मुख्य समाचार:

PPF: सस्ते लोन से लेकर टैक्स बचाने और रिवाइवल तक की पूरी डिटेल

फ्यूचर के लिए इन्वेस्टमेंट की बात हो तो सबसे प्रमुख नाम पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) का आता है.

February 11, 2019 8:36 AM
PPF: public Provident fund know about the rules related to loan facility, premature closure, tax and revival of ppf accountPPF

फ्यूचर के लिए इन्वेस्टमेंट की बात हो तो सबसे प्रमुख नाम पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) का आता है. इसकी वजह है इसमें आसानी से इन्वेस्टमेंट और सालाना मिलने वाला अच्छा रिटर्न. PPF अकाउंट किसी भी बैंक या पोस्ट ऑफिस में केवल 100 रुपये के मिनिमम अमाउंट से खुलवाया जा सकता है. इसमें सालाना 500 रुपये के न्यूनतम निवेश से लेकर 1.5 लाख रुपये तक का अधिकतम निवेश किया जा सकता है. PPF पर इस वक्त ब्याज दर 8 फीसदी है.

PPF अकाउंट जॉइंट में नहीं खुलवाया जा सकता लेकिन इसके लिए नॉमिनी बनाया जा सकता है. साथ ही इसे नाबालिग के नाम पर भी खुलवाया जा सकता है. लेकिन कोई भी व्यक्ति अपने नाम पर एक से ज्यादा PPF अकाउंट नहीं खुलवा सकता, फिर भले ही पोस्ट ऑफिस में खुलवाए या बैंक में. PPF का मैच्योरिटी पीरियड 15 साल है. इसके बाद चाहें तो इसे और 5 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है. ऐसा मैच्योरिटी वाली तारीख से 1 साल के अंदर करना होता है.

1. प्रीमैच्योर क्लोजर

 

वैसे तो PPF अकाउंट को 15 साल का मैच्योरिटी पीरियड खत्म होने से पहले बंद नहीं कराया जा सकता लेकिन कुछ विशेष परिस्थितियों में ऐसा हो सकता है. 2016 में PPF नियमों में हुए संशोधनों के बाद PPF अकाउंट को गंभीर बीमारी का इलाज, बच्‍चों की उच्‍च शिक्षा आदि जैसी जरूरतों पर समय से पहले बंद कराया जा सकता है. चूंकि PPF एक लॉन्ग टर्म सेविंग्स स्कीम है, इसलिए खाताधारक को सुविधा दी गई है कि PPF अकाउंट के 6 वित्त वर्ष पूरे होने पर 7वें वित्त वर्ष से वह इसमें से आंशिक विदड्रॉल कर सकता है.

2. PPF पर लोन

 

अगर आपको लोन की जरूरत है और आपके पास लोन लेने के लिए कोई बेस या गारंटी नहीं है तो आप PPF को जरिया बना सकते हैं. लॉन्ग टर्म सेविंग्स वाला PPF लोगों के काम आ सके, इसके लिए इस पर लोन लेने की सुविधा दी गई है.

3 साल की FD पर मिलेगा 9% तक ब्याज, देखें टॉप 10 बैंकों की लिस्ट

PPF पर लोन के फायदे

– कुछ भी गिरवी रखने की जरूरत नहीं
– लोन चुकाने के लिए 36 माह की मोहलत
– 36 माह की अवधि, जिस महीने में आपका लोन पास हुआ है उसके अगले माह से गिनी जाती है. उदाहरण के तौर पर अगर आपने 25 जनवरी को लोन लिया है तो 36 माह 1 फरवरी से गिने जाएंगे.
– लोन के लिए ब्‍याज दर PPF पर मिल रहे ब्‍याज से केवल 2 फीसदी ज्‍यादा होती है, जो बैंकों की पर्सनल लोन ब्याज दर से कम है. अगर 36 माह में लोन नहीं चुका पाते हैं तो आपको PPF पर मिल रहे ब्‍याज से 6 फीसदी ज्‍यादा ब्‍याज देना होगा.
– इसके अलावा लोन लेते वक्त जो ब्याज दर तय होती है, लोन की अवधि पूरे होने तक वही दर बरकरार रहती है, फिर भले ही ब्याज दर कम या ज्यादा की जाए.

PPF पर लोन की शर्तें

PPF: public Provident fund know about the rules related to loan facility, premature closure, tax and revival of ppf account

