मुख्य समाचार:

RBI मोरेटोरियम: खत्म हो रही है डेडलाइन; आपको क्या करना चाहिए, क्या नहीं? जानें सब कुछ

अगर आप लोन की EMI को 3 महीने और टालना चाहते हैं, तो जल्दी करें. इसके लिए बैंकों की डेडलाइन पास आ रही है.

Updated: Jun 19, 2020 1:22 PM
RBI Moratorium, banks deadline near, what you should do what not do, know about Moratorium every thing, HDFC, SBI, NBFCs, Lockdown, Income, Loan, bank customer, लोन की EMIअगर आप अलोन की EMI को 3 महीने और टालना चाहते हैं, तो जल्दी करें. इसके लिए बैंकों की डेडलाइन पास आ रही है.

EMI Moratorium: अगर आप अपने होम लोन या आटो लोन की EMI को 3 महीने और टालना चाहते हैं, या नए सिरे से 3 महीने के मोरेटोरियम की सुविधा चाहते हैं, तो जल्दी करें. इसके लिए बैंकों की डेडलाइन पास आ रही है. कुछ बैंकों ने इसके लिए 20 जून डेडलाइन रखी है तो कुछ ने जून के आखिरी हफ्ते तक. यानी इस दिन तक आपने आवेदन नहीं किया तो यह मान लिया जाएगा कि आप मोरेटोरियम को आगे नहीं बढ़ाना चाहते हैं. ऐसे में अगले महीने से सामान्य तरीके से आपकी ईएमआई कटने लगेगी. फिलहाल बहुत से लोगों के मन में यह सवाल है कि अगर उन्होंने एक से ज्यादा या मल्टीपल लोन ले रखा है तो क्या उन्हें यह सुविधा मिलेगी.

मल्टीपवल लोन अकाउंट है तो मिलेगा फायदा

अगर आपके पास एक से ज्यादा लोन अकाउंट ​है तो भी आपको यह फायदा ज्यादातर बैंक दे रहे हैं. बल्कि आप अपने हर लोन अकाउंट पर मोरेटोरिम का फायदा ले सकते हैं. 31 अगस्त के बाद से उन सभी लोन अकाउंट पर आपकी ईएमआई कटने लगेगी.

पहले ली है सुविधा तो क्या होगा

इसके जवाब में SBI ने कहा है कि अगर किसी ग्राहक ने मार्च 2020 से मई 2020 तक के लिए यानी पहले 3 महीने की मोरेटोरिमय सुविधा ली है तो उसे 3 महीने की और सुविधा लेने के लिए हफर से आवेदन करना होगा. बैंक लोन मोरेटोरियम खुद से आगे नहीं बढ़ाएगा. बल्कि, उसके लिए ग्राहकों को अपनी मंजूरी देनी होगी. कहने का मतलब है कि अगर आप अगले 3 महीने का और मोरेटोरियम नहीं चाहते तो आपको कुछ नहीं करना होगा. एसबीआई के मामले में उसने इसकी प्रक्रिया भी स्पष्ट कर दी है. यानी, सिर्फ एक एसएमएस का जवाब देकर ग्राहक अगस्त तक अपनी लोन की ईएमआई को रोक सकते हैं.

नए सिरे से 3 महीने की ले सकते हैं सुविधा

देश की सबसे बड़ी हाउसिंग फाइनेंस कंपनी एचडीएफसी लिमिटेड ने ग्राहकों द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में कहा है कि अगर आपने पहले 3 महीने के मोरेटोरियम का लाभ नहीं लिया है तो नए सिरे से अगले 3 महीने के लिए ईएमआई टालने का विकल्प ले सकते हैं. इस दौरान जो ब्याज बनेगा, वह लोन में जुड़ जाएगा. उस लिहाज से नई किस्त तैयार होगी. अगर ईएमआई पहले की ही तरह रखनी है तो किस्त का टेन्योर बए़ जाएगा.

1 जून से 31 अगस्त तक टाल सकते हैं किस्त

पहली बार बैंकों और एनबीएफसी ने 1 अप्रैल से 31 मई तक मोरेटोरियम का विकल्प दिया था. अब यह 1 जून से 31 अगस्त 2020 तक के लिए होगा. अगर आपको मोरेटोरिम नहीं लेना है या आगे नहीं बढ़ाना है तो इसके लिए कुछ भी करने की जरूरत नहीं है. जून से महीने की किस्त कटनी शुरू हो जाएगी.

अगर नया लोन लिया है

एचडीएफसी ने जानकारी में साफ किया है कि मोरेटोरियम की सुविधा उन्हीं को मिलेगी, जिन्होंने 29 फरवरी से पहले लोन डिस्बर्स कराया है. 1 मार्च से 31 मई तक के बीच में लोन डिस्बर्स कराने वालों को यह फायदा नहीं मिलेगा.

छूट नहीं, सिर्फ EMI टालने का विकल्प

लेकिन यह साफ ​करना भी जरूरी है कि यह सिर्फ ईएमआई को 6 महीने टालने का विकल्प है. ऐसा नहीं है कि बैंक या हाउसिंग फाइनेंस कंपनियां 6 महीने ईएमआई नहीं लेंगी. इन 6 महीनों की किस्त को आगे एडजस्ट किया जाएगा. इसे कैसे एडजस्ट किया जाएगा, इसके लिए बैंक विकल्प भी दे रहे हैं, जिन्हें सावधानी से चुनने की जरूरत है. इसके लिए आपको यह देखना होगा कि बैंक जिस तरह के विकल्प दे रहे हैं, उनमें से आप किसके लिए तैयार हैं. बेहतर तो यह है कि अगर जरूरत न हो तो पहले की तरह ही ईएमआई कटने दें.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. RBI मोरेटोरियम: खत्म हो रही है डेडलाइन; आपको क्या करना चाहिए, क्या नहीं? जानें सब कुछ

Go to Top