मुख्य समाचार:

Monsoon: बारिश से सेहत, मकान और गाड़ी को रखें सेफ, सही बीमा कवर करेगा मदद; ये टिप्स आएंगे काम

स्वास्थ्य, घर और वाहन को लेकर हुआ नुकसान मानसिक तनाव पैदा करता है क्योंकि इलाज और क्षतिपूर्ति में जेब पर बोझ पड़ता है, जिससे बजट बिगड़ता है.

August 20, 2020 5:41 PM
protect your health, vehicle and home during monsoon, choose an health insurance, vehicle insurance and home insurance policy wiselyमानसून हमें गर्मी से राहत प्रदान करता है और हमारे आसपास के परिवेश को हरा-भरा और खुशनुमा बना देता है. Image: Reuters

Monsoon and Insurance Cover: मानसून हमें गर्मी से राहत प्रदान करता है और हमारे आसपास के परिवेश को हरा-भरा और खुशनुमा बना देता है. लेकिन मानसून के सीजन में अपने स्वास्थ्य के साथ-साथ घर और व्हीकल की सुरक्षा को लेकर सजग रहना भी जरूरी है. स्वास्थ्य को खतरा इसलिए क्योंकि बारिश से पैदा हुए बैक्टीरिया आपके स्वास्थ्य को बुरी तरह से प्रभावित कर सकते हैं. मलेरिया, डेंगू, कॉलरा और लेप्टोस्पाइरोसिस जैसी गंभीर बीमारियां इस मौसम में पैदा होने वाली सबसे आम स्वास्थ्य समस्याएं हैं.

वहीं वाहन और घर की बात करें तो मानसूम में हमें अपने वाहनों और घरों के रखरखाव की योजनाओं के साथ तैयार रहने की जरूरत होती है. अत्यधिक बारिश या बाढ़ की स्थिति में इन्हें बड़ा नुकसान होने का खतरा रहता है. एक औसत मध्यमवर्गीय व्यक्ति के लिए अपने घर और वाहन में किया गया निवेश, सोच-विचार और उसके साथ भावनात्मक लगाव सर्वोपरि होता है. इसलिए बारिश के मौसम में उनका रखरखाव करना भी जरूरी है.

स्वास्थ्य, घर और वाहन को लेकर हुआ नुकसान मानसिक तनाव पैदा करता है क्योंकि इलाज और क्षतिपूर्ति में जेब पर बोझ पड़ता है, जिससे बजट बिगड़ता है. इससे बचने का एक विकल्प बीमा हो सकता है. जी हां, सोच समझकर स्वास्थ्य, घर और व्हीकल के लिए एक सही बीमा कवर इन्हें होने वाले नुकसान की भरपाई पर आने वाले खर्च को लेकर आपकी टेंशन काफी हद तक कम कर सकता है.

SBI की खास FD: जरूरत पर निकाल सकेंगे पैसे, पूरी तरह नहीं पड़ेगी तुड़वानी

स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance)

स्वास्थ्य बीमा अनिवार्य है क्योंकि यह कहीं भी और कभी भी घटित होने वाली किसी दुर्भाग्यपूर्ण घटना से निपटने में मदद करता है. चिकित्सकीय आपात स्थितियों के लिए आपको आर्थिक रूप से सुरक्षित रखता है. समझदारी पूर्वक कोई स्वास्थ्य बीमा प्लान चुनने में ये टिप्स काम आ सकते हैं…

  • कोई ऐसा प्लान चुनने में ही समझदारी है, जो आपकी मेडिकल जरूरतों के लिए सर्वथा उपयुक्त हो. सावधानी पूर्वक देखने लायक जो 2 सबसे महत्वपूर्ण चीजें होती हैं, वे हैं- प्लान ऐसा होना चाहिए, जिसकी बीमा राशि (यह आपके रहने वाली जगह पर निर्भर है) पर्याप्त हो और यह पूरे परिवार को कवर देता हो.
  • भले ही आप नौकरी कर रहे हों और नियोक्ता द्वारा दिया गया स्वास्थ्य बीमा कवर आपके पास हो, तब भी आपको सलाह दी जाती है कि आप अलग से कोई स्वास्थ्य बीमा कराएं, क्योंकि किसी भी वजह से जब आप उस संगठन के कर्मचारी नहीं रह जाते, तो कॉर्पोरेट स्वास्थ्य नीतियों के तहत मिला वह कवरेज समाप्त हो जाता है. यह सुनिश्चित करने का खयाल भी रखें कि पॉलिसियां समय पर रिन्यू हों ताकि आपका कवर जारी रहे.
  • वह प्लान चुनें, जो कैशलेस वाले लाभ प्रदान करता हो, अस्पताल में भर्ती होने के पूर्व और छुट्टी होने के बाद वाला कवरेज देता हो. इससे अस्पताल में भर्ती होने के भारी खर्च को वहन करने में मदद मिलेगी. यह सुविधा सारे हेल्थ प्लान उसी स्थिति में देते हैं, जब बीमित व्यक्ति उनके नेटवर्क में शामिल अस्पतालों में अपना इलाज कराए.
  • आपको हमेशा उसी आपूर्तिकर्ता को चुनना चाहिए, जिसका दावा निपटान अनुपात यानी क्लेम सेटलमेंट रेशियो अच्छा हो. तो जितना बड़ा यह अनुपात होगा, सफल दावा निपटान के अवसर उतने ही ज्यादा होंगे.

