोर्ट को इलेक्ट्रॉनिकली प्रस्तुत करना अनिवार्य है. फॉर्म 10B/10BB में ऑडिट रिपोर्ट को सेक्शन 139 के तहत ITR फाइलिंग की ड्यू डेट से कम से कम 1 माह पहले ईफाइल करना होगा.

Article By: कपिल राना, फाउंडर व चेयरमैन, HostBooks Ltd

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. इनकम टैक्स रिटर्न: ITR फॉर्म 3, 5, 6 और 7 कर रहे हैं फाइल, पहले जान लें संशोधित निर्देश

Go to Top