scorecardresearch

Retirement planning: रिटायरमेंट के बाद नहीं होगी पैसों की दिक्कत, रेगुलर इनकम के लिए करें इन 5 जगहों में निवेश

रिटायरमेंट की रणनीति ऐसी बनानी चाहिए, जिसे लेकर हम फाइनेंशियली कॉन्फिडेंट हों और रिटायरमेंट गोल्स को हासिल करने के लिए बनाए अपने प्लान पर टिके रह सकें.

Retirement planning
जितनी जल्दी आप अपने रिटायरमेंट की तैयारी करेंगे, यह आपके भविष्य के लिए उतना ही बेहतर होगा.

Retirement Planning: जब भी रिटायरमेंट प्लानिंग की बात आती है, तो कई लोग इसे अहमियत नहीं देते हैं. जितनी जल्दी आप अपने रिटायरमेंट की तैयारी करेंगे, यह आपके भविष्य के लिए उतना ही बेहतर होगा. कई लोग सोचते हैं कि रिटायरमेंट प्लानिंग उन्हें करना चाहिए, जिनका रिटायरमेंट करीब हो या जिनकी उम्र साठ साल के आसपास हो, पर ऐसा सोचना पूरी तरह सही नहीं है. रिटायरमेंट प्लानिंग को लेकर जितनी जल्दी तैयारी शुरू कर दी जाए, उतना ही बेहतर होता है.

रिटायरमेंट की रणनीति ऐसी बनानी चाहिए, जिसे लेकर हम फाइनेंशियली कॉन्फिडेंट हों और रिटायरमेंट गोल्स को हासिल करने के लिए बनाए अपने प्लान पर टिके रह सकें. रिटायरमेंट को ध्यान में रखते हुए ऐसी जगहों में निवेश किया जाना चाहिए, जहां से बाद में नियमित रूप से इनकम मिलती रहे. इसके साथ ही, आपका पैसा सुरक्षित रहे और उसे कभी भी जरूरत पड़ने पर इस्तेमाल किया जा सके. यहां हमने रिटायरमेंट के हिसाब से निवेश के लिए कुछ बेहतर विकल्पों के बारे में बताया है.

Jhunjhunwala Portfolio: झुनझुनवाला की इस कंपनी में हिस्सेदारी रह गई आधी, बिकवाली के बाद से 22% टूटे शेयर

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (PMVVY)

भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) के साथ खास तौर पर उपलब्ध प्रधान मंत्री वय वंदना योजना (PMVVY) 10 वर्षों के लिए एकमुश्त निवेश योजना है. इसमें पेंशन के रूप में मासिक, त्रैमासिक, अर्ध-वार्षिक या वार्षिक रूप से रेगुलर इनकम हासिल करने का विकल्प है. 60 साल से अधिक आयु का कोई भी शख्स PMVVY में अधिकतम 15 लाख रुपये (पति/पत्नी के साथ 30 लाख रुपये) का निवेश कर सकता है. वित्त वर्ष 22-23 में PMVVY के तहत, मासिक देय 7.40% प्रति वर्ष की सुनिश्चित पेंशन मिलेगा. पेंशन की यह दर 31 मार्च, 2023 तक खरीदी गई सभी पॉलिसियों के लिए 10 वर्ष की पूर्ण पॉलिसी अवधि के लिए देय होगी.

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (SCSS)

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (SCSS) का टेन्योर 5 साल का होता है, जिसे स्कीम के मैच्योर होने के बाद तीन साल के लिए और बढ़ाया जा सकता है. निवेशक चाहे तो एक से अधिक SCSS खाते खोल सकता है लेकिन सभी खातों को मिलाकर निवेश की सीमा 15 लाख रुपये है. वर्तमान में, इंटरेस्ट रेट 7.4% प्रति वर्ष है, जो त्रैमासिक देय है और पूरी तरह से टैक्सेबल है. SCSS में निवेश पर धारा 80C के तहत टैक्स बेनिफिट मिलता है. इस स्कीम के तहत समय से पहले निकासी की भी अनुमति है.

फ्लोटिंग रेट सेविंग बॉन्ड

फ्लोटिंग रेट सेविंग बॉन्ड, 2020 (टैक्सेबल) सात साल के टेन्योर के साथ आता है. ब्याज का भुगतान वर्ष में दो बार, प्रत्येक वर्ष 1 जुलाई और 1 जनवरी को किया जाता है. फ्लोटिंग रेट सेविंग बॉन्ड के लिए, ब्याज दर NSC पर ब्याज दर प्लस 0.35% के बराबर है. NSC की ब्याज दर के आधार पर योजना के कार्यकाल के दौरान ब्याज दर बदलती रहेगी. फ्लोटिंग रेट सेविंग बॉन्ड में निवेश की कोई ऊपरी सीमा नहीं है.

Stock Market Investment: बाजार में आ चुकी है बड़ी गिरावट, क्या निवेशकों के लिए ‘लालची’ बन जाने का है मौका

पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम (POMIS) अकाउंट

POMIS 5 साल का निवेश है जिसकी अधिकतम सीमा जॉइंट ओनरशिप के तहत 9 लाख रुपये और सिंगल ओनरशिप के तहत 4.5 लाख रुपये है. ब्याज दर प्रत्येक तिमाही में निर्धारित की जाती है और वर्तमान में 6.6% प्रति वर्ष है, जो मासिक रूप से देय है. ब्याज दर पूरे कार्यकाल के लिए स्थिर रहती है. POMIS में अर्जित ब्याज को पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट में जमा किया जा सकता है और उसी पोस्ट ऑफिस में रिकरिंग डिपॉजिट को फंड ट्रांसफर किया जा सकता है.

बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी)

वर्तमान में, बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) पर ब्याज दरें लगभग 6.5% हैं और इसके बढ़ने की संभावना है. फिक्स्ड डिपॉजिट्स में एफडी लैडरिंग एक बेहतर विकल्प है. इसमें पूरे अमाउंट को एक एक बार में निवेश ना करके उसे अलग-अलग टेन्योर में थोड़ा-थोड़ा निवेश किया जाता है. मान लीजिए कि आपके पास 5 लाख रुपये है. इसे आप एक बार में निवेश करने के बजाय अलग-अलग टेन्योर के लिए 5 FD में निवेश कर सकते हैं. इन पांचों एफडी की मैच्योरिटी अवधि भी अलग-अलग होगी. इस तरीके से निवेश करने पर पर्याप्त लिक्वडिटी होगी. सीनियर सिटीजन्स को उनकी जमा राशि पर प्रति वर्ष 0.5% का अतिरिक्त ब्याज मिलता है. टैक्स बचाने की चाहत रखने वालों के लिए भी, पांच साल के टैक्स सेविंग बैंक FD पर विचार करने का विकल्प हो सकता है.

पेंशन

वित्त वर्ष 22-23 में खरीदी गई प्रधान मंत्री वय वंदना योजना 10 वर्षों की पूर्ण पॉलिसी अवधि के लिए प्रति वर्ष 7.4% की पेंशन प्रदान करती है. फ्लोटिंग रेट सेविंग बॉन्ड के लिए, ब्याज दर NSC की ब्याज दर प्लस 0.35% के बराबर है. सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में निवेश पर धारा 80सी के तहत टैक्स बेनिफिट मिलता है.

(Sunil Dhawan)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Most Read In Investment Saving News

TRENDING NOW

Business News