– PPF पर लोन अकाउंट खुलने के बाद तीसरे और छठे वित्त वर्ष के बीच में ले सकते हैं. यानी लोन लेने के लिए आपके अकांउट के दो वित्‍त वर्ष पूरे होना जरूरी हे. उदाहरण के लिए अगर आपने 2017-18 में अकाउंट खोला है तो आप 2019-20 में लोन ले सकेंगे.
– लोन की लिमिट दूसरे वित्‍त वर्ष के आखिर में मौजूद PPF बैलेंस के 25 फीसदी से ज्‍यादा नहीं हो सकती.
– अकाउंट से विदड्रॉल शुरू होने के बाद आप PPF पर लोन नहीं ले सकते.
– इसके अलावा पहला लोन चुका देने के बाद ही आप PPF पर दूसरा लोन ले सकते हैं.
– आपको पहले लोन का प्रिन्सिपल अमाउंट यानी मूलधन चुकाना होता है, उसके बाद ब्याज. ब्याज को दो मंथली इंस्टॉलमेंट या उससे कम में भी चुकाया जा सकता है.
– प्रिन्सिपल अमाउंट को दो या उससे ज्यादा इंस्टॉलमेंट या मंथली इंस्टॉलमेंट में चुकाया जा सकता है.
– अगर आपने नियत समय के अंदर लोन का प्रिन्सिपल अमाउंट चुका दिया है लेकिन ब्याज का कुछ हिस्सा बाकी है तो वह आपके PPF अकाउंट से काटा जाता है.

3. इनएक्टिव PPF अकाउंट के नुकसान

 

– अगर किसी का PPF अकाउंट इनएक्टिव है तो वह इसे मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने से पहले बंद नहीं करा सकता है.
– अगर अकाउंट चालू यानी एक्टिव नहीं है तो 7वें वित्त वर्ष से आंशिक विदड्रॉल नहीं कर सकते.
– इनएक्टिव PPF अकाउंट पर आप लोन लेने के भी हकदार नहीं रहते.

बैंक FDs Vs पोस्ट ऑफिस MIS Vs पोस्ट ऑफिस TD: सीनियर सिटीजन के लिए क्या है बेस्ट ऑप्शन

कैसे कर सकते हैं रिवाइव

बंद हो चुके PPF खाते का फिर से एक्टिव मोड में लाने के लिए खाताधारक को संबंधित बैंक या पोस्‍ट ऑफिस में एक एप्‍लीकेशन देनी होती है. इसके अलावा 50 रुपये सालाना का जुर्माना और जिस समय से अकाउंट में डिपॉजिट नहीं किया है, उस अवधि से 500 रुपये सालाना के हिसाब से बकाया डिपॉजिट करना होता है. साथ ही जिस साल में रिवाइव करा रहे हैं, उस साल की न्‍यूनतम 500 रुपये की किश्‍त जमा करनी होती है. इसके बाद ही अकाउंट फिर से एक्टिव होता है.

4. फुल टैक्स बेनिफिट

 

PPF EEE यानी एग्जेंप्ट-एग्जेंप्ट-एग्जेंप्ट कैटेगरी के तहत आता है. किसी सेविंग्स स्कीम को EEE दर्जा मिलने का मतलब है कि उस सेविंग्स में लगाया जाने वाला पैसा, उससे आने वाला ब्याज और मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने पर मिलने वाला अमाउंट तीनों पर टैक्स नहीं लगता है. यानी अगर आप PPF में निवेश करते हैं तो 15 साल का मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने पर हासिल होने वाला अमाउंट पूरी तरह टैक्स फ्री होगा. यह छूट इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80C के तहत मिलती है.

5 लाख से ज्यादा इनकम पर भी टैक्स देनदारी हो जाएगी शून्य, Income Tax के ये नियम आएंगे काम

5. अगर दो हो गए हैं PPF अकाउंट

PPF: public Provident fund know about the rules related to loan facility, premature closure, tax and revival of ppf account

​नियम दो PPF अकाउंट रखने की अनुमति नहीं देते, लेकिन अगर किसी के दो PPF अकाउंट खुल गए हैं तो दूसरे को इरेगुलर अकाउंट माना जाएगा और इस में जमा पर कोई ब्याज नहीं मिलेगा. इसके अलावा दो PPF अकाउंट होने पर पेनल्टी भी लग सकती है. दूसरे PPF अकाउंट को बंद करने का ऑप्शन नहीं है क्योंकि नियमों के मुताबिक PPF अकाउंट 15 साल की मैच्योरिटी पीरियड तक चलता है.

तो फिर क्या है रास्ता?

दोनों PPF अकाउंट को मर्ज कराना होगा. इसके लिए वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामलों के विभाग (DEA) को सूचित करना होगा. इसके लिए अंडर सेक्रेटरी- NS ब्रांच MOF (DEA), नई दिल्ली-1 को लिखित अर्जी देनी होगी. इस एप्लीकेशन में दोनों PPF अकाउंट की सारी डिटेल्स का खुलासा करना होगा. इस एप्लीकेशन को पोस्ट ऑफिस के जरिए पहुंचाना होगा. अगर दोनों अकाउंट मर्ज होने के बाद पूरे साल के दौरान किया गया टोटल कॉन्ट्रीब्यूशन 1.5 लाख रुपये की मैक्सिसम लिमिट को क्रॉस कर जाता है तो अतिरिक्त अमाउंट को बिना ब्याज के साथ अकाउंट होल्डर को रिफंड कर दिया जाएगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. PPF: सस्ते लोन से लेकर टैक्स बचाने और रिवाइवल तक की पूरी डिटेल

Go to Top