मानसून के दौरान स्वास्थ्य की देखभाल के लिए कुछ सुझाव:

– मानसून के दौरान अपने खान-पान को लेकर सचेत रहें.
– व्यक्तिगत साफ-सफाई का ध्यान रखें, खुद को, अपने कपड़ों और जूतों को सूखा रखने की कोशिश करें. कामकाज के दौरान पहनने के लिए कपड़ों और जूतों की जोड़ी अलग से रख सकते हैं.
– प्रचुर विटामिन सी से युक्त स्वास्थ्यकर खाद्यान्न का सेवन करके अपनी रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाएं.
– पूरी तरह भीग जाने पर फ्लू पैदा करने वाले वायरसों से बचने के लिए गर्म पानी से स्नान करें.
– मच्छरों की रोकथाम के उपाय करें.

वाहन बीमा (Motor Insurance)

मानसून में वाहन खराब होने की घटनाएं बड़े पैमाने पर होती हैं, जिसके चलते भारी खर्च करना पड़ सकता है और सिरदर्द बढ़ जाता है. हालांकि थर्ड-पार्टी लायबिलिटी मोटर इंश्योरेंस कराना कानूनी तौर पर अनिवार्य है, लेकिन बीमा कंपनियां ऐसी व्यापक पॉलिसी की पेशकश भी करती हैं, जिसमें चोरी और बाढ़ या दुर्घटनाओं के चलते आपके वाहन को होने वाले जोखिम कवर किए जाते हैं. किसी व्यापक बीमा प्लान के दम पर अपने वाहन को सुरक्षित करने के कई तरीके उपलब्ध हैं.

Car Insurance: क्या है नो क्लेम बोनस प्रोटेक्शन एड ऑन? प्रीमियम में कैसे कराता है फायदा

  • अपने कवरेज की जरूरतों को जानें: आप जिन-जिन चीजों को कवर करना चाहते हैं, उनके लिए उपलब्ध एड-ऑन के साथ अपनी पॉलिसी को अनुकूलित करें.
  • इंश्योर्ड डिक्लेयर्ड वैल्यू को समझें: आईडीवी वाहन की वर्तमान मार्केट प्राइस होती है. यह वह बीमा राशि है, जो चोरी अथवा वाहन को क्षति पहुंचने के मामले में पॉलिसी खरीदने के दौरान निर्धारित की जाती है. आईडीवी कोई भी वाहन बीमा खरीदते वक्त ध्यान रखने वाला सर्वाधिक महत्वपूर्ण कारक होता है, क्योंकि जैसे-जैसे वाहन पुराना होता जाएगा, उसके मूल्य में कमी होती जाएगी और आईडीवी घटती जाएगी. परिणामस्वरूप साल-दर-साल आधार पर प्रीमियम भी बढ़ेगा. मार्केट प्राइस के मुताबिक आईडीवी को बराबर करने की कोशिश करें.
  • पूरी तरह से रिसर्च करें: अपने वाहन के लिए कोई भी बीमा पॉलिसी खरीदने के पूर्व उपलब्ध विकल्पों व आपको मिल सकने वाले लाभों के बारे में पूरी तरह से रिसर्च करें.

मानसून के दौरान वाहन की देखभाल के लिए कुछ सुझाव:

– नम जलवायु से निपटने के लिए सुरक्षा का प्रबंध करना चाहिए तथा मेटल के फ्रेम पर एंटी-रस्ट सुरक्षा परत चढ़वानी चाहिए.
– खुले में पार्किंग करने से बचें. ढंके हुए पार्किंग स्थलों की तलाश करें. पेड़ों के नीचे वाहन खड़ा न करें.
– चूंकि वर्षा का पानी आपके वाहन में लगे इलेक्ट्रिकल कल-पुर्जों को क्षतिग्रस्त कर सकता है और दीर्घकालिक समस्याएं उत्पन्न कर सकता है, इसलिए बिजली के तारों और बैटरी की जांच करते रहना हमेशा उचित होता है.
– ढंका हुआ पार्किंग स्थल उपलब्ध न होने की सूरत में कोई वाटरप्रूफ वाहन कवर अपने साथ रखें और इस स्थिति से निपटने के लिए भी तैयार रहें.
– अपने वाहन की हेडलाइट ठीक से चेक करें, क्योंकि बारिश में वाहन चलाते समय खराब विजिबिलिटी बड़ी भारी समस्या बन जाती है.
– वाइपर्स की जांच करें और आवश्यक होने पर उन्हें बदल दें.

घर का बीमा (Home Insurance)

घर हमारे द्वारा किए जाने वाले सबसे महत्वपूर्ण वित्तीय निवेशों में शामिल है. हम इसमें अपने जीवन भर की बचत का निवेश कर देते हैं या फिर बड़ी-बड़ी ईएमआई भरते हैं. लेकिन इतना होने पर भी भारत में गृह बीमा को बहुत कम अपनाया गया है. आपके घर को होने वाली कोई भी क्षति भारी नुकसान पहुंचा सकती है. एक व्यापक गृह बीमा योजना बाढ़ से हुए नुकसान के खिलाफ सुरक्षा की पेशकश करती है; यह न सिर्फ आपके मकान को सुरक्षित करती है बल्कि इसके सामान को भी सुरक्षा देती है. गृह बीमा आग लगने, बाढ़ आने या सेंधमारी होने जैसी दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं के चलते संपत्ति अथवा सामान को हुए नुकसान को कवर करता है. घर के लिए बीमा पॉलिसी लेते वक्त इन बातों का ध्यान रखें.

कवरेज और जोखिम: आपके मकान को जिन जोखिमों से खतरा बना रहता है या जो जोखिम भविष्य में मकान को झेलने पड़ सकते हैं, उन सबका आकलन करें. सभी संभावनाओं पर विचार करें और उसके बाद तमाम कारकों के मद्देनजर मकान के कवरेज का निर्णय करें.

पूर्ण सुरक्षा: वही प्लान लें, जो चोरी, अग्निकांड व इलेक्ट्रिकल और मैकेनिकल उपकरणों में आई खराबी से आपके मकान को पूर्ण सुरक्षा देता हो. किसी ऐसी पैकेज पॉलिसी का चयन करना बेहतर होता है, जो न सिर्फ व्यापक कवरेज की पेशकश करती हो बल्कि व्यक्तिगत पॉलिसियां खरीदने की तुलना में सस्ती भी पड़ती हो. इसके साथ-साथ आप 3 से 5 वर्षों की दीर्घावधि वाले कवर खरीदने के विकल्पों पर भी विचार कर सकते हैं, जहां आपको प्रीमियम में कुछ छूट देने की पेशकश भी की जा सकती है.

मानसून के दौरान घर की देखभाल के लिए कुछ सुझाव:

– आपको अपने छत या छप्पर की बारीकी से जांच करनी चाहिए और मानसून प्रारंभ होने के पहले हर टूट-फूट की मरम्मत करवा लेनी चाहिए. छत और टेरेस बरसात के दौरान सबसे ज्यादा प्रभावित होते हैं, रिसाव को रोकने के लिए उन पर लेप चढ़ाया जाना चाहिए. कमजोर दीवारों की
सभी दरारें और रिसाव बंद करें.
– दरवाजों और खिड़कियों को फंगस और जंग लगने से बचाएं. दरवाजों और खिड़कियों के सभी ढीले-ढाले कब्जों और खाली जगहों की जांच करते रहें.
– अपने मकान के इर्द-गिर्द मौजूद जल और मल निकासी व्यवस्था की निगरानी करें और बहाव की तमाम संभावित रुकावटों और रिसावों को ढूंढ़ निकालने के लिए स्थानीय अधिकारियों से संपर्क करें.
– मानसून के दौरान बिजली का झटका लगने से होने वाली मौतों का खतरा भी बढ़ जाता है, बिजली की पूरी फिटिंग को ठीक ढंग से जांच लें, अगर आपको कोई तार ढीला मिलता है तो सॉकेट्स के अंदर नमी पहुंचने का खतरा कम करने के लिए तार को तुरंत कसवा लें.
– भारी बारिश के चलते आपात स्थिति उत्पन्न होने की सूरत में सभी बुनियादी और जरूरी चीजों को घर में जमा करके रखें.

 

Article By: सुब्रमण्‍यम ब्रह्मजॉयसुला, हेड, अंडरराइटिंग एंड रिइंश्योरेंस, SBI जनरल इंश्योरेंस

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. Monsoon: बारिश से सेहत, मकान और गाड़ी को रखें सेफ, सही बीमा कवर करेगा मदद; ये टिप्स आएंगे काम

Go to Top