मुख्य समाचार:
  1. पहली नौकरी से ही शुरु करें निवेश-बचत, होंगे ये 5 बड़े फायदे

पहली नौकरी से ही शुरु करें निवेश-बचत, होंगे ये 5 बड़े फायदे

आज के समय में 20 साल की उम्र के युवा अच्छी तनख्वा कमा रहे हैं जो उन्हें बेहतर निवेश के कई विकल्फ देती है। जल्दी निवेश आपका भविष्य तबेहतर बनाता है।

March 12, 2018 1:17 PM
निवेश बचत, आर्थिक तंगी, म्यूचुअल फंड, डीमैट अकाउंट, निवेशकजब आप निवेश या बचत शुरु करते हैं तो आपको आपके पैसे में कोई ज्यादा वृद्धि नहीं लगती है, मगर एक लंबे अरसे के बाद आपको एक बड़ी अमाउंट मिलती है।

आज के समय में 20 साल की उम्र के युवा अच्छी तनख्वा कमा रहे हैं जो उन्हें बेहतर निवेश के कई विकल्फ देती है। जल्दी निवेश आपका भविष्य तबेहतर बनाता है। हालाकिं बेहतर स्टेंडर्ड ऑफ लिविंग के चक्कर में युवा अच्छी सैलरी होने के बावजूद निवेश या बचत करना नहीं चाहते। उनकी आर्थिक आजादी, एजुकेशन लोन या अन्य जिम्मेदारियां उनहें बचत या निवेश से दूर करती हैं। कारण चाहे जो भी हो अगर युवा अभी से निवेश करना शुरु करें तो उन्हे कई तरह के फायदे होते हैं। हम आपको ऐसे ही 5 फायदे बताने जा रहे हैं।

सुरक्षित भविष्य
आज युवाओं को निवेश या बचत अपनी रोजमर्रा की जिंदगी से समझौता लगता है। शुरुआत में ये शायद एक समझौते जैसा ही प्रतीत हो मगर भविष्य में इसका ब़ड़ा फायदा है। जब आप निवेश या बचत शुरु करते हैं तो आपको आपके पैसे में कोई ज्यादा वृद्धि नहीं लगती है, मगर एक लंबे अरसे के बाद आपको एक बड़ी अमाउंट मिलती है। जितने ज्यादा समय के लिए आप निवेश या बचत करेंगे आपको आने वाले समय में उतना ही फायदा मिलेगी।

रिस्क लेने में आसानी
20 से 30 साल की उम्र के बीच कोई भी युवा ज्यादा रिस्क लेने में सक्षम होता है, क्योंकि उसपर कोई बहुत बड़ी जिम्मेदारी नहीं होती। इक्विटीज या म्यूचुअल फंड में निवेश में बड़ा रिस्क होता मगर इसमें रिटर्न भी उतना बड़ा होता है। लिहाजा अगर युवा इसमें निवेश करें तो उन्हें कम समय में ज्यादा पैसा मिलने की उम्मीद होती है। इसीलिए सभी युवाओं को हर कोई सलाह देता है कि वो जल्दी अपना डीमैट अकाउंट खोलें और अभी से निवेश करना शुरु कर दें।

बड़ा रिटायरमेंट कोष
ये जरूरी है कि आप रिटायरमेंट के लिए जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी प्लान करें। जल्दी प्लान करने से आपके पास अपना रिटायमेंट कोष बढ़ाने में मदद मिलती है, जिसके चलते रिटायरमेंट के बाद आपको एक-एक कौड़ी का मोहताज नहीं होना पड़ेगा और रिटायरमेंट के बाद आपका जीवन आराम से कटेगा। शुरुआती निवेश बहुत कम होता है, हालांकि उम्र के साथ निवेश बढ़ता ज्यादा और फिर आर्थिक दिक्कतें आने लगती हैं। इसीलिए आपको एसआईपी के जरिए अपने मयूचुअल फंड की शुरुआत करनी चाहिए।

कोई कर्ज नहीं लेनी पड़ेगा
आज के समय में लोन लेने की आसान प्रक्रियाओं ने युवाओं के लिए बड़े खर्च करना आसान बना दिया है। इससे ना सिर्फ उनका खर्च बढ़ता है बल्कि उनको ज्यादा ब्याज देने पर मजबूर भी करता है। इससे उनकी सामने आर्थिक तंगी आने लगती है। हालांकि अगर युवा शुरुआत से ही ध्येय निर्धारित निवेश करें तो वो लोन को इग्नोर मार सकते हैं जिससे वो आर्थिक समस्याओं को दूर कर सकते हैं।

गैरजरूरी खर्चों से दूरी
अगर आप शुरुआत से विवेश करते हैं तो ना सिर्फ इससे आपके पैसे बचते हैं, बल्कि आप गैर जरूरी खर्चों से भी दूर रहते हैं। इससे आपकी मनी मैनेजमेंट स्किल्स बेहतर होती हैं। ना सिर्फ इन सब चीजों के चलते बेहतर निवेशक बनते हैं बल्कि आप आर्थिक तंगियों से भी दूर रहते हैं।

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop